पात्रा चॉल जमीन घोटाला मामले में संजय राउत को 8 अगस्त तक ओर ईडी की कस्टडी में भेजा

पात्रा चॉल जमीन घोटाला मामले में संजय राउत को 8 अगस्त तक ओर ईडी की कस्टडी में भेजा

महाराष्ट्र के पात्रा चॉल जमीन घोटाला मामले में शिवसेना नेता संजय राउत की मुश्किलें ओर बढ़ गयी है। अदालत ने संजय राउत को 8 अगस्त तक ईडी की कस्टडी में भेज दिया है। बता दें कि आज संजय राउत की हिरासत का समय खत्म हो गया था, जिसके बाद उन्हें ईडी की स्पेशल कोर्ट में पेश किया गया। अदालत ने फिर से उन्हें 8 अगस्त तक ईडी की कस्टडी में भेज दिया है। पिछली कस्टडी में खुलासा हुआ था कि अलीबाग में जमीन के लेन-देन में ज्यादा पैसा लगाए गए थे। पिछली रिमांड के दौरान पूछताछ में कैश का ब्योरा सामने आया था।

प्रवर्तन निदेशालय ने पात्रा चॉल जमीन घोटाले में संजय राउत की पत्‍नी वर्षा राउत को तलब किया है। ईडी ने कहा है कि वर्षा राउत के खाते में लेनदेन की जानकारी मिलने के बाद उन्‍हें समन जारी किया गया है। अब प्रवर्तन निदेशालय संजय राउत और उसकी पत्‍नी वर्षा राउत दोनों से एक साथ पूछताछ कर सकते है।

आपको बतादें लो शिवसेना नेता संजय राउत को 6 घंटे से भी ज्यादा पूछताछ के बाद आधी रात को गिरफ्तार किया गया था। संजय राउत की गिरफ्तारी से पहले उनके घर से साढ़े 11 लाख रुपये भी जब्त किए गए हैं। संजय राउत के घर से इसके अलावा कई अहम दस्तावेज भी जब्त किया गया है जो पात्रा चॉल मामले से जुड़े हैं। संजय राउत को सोमवार को मुम्बई की PMLA कोर्ट ने पेश किया गया। जहाँ अदालत ने संजय राउत 4 अगस्त तक ED की रिमांड पर भेज दिया। ईडी ने अदालत को बताया कि हमने 3 बार समन भेजा, लेकिन राउत जानबूझकर पेश नहीं हुए। इस मामले से जुड़े सबूतों से भी छेड़छाड़ की गई है।

दूसरी ओर महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन के एक महीने बाद मंत्रिमंडल का होने जा रहा है सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार, कल एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फडणवीस की सरकार में कुल 12 मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई जा सकती है। इनमें से बीजेपी के सात विधायक व एकनाथ शिंदे के गुट के पांच विधायक शामिल होंगे। प्रमुख चेहरों में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल, सुधीर मुनगंटीवार का नाम भी शामिल है। वहीं, शिंदे समूह से गुलाबराव पाटिल और दादा भुसे को भी लिस्ट में जगह दी गई है।
  • Powered by / Sponsored by :