प्रधानमंत्री मोदी ने किसान सम्मान निधि योजना के तहत 17वीं किस्त जारी की, 20,000 करोड़ रुपये सीधे किसानों के खातों में ट्रांसफर . . .

प्रधानमंत्री मोदी ने किसान सम्मान निधि योजना के तहत 17वीं किस्त जारी की, 20,000 करोड़ रुपये सीधे किसानों के खातों में ट्रांसफर . . .

मैंने किसान, नौजवान, नारीशक्ति और गरीब को विकसित भारत का मजबूत स्तंभ माना है - पीएम मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज वाराणसी के दौरे पर हैं। इस दौरान उन्होंने वाराणसी में आयोजित एक किसान सम्मेलन में में पीएम किसान सम्मान निधि योजना की 17वीं किस्त जारी की, जिसके तहत पीएम ने 9 करोड़ से अधिक किसानों के खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) के माध्यम से किस्त के 2-2 हजार रुपए डिजिटल ट्रांसफर किए। पीएम मोदी ने किसान सम्मान निधि योजना के तहत 20,000 करोड़ रुपये किसानों के खाते में ट्रांसफर किए हैं। बतादें कि तीसरी बार देश की सत्ता संभालने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पीएम किसान सम्मान निधि योजना वाली फाइल पर पहले हस्ताक्षर किए थे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वाराणसी में कृषि सखियों के रूप में 30,000 से अधिक स्वयं सहायता समूहों को प्रमाण पत्र प्रदान किया।
वाराणसी में पीएम किसान सम्मान सम्मेलन को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि भारत में 18वीं लोकसभा के लिए हुआ ये चुनाव भारत के लोकतंत्र की विशालता को, भारत के लोकतंत्र के सामर्थ्य को, भारत के लोकतंत्र की व्यापकता को, भारत के लोकतंत्र के जड़ों की गहराई को दुनिया के सामने पूरे सामर्थ्य के साथ प्रस्तुत करता है। बाबा विश्वनाथ और मां गंगा के आशीर्वाद से, काशीवासियों के असीम स्नेह से मुझे तीसरी बार देश का प्रधान सेवक बनने का सौभाग्य मिला है। काशी के लोगों ने मुझे लगातार तीसरी बार अपना प्रतिनिधि चुनकर धन्य कर दिया है। अब तो मां गंगा ने भी जैसे मुझे गोद ले लिया है, मैं यहीं का हो गया हूं। उन्होंने कहा कि विकास भी और विरासत भी... का मंत्र भी काशी में हर जगह दिखाई दे रहा है।
पीएम मोदी ने कहा कि इस चुनाव में देश के लोगों ने जो जनादेश दिया है, वो वाकई अभूतपूर्व है। इस जनादेश ने एक नया इतिहास रचा है। दुनिया के लोकतांत्रिक देशों में ऐसा बहुत कम ही देखा गया है कि कोई चुनी हुई सरकार लगातार तीसरी बार वापसी करे, लेकिन इस बार भारत की जनता ने ये भी करके दिखाया है। ऐसा भारत में 60 साल पहले हुआ था। ये बहुत बड़ी Victory है, ये बहुत बड़ी विजय है और बहुत बड़ा विश्वास है। आपका ये विश्वास मेरी बहुत बड़ी पूंजी है। आपका ये विश्वास मुझे लगातार आपकी सेवा के लिए, देश को नई ऊंचाई पर पहुंचाने के लिए कड़ी मेहनत करने की प्रेरणा देता है। मैं दिन-रात ऐसे ही मेहनत करूंगा, आपके सपनों और संकल्पों को पूरा करने के लिए हर प्रयास करूंगा।
पीएम मोदी ने कहा कि मैंने किसान, नौजवान, नारीशक्ति और गरीब को विकसित भारत का मजबूत स्तंभ माना है। अपने तीसरे कार्यकाल की शुरुआत मैंने इन्हीं के सशक्तिकरण से की है। सरकार बनते ही सबसे बड़ा किसान और गरीब परिवारों से जुड़ा फैसला लिया गया है। देश में गरीब परिवारों के लिए 3 करोड़ नए घर बनाने हों या फिर पीएम किसान सम्मान निधि को आगे बढ़ाना हो। ये फैसले करोड़ों-करोड़ों लोगों की मदद करेंगे।
पीएम मोदी ने कहा कि थोड़ी देर पहले ही देशभर के करोड़ों किसानों के खाते में पीएम किसान सम्मान निधि के 20 हजार करोड़ रुपए पहुंचे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि यहां इतनी बड़ी संख्या में हमारी माताएं-बहनें उपस्थित हैं। माताओं-बहनों के बिना खेती की कल्पना भी असंभव है। इसलिए अब खेती को नई दिशा देने में भी माताओं-बहनों की भूमिका का विस्तार किया जा रहा है। नमो ड्रोन दीदी की तरह ही कृषि सखी कार्यक्रम ऐसा ही एक प्रयास है। आज 3 करोड़ बहनों को लखपति बनाने के तरफ भी बहुत बड़ा कदम उठाया गया है। कृषि सखी के रूप में बहनों की नई भूमिका उन्हें सम्मान और आय के नए साधन दोनों सुनिश्चित करेगी। हमने आशा कार्यकर्ताओं के रूप में बहनों का काम देखा है। हमने बैंक सखियों के रूप में डिजिटल इंडिया बनाने में बहनों की भूमिका देखी है। अब हम कृषि सखी के रूप में खेती को नई ताकत मिलती देखेंगे। आज 30 हजार से अधिक सहायता समूहों को कृषि सखी के रूप में प्रमाणपत्र दिए गए हैं। अभी 12 राज्यों में ये योजना शुरू हुई है। आने वाले समय में पूरे देश में हजारों समूहों को इससे जोड़ा जाएगा।
  • Powered by / Sponsored by :