नीट परीक्षा 2021 का पेपर लीक, प्रकरण का खुलासा

नीट परीक्षा 2021 का पेपर लीक, प्रकरण का खुलासा

दिनांक 12.09.2021 को देशभर में नीट (NEET) की परीक्षा का आयोजन किया गया था । राजस्थान के प्रमुख शहरों के साथ साथ जयपुर में भी इस परीक्षा का आयोजन किया गया था। जिला जयपुर (पश्चिम) के भांकरोटा स्थित राजस्थान इंस्टीट्यूट ऑफ इंजिनियरिंग एवं टेक्नोलॉजी भी कल आयोजित नीट परीक्षा का परीक्षा केन्द्र था । उक्त परीक्षा का आयोजन समय 2.00 पी.एम. से 5.00 पी.एम. के बीच किया गया था। परीक्षा प्रारम्भ होने से कुछ समय पूर्व जिला जयपुर पश्चिम की डी.एस.टी शाखा के हैडकानिस्टेबल श्री नरेन्द्र सिंह ने अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त (पश्चिम) श्री रामसिंह व सहायक पुलिस आयुक्त वैशालीनगर श्री रायसिंह को यह सूचना दी कि राजस्थान इंस्टीट्यूट ऑफ इंजिनियरिंग एवं टेक्नोलॉजी में आयोजित नीट परीक्षा केन्द्र पर परीक्षार्थियों को परीक्षा केन्द्र के वीक्षक व वहां के अधिकारी संबंधित प्रश्नपत्र को परीक्षा केन्द्र के परिसर के बाहर भेजकर प्रश्नपत्र को हल करवाकर परीक्षार्थियों को नकल करवायी जावेगी, इसकी एवज में परीक्षार्थियों से भारी राशि 35-35 लाख रूपये ली जायेगी।
श्रीमती ऋचा तोमर पुलिस उपायुक्त जयपुर (पश्चिम) ने बताया कि परीक्षा शुरू होने में समय बहुत कम था परन्तु इस सूचना को गम्भीरता से लेते हुए आनन-फानन में श्री रामसिंह व श्री रायसिंह ने इस संबंध में कार्यवाही हेतु एक ऑपरेशन प्लान किया गया तथा उक्त प्लान को मेरे द्वारा अप्रूव किया गया। मुताबिक सूचना निम्नानुसार ऑपरेशन प्लान किया गया-
1. श्री रायसिंह एसीपी वैशालीनगर- श्री रायसिंह को परीक्षा केन्द्र के अन्दर कार्य करने वाले वीक्षकगणों तथा परीक्षा आयोजित करने से संबंधित अधिकारियों की गतिविधियों पर निगरानी रखने एवं कार्यवाही करने का दायित्व सौंपा गया।
2. श्री मुकेश चौधरी थानाधिकारी भांकरोटा- श्री मुकेश चौधरी को परीक्षा केन्द्र के अन्दर व बाहर की गतिविधियों पर श्री रायसिंह के निर्देशन में निगरानी रखने एवं कार्यवाही करने का दायित्व सौंपा गया।
3. श्री पन्नालाल जांगिड़ थानाधिकारी चित्रकूट- श्री पन्नालाल जांगिड को चित्रकूट स्थित स्वास्तिक अपार्टमेंट में प्रश्नपत्र हल करने वाली टीम पर निगरानी एवं कार्यवाही करने का दायित्व सौंपा गया।
4. श्री नरेन्द्र कुमार खीचड़ प्रभारी डी.एस.टी. पश्चिम- श्री नरेन्द्र कुमार खीचड़ को कावेरी पथ मानसरोवर में बीच के दलालों की गतिविधियों पर निगरानी रखने एवं कार्यवाही करने का दायित्व सौंपा गया।
5. श्री रामसिंह अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त पश्चिम- श्री रामसिंह को उपरोक्त सभी टीमों के बीच तालमेल व समन्वय स्थापित कर ऑपरेशन को सफल बनाने का दायित्व सौंपा गया था।
वीक्षक श्री रामिंसंह से पूछताछ- श्री रायसिंह व श्री मुकेश चौधरी को परीक्षा केन्द्र के कमरा नं0 35 में संदिग्ध गतिविधियां नजर आने पर वीक्षक श्री रामसिंह से पूछताछ की गई तो बताया कि नवरतन स्वामी निवासी- गांव लसाड़िया, श्रीमाधोपुर जिला सीकर मेरा परिचित हैं तथा बानसूर में राईफल डिफेंस एकेडमी के नाम से कोचिंग इन्स्टीट्यूट चलाता हैं। श्री नवरतन स्वामी किसी अनिल यादव निवासी- निवारू रोड़ का दोस्त है। श्री अनिल यादव की निवारू रोड पर ई-मित्र