प्रतापनगर में हुई चोरी की वारदात का खुलासा लाखों रूपये के आभूषण जेवरात किये बरामद

प्रतापनगर में हुई चोरी की वारदात का खुलासा लाखों रूपये के आभूषण जेवरात किये बरामद

जयपुर, 9 सितम्बर। पुलिस उपायुक्त जयपुर पूर्व श्री प्रहलाद सिंह कृष्णियाँ ने बताया कि पुलिस थाना प्रताप नगर जयपुर शहर पूर्व में दिनांक 25.09.2021 को दिन के समय अशोक शर्मा के मकान मे नकबजनी की वारदात होने पर मुकदमा नम्बर 490/2021 धारा 454, 380 आईपीसी में दर्ज कर अनुसंधान थानाधिकारी थाना प्रताप नगर जयपुर पूर्व श्री बलवीर सिंह कस्वां पुलिस निरीक्षक के जुम्मे किया गया। उक्त वारदात की गंभीरता को देखते हुए, वारदात के खुलासा करने के लिए, श्री राजश्रर्षि वर्मा अति0 पुलिस उपायुक्त जयपुर पूर्व के सुपरविजन में, श्री नेमीचन्द खारिया सहायक पुलिस आयुक्त सांगानेर जयपुर पूर्व के निर्देशन में श्री बलवीर सिंह कस्वां पुलिस निरीक्षक थानाधिकारी पुलिस थाना प्रतापनगर जयपुर पूर्व के नेतृत्व में श्री भीम सिंहएचसी 1199 श्री प्रधुम्न एचसी 2031 शंकर लाल 7740, बजरंग लाल 4689व श्री हेमराज कानि. 8852की टीम गठित की गयी ।
गठित टीम द्वारा लगातार पूर्व में नकबजनी में चालानशुदा अपराधियों व संदिग्धों की निगरानी की गयी एवं मुखबीर खास मामुर कर नकबजनों पर निगरानी रखने के लिए पाबन्ध कर, उक्त वारदात के संबंध में जानकारी एवं गुप्तरूप से सूचना एकत्रित की गयी एवं घटना स्थल के आस-पास के एरिया में लगे सीसीटीवी कैमरों से फुटेज प्राप्त कर, प्राप्त फुटेज को अपने मुखबीर खास से पहचान करवायी जाकर, वारदात का खुलासा किया गया।
घटना का विवरण : - श्री अशोक शर्मा पुत्र श्री इन्द्र सहाय जाति ब्राह्रम्ण उम्र 63साल निवासी मकान नम्बर 22बी 31सैक्टर 22पुलिस थाना प्रताप नगर जयपुर पुर्व ने दिनांक 26-08-2021 को एक रिपोर्ट तहरीरी इस आशय की पेश की कि मकान न. B 31 सैक्टर 22 प्रतापनगर में रहते है। दिनांक 25.08.2021 को घर से करीब 12 बजे बाजार के काम के लिये पत्नि के साथ गये थे। जब करीब 7 बजे सायः घर आये तो मैन गेट का ताला लगा था ताला खोलकर जैसे हि अन्दर गये तो देखा कि जाली के गेट का कुन्दा टूटा हुआ था। जैसे gh अन्दर गये तो मैन लकडी का दरवाजा खुला था तथा अन्दर लाइट जल रही थी।हमने पडौसीयों को बुलाया अन्दर गये तो देखा की स्टोर की आलमारी खुली है तथा सोने चाँदी का सामान की पैकिंग खुली पडी है।बाहर दिवान के कपडे बाहर पडे है व दुसरे कमरे में माताजी की Photo के पास जो भी सोने का सामान था सब निकाल लिया तथा पैकिंग खाली पडी थी।उपरोक्त चोरी करने वाले ने सभी सोने व चाँदी के सामान चोरी कर लिये पुलिस को सुचना दि तब पुलिस वाले भी आ गये। चोरी किये गये सामान का सामान का ब्यौरा निम्न प्रकार है। 1. माताजी का 1 हार 25 ग्राम, 2. माताजी की 2 झुमकी -10 ग्राम, 3.माताजी की कानकी कनोती दो 05 ग्राम, 4.माताजी की अँगूठी 1, 3 ग्राम, 5.माताजी की 4 चूडी -30 ग्राम, 6.माताजी की 1 चैन 08 ग्राम कुल 81 ग्राम, पत्ती के सोने के 2 कडे -60 ग्राम, लोंग चेन 1, 20 ग्राम,गले का हार 1- 25 ग्राम, टीका 1 -05 ग्राम, झुमकी 2-10 ग्राम, अंगुठी 2- 05 ग्राम, इयर रिंग 4set-10 ग्राम,जेन्टस अगूठी 1,10 ग्राम, 2 बडे कडे 2 -35 ग्राम कुल 180 ग्राम।सोने का सामान लगभग -261 ग्राम, चांदी की पायजेब 5 जोडी -200 ग्राम, चांदी का सामान लगभग- 350 ग्राम, श्रीमान से निवेदन है की मेरे मकान में अज्ञात चोरो द्वारा चोरी करली है। आदि पर मुकदमा नम्बर 490/2021 धारा 454,380 आई.पी.सी. में कायम कर तफ्तीस शुरू की गई।
