एसडीआरएफ ने 200 फीट गहरी खाई में कैमिकल से भरे टेंकर के गिरने से उसमें फंसे चालक, परिचालक के शवों को बाहर निकालने में सफलता प्राप्त की।

एसडीआरएफ ने 200 फीट गहरी खाई में कैमिकल से भरे टेंकर के गिरने से उसमें फंसे चालक, परिचालक के शवों को बाहर निकालने में सफलता प्राप्त की।

उदयपुर । आज दिनांक13.09.2021 को सांय 05:00 बजे पुलिस कन्ट्रोल रूम एवं कार्यालय पुलिस अधीक्षक उदयपुर से एसडीआरएफ राजस्थान कन्ट्रोल रूम जयपुर को सूचना मिली कि पुलिस थाना गोवर्धन विलास उदयपुर के अन्तर्गत कैमिकल से भरा एक टेंकर हाइवे पुलिया से 200 फीट गहरी खाई में गिर गया है एवं चालक, परिचालक फंसे हुए। उनको बाहर निकालने हेतु आवश्यक रेस्क्यू उपकरणों के साथ एक रेस्क्यू टीम अविलम्ब घटनास्थल पर भिजवाये।
उक्त सूचना एसडीआरएफ कन्ट्रोल रूम जयपुर ने सेनानायक श्री पंकज चौधरी (IPS)को दी तथा अनुमति प्राप्त कर डी कम्पनी एसडीआरएफ उदयपुर प्रभारी कम्पनी कमाण्डर श्री राकेश कुमार को अविलम्ब एक रेस्क्यू टीम घटनास्थल पर भिजवाने हेतु बताया गया। कम्पनी कमाण्डर ने हैड कानि0 श्री रोशन लाल के नेतृत्व 11 जवानों की एक रेस्क्यू टीम को CBRN (कैमिकल बॉयोलॉजिकल रेडियोलॉजिकल न्यूक्लियर) तथा CSSR (कॉलेप्स स्ट्रेक्चर सर्च एण्ड रेस्क्यू) उपकरणों के साथ सांय 05:10 बजे घटनास्थल के लिए रवाना किया। शाम 06 बजे घटनास्थल पर पहुँचकर टीम कमाण्डर ने स्थिति का जायजा लिया तथा एसडीआरएफ कमाण्डेन्ट को बताया कि पुलिस थाना गोवर्धन विलास के अन्तर्गत राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 08/48 पर उदयपुर से अहमदाबाद की तरफ जा रहा कैमिकल से भरा एक टेंकर अनियन्त्रित होकर पुलिया से 200 फीट गहरी खाई में गिर गया है, जिसमें चालक परिचालक फंसे हुए है। टेंकर से कैमिकल का रिसाव हो रहा है जो ज्वनलशील हो सकता है। एसडीआरएफ राजस्थान सेनानायक ने टीम कमाण्डर को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये, साथ टीम की सुरक्षा को ध्यान में रख कर रेस्क्यू ऑपरेशन को अन्जाम देने हेतु बताया एवं श्री गणपति महावरडिप्टी कमाण्डेन्ट, श्री प्रमोद शर्मासहायक कमाण्डेन्टतथा डी कम्पनी एसडीआरएफ उदयपुर प्रभारी कम्पनी कमाण्डर श्री राकेश कुमार को ऑपरेशन के निकटम सुपरवीजन हेतु नियुक्त किया ।
टीम कमाण्डर स्वयं ने रेस्क्यू टीम के हैड कानि0 रमेश तथा जवानों श्री रामकिशोर, श्री भीमसिंह, श्री जितेन्द्र, श्री राकेश, श्री हीरालाल, श्री हरिनारायण, श्री रामजीलाल, श्री गंगाराम तथा श्री कृष्ण कुमार ने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया। रेस्क्यू टीम के सामने सबसे बडी चुनौती यह थी कि कैमिकल ज्वलनशील है तो रेस्क्यू उपकरणों के उपयोग से आग लग सकती थी इसलिए टीम कमाण्डर ने सबसे पहले दमकल गाडियों की मदद से टेंकर की केबिन पर पानी डलवाया, उसके बाद ही टीम को रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू करने के निर्देश दिये। टीम ने सर्वप्रथम PPE किट (पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्यूपमेन्ट) पहन कर आर0आर0सॉ (रॉटरी रेस्क्यू सॉ) की मदद से टेंकर की केबिन को काटना शुरू किया साथ ही उपकरण से उठने वाली चिंगारियों पर साथ-साथ पानी डाला गया। अथक परिश्रम, कडी मेहनत मशक्कत से रेस्क्यू टीम को शाम 07:25 बजे सफलता मिली तथा टेंकर की केबिन में फंसे चालक एवं परिचालक के शव को बाहर निकालकर स्थानीय प्रशासन को सुपुर्द किया। रेस्क्यू टीम के जवानों ने साहसिक कार्य करके एसडीआरएफ के ध्येय ‘‘आपदा सेवार्थ कटिबद्धता’’ को पूर्णरूप से चरितार्थ किया।
मौके पर मौजूद स्थानीय प्रशासन, पुलिस तथा ग्रामीणों ने SDRF धन्यवाद दिया एवं रेस्क्यू टीम के साहसिक कार्य की सराहना की ।
  • Powered by / Sponsored by :