की दूकान हैं। श्री नवरत्न स्वामी ने मुझे बताया था कि मेरे मित्र अनिल यादव की ईमित्र की दुकान के पास उसके परिचित श्री सुनील कुमार यादव का मकान हैं, जिसकी भतीजी सुश्री धनेष्वरी यादव का नीट परीक्षा केन्द्र राजस्थान इंस्टीट्यूट ऑफ इंजिनियरिंग एवं टेक्नोलॉजी भांकरोटा में आया है, जिसे 35 लाख रूपये लेकर इस परीक्षा में सफल करवाने का सौदा मेरे व श्री नवरत्न स्वामी के बीच हुआ था। मैंने मेरे मोबाइल से सुश्री धनेष्वरी यादव के प्रश्नपत्र का मोबाइल से फोटो खींचकर मेरे मित्र श्री पंकज यादव जो चित्रकूट में स्वास्तिक अपार्टमेंट में मेरे साथ रह रहे है को हल करने के लिए भेजा था परन्तु वह साफ नहीं था। इस पर मैनें इस कॉलेज के प्रशासक श्री मुकेश सामोता के मोबाइल से पुनः प्रश्नपत्र का फोटो लेकर पंकज यादव को भिजवाया गया।
मेरे रूम पार्टनर श्री पंकज यादव व श्री संदीप कुमार ने इस प्रश्नपत्र को हल कर मेरे व श्री मुकेश सामोता के मोबाइल पर आंसरकी भेज दी जिसका प्रिन्ट श्री मुकेश सामोता ने निकलवाया व मुझे दिया। इस प्रिन्ट को मैनें सुश्री धनेश्वरी यादव को उपलब्ध करवाया
जिसने नकल कर प्रश्नपत्र हल किया। श्री रामसिंह ने यह भी जानकारी दी कि मेरे परिचित श्री नवरत्न स्वामी व लडकी के चाचा श्री सुनील कुमार बाहर गाड़ी में 10 लाख रूपये लेकर बैठे हैं।
परीक्षार्थी सुश्री धनेष्वरी यादव से पूछताछ- श्री रायसिंह व मुकेश चौधरी ने सुश्री धनेष्वरी यादव से पूछताछ की तो उसने बताया कि उसके चाचा श्री सुनील कुमार यादव ने बताया था कि उसके रूम के वीक्षक आंसरकी देगें उसी के अनुसार प्रश्नपत्र हल करना हैं, मुझे वीक्षक श्री रामसिंह ने आंसरकी लाकर दी थी उसके आधार पर मैनें प्रश्नपत्र हल कर लिया। सुश्री धनेष्वरी यादव ने यह भी बताया कि मेरा चाचा सुनील व नवरत्न कॉलेज के बाहर अपनी गाड़ी नं0 एचआर 35 एफ 1601 वेगनआर में रूपये लेकर बैठे है।
श्री नरेन्द्र खीचड द्वारा की गई कार्यवाही-इसी दौरान श्री नरेन्द्र खीचड व उसकी टीम ने मानसरोवर से श्री नवरत्न स्वामी व अनिल यादव(ईमित्र) की गाडी का पीछा करने हुए परीक्षा केन्द्र के बाहर पहुंचकर इसकी व श्री सुनील कुमार यादव जो परीक्षा केन्द्र के बाहर गाडी में बैठे थे, की निगरानी शुरू कर दी।
श्री पन्नालाल जांगिड द्वारा की गई कार्यवाही- इसी दौरान श्री पन्नालाल जांगिड द्वारा आंसरकी भेजने वाले श्री पंकज यादव व श्री संदीप कुमार को चित्रकूट स्थित स्वास्तिक अपार्टमेंट से पकड़ा।
श्री पंकज यादव व श्री संदीप कुमार से पूछताछ- श्री पंकज यादव व श्री संदीप कुमार से पूछताछ की गई तो बताया कि हमारे रूम पार्टनर श्री रामसिंह व श्री मुकेश सामोता ने परीक्षा केन्द्र से अपने अपने मोबाइल से फोटो खींचकर एम-2 सीरीज का प्रश्नपत्र हमारे मोबाइल पर भेजा था। उक्त प्रश्न पत्र को हमारे मोबाइल से हमने हमारे मित्र सीकर निवासी श्री सुनील कुमार रणवा व श्री दिनेष बेनीवाल के मोबाइल पर भेजा था जिस पर उन्हौने इस प्रश्नपत्र की आंसरकी हमारे मोबाइल पर भेजी थी उस आंसरकी को हमने हमारे मोबाइल से श्री रामसिंह व श्री मुकेश सामोता के मोबाइल पर भेजी थी। 35 लाख रूपये में हमारा भी हिस्सा था।
