नीट पेपर लीक पर तेजस्वी यादव बोले, मेरे PS को बुला लें और पूछताछ कर लें, मेरा नाम घसीटने से कोई फायदा होने वाला नहीं है

नीट पेपर लीक पर तेजस्वी यादव बोले, मेरे PS को बुला लें और पूछताछ कर लें, मेरा नाम घसीटने से कोई फायदा होने वाला नहीं है

नीट पेपर लीक और यूजीसी नेट रद्द होने से देशभर में बवाल मचा हुआ हैं। देशभर में बच्चों और अभिभावकों में आक्रोश है। कांग्रेस पार्टी आज इस मामले को लेकर सभी राज्यों में विरोध प्रदर्शन कर रही हैं। इसके अलावा कई शहरों में छात्र-छात्राएं भी इसका विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इस बीच बिहार के डिप्टी सीएम विजय सिन्हा ने पेपर लीक के तार तेजस्वी यादव से जोड़ दिए हैं। उन्होंने तेजस्वी यादव के निजी सचिव प्रीतम कुमार ने गेस्टहाउस कर्मी प्रदीप कुमार को फोन कर सिकंदर कुमार यादवेंदु के लिए कमरा बुक करने को कहा। 4 मई को प्रीतम कुमार ने प्रदीप कुमार को कमरा बुक करने के लिए फिर से फोन किया। तेजस्वी यादव के लिए 'मंत्री' शब्द का इस्तेमाल किया गया।
जिसे लेकर RJD नेता तेजस्वी यादव ने कहा, "जहां भी भाजपा शासित राज्य है चाहे बिहार हो, गुजरात हो या हरियाणा हो इन तीनों जगह पेपर लीक हुआ है। मैं मुख्यमंत्री से कहता हूं कि मेरे PS को बुला लें और पूछताछ कर लें। लेकिन उपमुख्यमंत्री जो सवाल उठा रहे हैं, EOU ने तो इस बात को लेकर आज तक नहीं कहा है। इन लोगों को ज्ञान नहीं है। हम मई से आवाज़ उठा रहे हैं कि कार्रवाई करनी चाहिए। ये लोग किंग-पिंग से मुद्दे को हटाना चाहते हैं। अमित आनंद और नीतीश कुमार कौन लोग हैं? इनको क्यों बचाना चाहते हैं? क्यों मुद्दे को भटकाया जा रहा है। कल मनोज झा ने तस्वीर साझा कर दी है। कोई दोषी है तो उसे बुलाकर पूछताछ करें। जो लोग मेरा नाम घसीटना चाहते हैं उससे कोई फायदा होने वाला नहीं है।
तेजस्वी यादव ने ये भी कहा है कि अमित आनंद और नीतिश कुमार पर कार्रवाई करनी चाहिए। देश की जनता जानती है जब जब बीजेपी की सरकार आती है पेपर लीक होता है। उनकी सरकार है राज्य और केंद्र में जांच करा लें। उन्होंने पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कहा है कि पीएम जबसे आए है बिहार में पुल गिर गया, रेल हादसा हो गया, पेपर लीक हो गया।
इससे पहले नीट पेपर लीक और यूजीसी नेट रद्द होने के कुछ सबूत मिलने के बाद केंद्र सरकार ने एक्शन लेते हुए नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) की कार्यप्रणाली की समीक्षा करने के लिए एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया गया है। केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि हम Zero Error एग्जाम्स कराने के लिए प्रतिबद्ध हैं।
  • Powered by / Sponsored by :