दौराने अनुसंधान अनुसंधान अधिकारी श्री बलवीर सिंह कस्वां पुलिस निरीक्षक थानाधिकारी पुलिस थाना जयपुर पूर्व ने परिवादी के बयान लेकर घटना स्थल का मुआयना कर, घटना स्थल से चोरी के साक्ष्य जुटाकर, वारदात का खुलासा करने हेतु एक टीम का गठन किया। टीम के सदस्य कानि. शंकर लाल व बजरंग लाल ने अपने अथक प्रयास से घटना स्थल के आस-पास के सीसीटीवी कैमरे चैक वारदात को अन्जाम देने वाले आरोपियान के फुटेज प्राप्त कर, तलाश में जुट गये। दोनों सिपाहियों ने अपने मुखवीर तन्त्र से मालुमात कर, अनुसंधान अधिकारी श्री बलवीर सिंह कस्वां पुलिस निरीक्षक थानाधिकारी पुलिस थाना जयपुर पूर्व को बताया कि अपनी नकबजनी की वारदात के मुल्जिम जो सीसीटीवी फुटेज में आये हुलिये के है, सरोली डूंगरी तिराहे पर कोने में चाय की थडी पर मय मोटरसाईकिल के बैठे है। जिस पर थानाधिकारी थाना प्रताप नगर मय पुलिस टीम के सरोली डूंगरी तिराहे पर पहुंचकर, उक्त तीनों शक्सों को राउण्ड अप किया। पूछताछ से उक्त तीनों शक्सों ने अपने नाम बबलू उर्फ अर्जुन गुर्जर, मनीष तिवारी उर्फ जुम्मन व विनोद हरिजन बताये। उक्त शक्सों ने उक्त नकबजनी की बारदात को करना कबूला और उनका हुलिया भी सीसीटीवी फुटेज से मिलाना खा रहा था। जिनसे नकबजनी की घटना में चोरी गये जेवरात व आभूषण के बारे में पूछा तो बताया कि कुछ सामान तो हमने आपस में बांट लिया जो हमारे पास है, जिसे हम चलकर बता सकते है। अर्जुन उर्फ बबलू के कब्जे से एक चैन सोने की, एक जोडी चांदी की पायजेब, एक सिक्का गोल्ड प्लेटेड, आठ चांदी के सिक्के , छ चांदी की विछिया, विनोद हरिजन से एक सोने का छल्ला एक जोडी चांदी की पायजेब, एक गोल्ड प्लेटेड सिक्का, चार चांदी के सिक्के एक चांदी का किल्प , दो चांदी की अंगूठी एवं मनीष तिवारी उर्फ जुम्मन से दो सोने की अंगूठी, दो कानो की झुमकिया सोने की, एक लक्ष्मी गणेष की चांदी की मूर्ति, एक चांदी का दीपक, एक जोडी पायजेब चांदी की, सात सिक्के चांदी के बरामद किये गये। बाकि सामान अर्जुन उर्फ बबलू गुर्जर के जेल के परिचित दोस्त देवेन्द्र सिंह से पांच लाख रूपये में सौदा तय कर बेच दिया। अर्जुन ने बताया कि हमने यह जेवरात देवेन्द्र को मुहाना मोड के पास एक सुनसान जगह पर बुलाकर दिया था। देवेन्द्र श्याम नगर में रहता है। देवेन्द्र सिंह की तलाश हेतु कानि. शंकर लाल व बजरंग लाल को रवाना किया जिन्होंने बाद तलाश कर देवेन्द्र सिंह को राउण्ड अप कर, थानाधिकारी पुलिस थाना प्रताप नगर के समक्ष पेश किया जिसे बाद तफ्तीष गिरफ्तार किया जाकर उसकी ईतला से वारदत कर चुराये सोने के आभूषणो को गलाकर बनाये 113 गा्रम सोने के टूकडे को बरामद किया गया।गिरफ्तारषुदा मुल्जिमान को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेष किया, जिनका पीसी रिमाण्ड ले रखा है। मुल्जिमान से प्रकरण मे अन्य वारदातों के संबंध में अनुसंधान जारी है।
