73वां जिला स्तरीय वन महोत्सव हुआ आयोजित

73वां जिला स्तरीय वन महोत्सव हुआ आयोजित

झालावाड़, 21 सितम्बर। 73वां जिला स्तरीय वन महोत्सव बुधवार को जिला प्रशासन एवं वन विभाग झालावाड़ के संयुक्त तत्वावधान में राजकीय अभियांत्रिकी महाविद्यालय के सभागार में समारोह पूर्वक आयोजित किया गया।
समारोह की मुख्य अतिथि जिला कलक्टर डॉ. भारती दीक्षित ने मानव जीवन में वृक्षों की महत्ता बताते हुए सभी को अधिक से अधिक पौधारोपण करने की बात कही। उन्होंने कहा कि पौधारोपण करने के साथ-साथ हमारा दायित्व है, कि हमारे द्वारा लगाए गए पौधों का संरक्षण भी किया जाए।
पुलिस अधीक्षक ऋचा तोमर ने कहा कि मनुष्य के जन्म से लेकर मृत्यु तक वृक्षों एवं लकड़ी का बहुत महत्व है। इस दौरान उन्होंने पौधारोपण कर उनकी सुरक्षा हेतु पुलिस विभाग द्वारा जिले में चलाई जा रही मुहिम संस्कार वाटिका की जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस विभाग द्वारा सभी थाना क्षेत्रों में संस्कार वाटिका विकसित की गई हैं। उन्होंने कहा कि विशेषकर बच्चों को पौधारोपण एवं उनके सरंक्षण के लिए जागरूक करें।
समाज कल्याण बोर्ड की उपाध्यक्ष मीनाक्षी चन्द्रावत ने कहा कि हम सभी का कर्तव्य है कि प्रकृति की सुरक्षा एवं पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रत्येक व्यक्ति द्वारा कम से कम पांच पौधे लगाए जाएं ताकि भविष्य में यही पौधे वटवृक्ष बनकर हमें प्राणवायु दे सकें।
उप वन संरक्षक वी. चेतन कुमार ने कहा कि वन महोत्सव के आयोजन का मुख्य उद्देश्य आमजन को पौधारोपण एवं पौधों के संरक्षण के लिए जागरूक करना है। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि इस मानसून में वन विभाग द्वारा सम्पूर्ण जिले में कुल 3 लाख पौधे लगाए गए हैं। इस दौरान उन्होंने सभी से अपने जीवन के खास दिवसों पर पौधारोपण करने का आह्वान किया।
इस दौरान राजकीय अभियांत्रिकी महाविद्यालय झालरापाटन के प्राचार्य करतार सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि अभियांत्रिकी महाविद्यालय के स्टॉफ एवं विद्यार्थियों द्वारा प्रारंभ से ही महाविद्यालय परिसर में बहुत तत्परता के साथ पौधारोपण का कार्य किया गया है, जिसका परिणाम है, कि वर्तमान में महाविद्यालय परिसर में करीब दो हजार छायादार वृक्ष लगे हुए हैं।
समारोह के दौरान नन्हीं बालिका अनाहिता शर्मा ने ‘‘मैं पृथ्वी रानी हूँ, मुझको बचा लीजिए’’ कविता सुनाई। वहीं प्रीति शर्मा द्वारा वृक्ष की गुहार नामक कविता के माध्यम से वृक्षों के मन की बात को उजागर किया गया। समारोह के दौरान जिले में वन, पर्यावरण संरक्षण, पौधारोपण एवं सुरक्षा तथा प्रचार-प्रसार के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान देने वाले 13 लोगों, संस्थाओं एवं वनकर्मियों को अतिथियों द्वारा प्रशस्ति-पत्र देकर वृक्षवर्धक, वनपालक, वनप्रहरी एवं प्रचार प्रसारक पुरस्कार से सम्मानित किया गया। अंत में सहायक वन सरंक्षक संजू कुमार शर्मा द्वारा आभार व्यक्त किया गया। मंच संचालन नरेन्द्र दुबे एवं पुष्पलता दुबे द्वारा किया गया।
जिला कलक्टर एवं पुलिस अधीक्षक द्वारा किया गया पौधारोपण
समारोह के पश्चात् जिला कलक्टर एवं पुलिस अधीक्षक सहित अन्य अतिथियों द्वारा बरगद, पीपल, नीम, आंवला, अर्जुन, पारस पीपल, करंज, लसोड़ा, जामुन, कचनार, चुरेल आदि प्रजातियों के पौधों का रोपण किया गया।
  • Powered by / Sponsored by :