बाढ़ राहत कागजों तक सिमटी, जनता कर रही है परेशानियों का सामना : पायलट

बाढ़ राहत कागजों तक सिमटी, जनता कर रही है परेशानियों का सामना : पायलट

जयपुर, 02 अगस्त। राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री सचिन पायलट आज भी प्रदेश के बाढ़ ग्रस्त जिलों के दौरे पर रहे। श्री पायलट ने आज सिरोही जिले के ग्राम जावल में नदी के टूटे पुल का जायजा लिया तथा ग्रामीणों से मुलाकात कर बाढ़ से हुए नुकसान की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि बाढ़ के कारण सडक़ों के टूट जाने और पानी भर जाने से ग्रामीणों का अपने खेतों एवं कुओं तक जाने का रास्ता बंद हो गया है जिसके चलते उन्हें भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सिरोही जिले के मंडवाड़ा गॉंव पहुचने पर ग्रामीणों ने उनको बाढ़ से हो रही समस्याओं से अवगत करवाया।
श्री पायलट विगत् तीन दिनों से प्रदेश के बाढग़्रसित जिले जालौर, सिरोही एवं पाली के विभिन्न गॉंवों का दौरा कर बाढ़ से पीडि़त जनता का हाल जानने के साथ ही बाढ़ से प्रभावित लोगों को जरूरत की खाद्य सामग्री एवं दवाईयां भी मुहैया करवा रहे हैं। श्री पायलट गॉंव-गॉंव घूमकर बाढ़ पीडि़तों से मुलाकात कर उनका दर्द बांट रहे हैं। उन्होंने सभी बाढ़ पीडि़तों को आश्वस्त किया है कि दु:ख की इस घड़ी में कांग्रेस पार्टी उनके साथ खड़ी है और उनकी हर संभव मदद करने के साथ ही राज्य सरकार पर दबाव बनायेगी कि वे राहत के कार्य जल्द से जल्द शुरू करे। उन्होंने राज्य सरकार से माँग की है कि बाढ़ से जो जनता का नुकसान हुआ है उसका उचित मुआवजा समय रहते दिया जाये, उसमें कोई देरी नहीं की जानी चाहिए।
बाढग़्रस्त क्षेत्रों का दौरा करने के पश्चात् श्री पायलट सिरोही पहुंचे, जहॉं उन्होंने मीडिया को सम्बोधित किया। उन्होंने कहा कि राजस्थान के विभिन्न जिलों को प्राकृतिक आपदा की मार झेलनी पड़ रही है लेकिन आश्चर्य की बात है कि अभी तक आपदा मंत्री ने बाढ़ ग्रसित क्षेत्रों का दौरा कर जनता की सुध नहीं ली है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने सिर्फ हवाई दौरा किया है और राहत कार्य अभी तक शुरू नहीं हो पाये हैं। उन्होंने कहा कि सरकार की तरफ से राहत की घोषणा मात्र कागजों तक सिमटी है, जनता को अव्यवस्थाओं के कारण भारी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि दो वर्ष पूर्व 2015 में भी इन क्षेत्रों में बाढ़ आई थी, लेकिन सरकार ने उससे सीख नहीं ली और ना तो आधारभूत ढांचे को मजबूत किया और ना ही आपदा से निपटने के लिए अग्रिम व्यवस्था की।
श्री पायलट ने कहा कि जल स्वावलम्बन योजना के तहत् हुए निर्माण मापदण्डों व नियमों के विपरीत होने के कारण बाढ़ की स्थितियां और विकराल हुई है। उन्होंने कहा कि बाढ़ जैसी आपदा की परिस्थितियों में बचाव का काम सेना करती है लेकिन ये भी सच है कि पीडि़तों को राहत पहुॅंचाने की जिम्मेदारी सरकार की होती है, फिर भी अभी तक पीडि़त जनता की सुध नहीं ली जा रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की ओर से प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर राहत के लिए मॉंग भी रखी गई है। उन्होंने कहा कि पानी के भराव के कारण जल जनित बीमारियों के बढऩे की आशंका हो गई है इसलिए आवश्यक है कि चिकित्सीय व्यवस्थाओं को बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों में सुनिश्चित किया जाए और संक्रमण को रोकने के लिए कीटनाशकों का छिडक़ाव व फोगिंग नियमित रूप से करवाई जाए। उन्होंने कहा कि बाढ़ प्रदेश के लिए बड़ी विपदा है, यह राजनैतिक आरोप-प्रत्यारोप का समय नहीं है, हमारा उद्देश्य पीडि़त जनता को राहत देना है तथा उन्हें आपदा से बचाना है।
श्री पायलट ने बताया कि कांग्रेस उपाध्यक्ष श्री राहुल गॉंधी शुक्रवार, 4 अगस्त, 2017 को बाढ़ ग्रस्त क्षेत्र का दौरा करेंगे। श्री गॉंधी जालौर जिले की सांचौर तहसील में बाढ़ पीडि़तों से मुलाकात करेंगे।
इसके पश्चात् श्री पायलट ने सिरोही की अर्बुदा गौशाला का दौरा कर वहॉं के हालातों का जायजा लिया तथा बीमार गायों का ईलाज कर रहे डॉक्टरों की टीम से भी मुलाकात की। श्री पायलट सिरोही जिले के दौरे के बाद पालड़ी जोड़ होते हुए पाली जिले के ग्राम ढोला पहुचें, जहॉं बाढ़ एवं अतिवृष्टि से हुए नुकसान का जायजा लिया और पीडि़तों से मुलाकात कर उन्हें हिम्मत बंधाई।
कल दिनांक 03 अगस्त, 2017 को बाड़मेर जिले के बाढग़्रस्त ईलाकों का दौरा करेंगे। इस दौरान श्री पायलट के साथ नेता प्रतिपक्ष श्री रामेश्वर डूडी, एआईसीसी सचिव श्री हरीश चौधरी व पूर्व मंत्री श्री हेमाराम चौधरी भी रहेंगे।
  • Powered by / Sponsored by :