तरीका बारदात :- मुल्जिमान नकबजनी, लूट, चोरी की वारदात करने के आदि है। पूर्व आपराधिक रिकार्ड के हिसाब से सभी मुल्जिमान के खिलाफ दर्जनों पूर्व में प्रकरण दर्ज है। मनीष तिवारी उर्फ जुम्मन स्मैक का नषा करता है और बेचता है। मनीष तिवारी उर्फ जुम्मन का करीब दोस्त अर्जुन उर्फ बबलू गुर्जर जो आदतन अपराधी है। जो हाल ही में जेल से छुटकर आया। आते ही मनीष तिवारी उर्फ जुम्मन से मुलाकात की स्मैक का धन्धा करने की योजना बनायी, जिसके लिए पैसों की आवश्यकता थी तो मनीष तिवारी उर्फ जुम्मन ने अपने पुराने दोस्त विनोद से मिलवाया जो शातिर नकबजन है। उक्त तीनों अपराधियों ने योजनाबद्व तरिके से उक्त नकबजनी की वारदात को अन्जाम दिया। नकबजनी में प्राप्त आभूषण व जेवरात को अर्जुन उर्फ बबलू गुर्जर ने अपने पूर्व में जेल में परिचित दोस्त देवेन्द्र सिंह से सम्पर्क कर, पांच लाख रूपये में सौदा तय कर, बैच दिया, जिसे अपने परिचित सुनार से गलवा लिया। कुछ बचे हुए जेवरात व आभूषण को आपस में बांट लिया। उक्त तीनों ही अपराधी नषे व शोक मौज करने के आदि है। जेवरात व आभूषण बचने पर कुछ पैसे प्राप्त हुए, उनको शौक मौज में उडा दिया। उक्त तीनों आदतन अपराधी है, जिन्होने पूर्व में भी कही वारदात करना कबूल किया है। हाल ही में दो मोटरसाईकिल चोरी की वारदात को भी अन्जाम दिया है, जिसमें अर्जुन उर्फ बबूल गुर्जर के दोस्त चन्द्र प्रकाश उर्फ चन्दू को गिरफ्तार कर जेल भिजवाया था।
गिरफ्तारशुदा मुल्जिमों का विवरण :
1- श्री मनीष तिवारी उर्फ जुम्मन पुत्र श्री अनिल तिवारी जाति ब्राह्रम्ण उम्र 28 साल निवासी मकान नम्बर 76 मदारी कालोनी, गौशाला, सागानेर पुलिस थाना सागानेर जयपुर पुर्व
2- श्री विनोद पुत्र श्री बोदूराम जाति हरिजन उम्र 26 साल निवासी मक्कनपुर पुलिस थाना कुडगाव जिला करोली हाल किरायेदार मकान नम्बर 266/29 सेक्टर 26 प्रताप नगर जयपुर पुर्व
3- अर्जुन उर्फ बबलू पुत्र श्री मदन लाल जाति गुर्जर उम्र 27 साल निवासी जगदीश जी मन्दिर के पास साँख रोड गौनेर पुलिस थाना शिवदासपुरा जयपुर
4- देवेन्द्र सिंह पुत्र श्री शिवराज सिंह जाति राजपूत उम्र 38साल निवासी जे -672आजाद नगर राँकडी सोडाला पुलिस थाना सोडाला हाल नकान नम्बर 217 फ्लेट नम्बर एफ. 01पदमावती कालोनी निर्माण नगर पुलिस थाना श्याम नगर जयपुर
बरामदगी :-
1. लाखों रूपये के आभूषण जेवरात (113 ग्राम सोने का टूकडा, एक सोने की चैन, एक सोने का छल्ला, दो अगूंठी सोने की, एक जोडी कानो की झुमकी सोने की, एवं चांदी के 21 सिक्के, तीन जोडी पायजेब चांदी की, छः जोडी बिछियां चांदी की, दो अंगूठी चांदी व एक जूडे की किल्प सेट चांदी) बरामद।
2. वारदात में प्रयुक्त नकब व मोटरसाईकिल हिरो होण्डा स्पलेण्डर प्लस जप्त।
विशेष भूमिका :-उक्त सम्पूर्ण कार्यवाही में शंकर लाल 7740, बजरंग लाल 4689 की अहम भूमिका रही है।
  • Powered by / Sponsored by :