श्री मुकेश चौधरी द्वारा की गई कार्यवाही- श्री मुकेश चौधरी द्वारा सुश्री धनेश्वरी यादव के प्रश्नपत्र व ओ.एम.आर. सीट जब्त की गई तथा श्री रामिंसह के कब्जे से आंसरकी की हार्डकॉपी जब्त की। श्री मुकेश चौधरी ने बाहर इन्तजार कर रहे सुश्री धनेश्वरी के चाचा श्री सुनील कुमार तथा ईमित्र संचालक श्री अनिल यादव व श्री नवरत्न स्वामी को पकड़ा गया। श्री सुनील यादव की गाड़ी से श्री रामसिंह वीक्षक को दिये जाने वाले 35 लाख रूपये में से 10 लाख रूपये बरामद किये गये।
प्रश्न पत्र लीक-श्री रामसिंह वीक्षक व मुकेश सामोता प्रशासक ने अपने अपने मोबाइल से श्री पंकज यादव के मोबाइल पर जो प्रश्नपत्र भेजे गये थे वो प्रश्नपत्र श्री पंकज यादव द्वारा हल करवाने के लिए सीकर निवासी अपने मित्र श्री सुनील रणवा व दिनेष बेनीवाल को मोबाइल फोन के जरिये उनके मोबाइल पर भेजे गये थे। उनके द्वारा दक्ष अध्यापकों की सहायता से आंसरकी तैयार की गई। इस प्रकार यह प्रश्न पत्र न केवल परीक्षा केन्द्र से जयपुर में आया बल्कि जयपुर से सीकर भी भेजा गया है। प्रश्न पत्र लीक होने की पुष्टी अभियुक्तों से बरामद मोबाइल से होती है। श्री सुनील कुमार रणवा व दिनेष बेनीवाल को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस टीम जयपुर से सीकर रवाना की गई हैं।
गिरफ्तार किये गये अभियुक्तों का विवरणः-
1. मुकेश कुमार पुत्र हरिसिंह जाति- जाट, उम्र-30, निवासी- जयरामपुरा, थाना श्रीमाधोपुर सीकर हाल- बी-60 जमनापुरी मुरलीपुरा हाल-कर्मचारी प्रशासक आरआईईटी भांकरोटा जयपुर, शिक्षा- बी.ए.।
2. रामसिंह कड़ी पुत्र श्री बनवारी लाल उम्र- 30 साल, जाति- जाट, निवासी- कुडियों की ढाणी, कैरपुरा थाना खण्डेला सीकर हाल- किरायेदार स्वास्तिक अपार्टमेंट चित्रकूट जयपुर शिक्षा- बीएससी मैथ्स्।
3. सुश्री धनेश्वरी यादव पुत्री अनिल कुमार यादव उम्र- 18 साल, निवासी- म0न0 28ए, विष्वनाथ धाम कॉलोनी निवारू रोड़ थाना करधनी, शिक्षा- 10वीं सेंट टेरेसा स्कूल झोटवाडा व 12वीं स्प्रंगडेज निवारू रोड झोटवाडा।
4. श्री सुनील कुमार यादव पुत्र श्री रामकुमार उम्र- 35 साल, निवासी- म0न0 28ए, विष्वनाथ धाम कॉलोनी निवारू रोड़ थाना करधनी, शिक्षा- 12वीं।
5. नवरतन स्वामी पुत्र श्री रामलखन स्वामी उम्र- 31 साल निवासी- लसाडिया थाना श्रीमाधोपुर सीकर शिक्षा- 12वीं।
6. अनिल कुमार यादव पुत्र शिम्बू दयाल उम्र- 30 साल, निवासी- बड़ नगर कोटपुतली जयपुर शिक्षा- पोलीटेक्नीक में डिप्लोमा।
7. संदीप पुत्र फूलाराम जाति- जाट, उम्र- 23, निवासी- जयरामपुरा थाना श्रीमाधोपुर सीकर, शिक्षा- 12वीं आईटीआई।
8. पंकज पुत्र ओम प्रकाश जाति- यादव, उम्र- 26, निवासी- महरोली थाना रींगस सीकर शिक्षा- बीएससी बायो।
टीम के सदस्यों के नाम-
1. श्री रायसिंह बेनीवाल एसीपी वैषालीनगर
श्रीमती हेमलता उ0नि0 थाना वैषालीनगर
श्री महिपाल सिंह कानि0
श्री लालाराम कानि0
श्री सुरेन्द्र कुमार कानि0
2. श्री नरेन्द्र कुमार खीचड प्रभारी डीएसटी
श्री नरेन्द्र सिंह एचसी,
श्री हरिराम एचसी,
श्री सुनील कुमार एच.सी.
श्री प्रकाश चन्द एच.सी.
श्री इस्लाम खां एच.सी,
श्री प्रदीप सिंह कानि0
3. श्री पन्नालाल जांगिड थानाधिकारी चित्रकूट
श्री रणवीर एचसी,
श्री सुभाष एचसी,
श्री विजेन्द्र कानि0
श्री देशराज कानि0
4. श्री मुकेश चौधरी थानाधिकारी भांकरोटा
श्री राजेष एचसी,
श्री सतीष कानि0
श्री इन्द्रा चौधरी कानि0
श्री विजय कानि0
श्री जगदीश एच.सी.
5. श्री दिनेश कानि0 तकनिकी सहायक साईबर सैल कार्यालय हाजा।
  • Powered by / Sponsored by :