किसानों के लिए सवाई माधोपुर पहुंची खुशियों की सौगात, 2600 मीट्रिक टन डीएपी की रैक सवाईमाधोपुर उतरी

किसानों के लिए सवाई माधोपुर पहुंची खुशियों की सौगात, 2600 मीट्रिक टन डीएपी की रैक सवाईमाधोपुर उतरी

सवाईमाधोपुर, 23 अक्टूबर। किसानों को सोमवार से डीएपी की उपलब्धता ग्राम सेवा सहकारी समितियों के माध्यम से होगी। जिला कलेक्टर राजेन्द्र किशन ने बताया कि शनिवार को मुंद्रा पोर्ट से आईपीएल कंपनी का 2600 मीट्रिक टन डीएपी की रैक शनिवार सुबह 5 बजे सवाईमाधोपुर पहुंचा।
रैक के पहुंचने पर जिला कलेक्टर राजेन्द्र किषन ने मौके पर पहुंचकर डीएपी को आवंटित जीएसएस तक पहुंचाने तथा किसानों को उपलब्ध करवाने के लिए कृषि विभाग के उप निदेशक को निर्देश दिए। उन्होंने आईपीएल कंपनी के प्रतिनिधि, कृषि उप निदेशक एवं सहकारिता विभाग के अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।
कलेक्टर ने बताया कि 2600 मीट्रिक टन में से सवाईमाधोपुर जिले को लगभग 1200 मीट्रिक टन तथा शेष पडौस के जिले के लिये आवंटित हुआ है। उन्होंने यह भी बताया कि शीघ्र ही जिले को डीएपी की नई खेप मिलने की उम्मीद है। किसानों को डीएपी की उपलब्धता सोमवार से ग्राम सेवा सहकारी समितियों के माध्यम से कृषि पर्यवेक्षक एवं ग्राम सेवा सहकारी समिति कार्मिकों की उपस्थिति में होगी। प्रति आधार कार्ड 2 बेग दिये जायेंगे। कलेक्टर ने कृषि उप निदेशक को निर्देश दिए कि किसी भी स्थिति में गडबडी एवं अव्यवस्था नहीं होनी चाहिए। कोई डीलर गडबडी करता पाया जाए तो उसके खिलाफ कडी कार्रवाई की जाए।
इसके बाद कलेक्टर ने राजस्व अधिकारियों की बैठक लेकर निर्देश दिये कि सभी एसडीएम प्रशासन गांवों के संग अभियान के साथ ही डीएपी वितरण कार्य की भी निगरानी करे। वितरण में पूर्ण पारदर्शिता सुनिश्चित करने के साथ ही कोविड-19 गाइडलाइन की पूर्ण पालना सुनिश्चित करवायें। डीएपी की कोई कमी नहीं आने दी जायेगी लेकिन सभी अधिकारी पंचायती राज जनप्रतिनिधियों के सहयोग से किसानो को जागरूक करें कि डीएपी के बजाय एसएसपी और एनपीके का उपयोग भी विकल्प के रूप में कर सकते है। इससे किसान का फर्टिलाइजर खर्चा 25 प्रतिशत कम तो आयेगा ही, दलहन और तिलहन फसलों के लिये यह अधिक उपयोगी है।
  • Powered by / Sponsored by :