वैशाली नगर में डॉक्टर को बंधक बनाकर डकैती की वारदात का पर्दाफाश, नेपाल के डकैतों ने दिया वारदात अन्जाम, एक महिला सहित तीन गिरफ्तार

वैशाली नगर में डॉक्टर को बंधक बनाकर डकैती की वारदात का पर्दाफाश, नेपाल के डकैतों ने दिया वारदात अन्जाम, एक महिला सहित तीन गिरफ्तार

जयपुर, 20 सितम्बर। पुलिस उपायुक्त जयपुर पश्चिम श्रीमती वंदिता राणा ने बताया कि पुलिस थाना वैशाली नगर पर दिनांक 19.09.2022 को परिवादिया डॉ. अर्शीया भारती पुत्री डॉ इकबाल भारती जाति मुसलमान उम्र 30 साल निवासी 642 हनुमान नगर विस्तार थाना वैशाली नगर जयपुर ने बमुकाम पोलीट्रामा वार्ड न. 113 ट्रोमा सेन्टर SMSH जयपुर में एक रिपोर्ट इस आशय की पेश की कि आज दिनांक 19.09.2022 में मैं महात्मा गांधी हॉस्पिटल में ड्यूटी पर थी। घर पर पिताजी (डेडी), भाभी और एक बाई थी। 01.30 पी.एम. पर हमारे घर की पूर्व नौकरानी Annu Dhaami नेपाली ऑल वैशाली नगर तीन लड़को के साथ हाथो मे डंडे Screw छुपा के आई थी patient दिखाने के हिसाब से आई फिर अचानक पहले चाबिया मांगी मेरे पिताजी DR. M.I. BHARTI DR. MOHM. IQBAL BHARTI ने चाबी देने से मना किया तो पिताजी पर हमला कर दिया डंडो से मारा गला दबाया सिर पर मारा, दात तोड़ा। मेरे पिता के साथ गंभीर रुप से मारपीट कर Bathroom में बंद कर दिया। अलमारी से बेडरुम की सोना सारा लूट कर ले गये। आदि पर अभियोग संख्या 456/2022 धारा 34,307,323,342,454,394 भा.द.सं. में पंजीबद्ध कर अनुसंधान प्रारम्भ किया गया।
प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त, जयपुर पश्चिम श्री राम सिंह के निर्देशन में सहायक पुलिस आयुक्त, वैशाली नगर श्री आलोक कुमार के नेतृत्व में थानाधिकारी थाना वैशाली नगर श्री हीरालाल पु.नि., थानाधिकारी पुलिस थाना करणी विहार श्री जय सिंह बसेरा पु.नि., थानाधिकारी थाना चित्रकूट श्री रामकिशन विश्नोई पु.नि., थानाधिकारी थाना भांकरोटा श्री रविन्द्र प्रताप सिंह पु.नि., थानाधिकारी थाना मुरलीपुरा श्री देवेन्द्र जाखड़ पु.नि., थानाधिकारी थाना सिंधीकैम्प श्रीमती गुंजन सोनी पु.नि., श्री गुरभूपेन्द्र सिंह पु.नि. प्रभारी डीएसटी, श्री राजेश कुमार उ.नि., श्री मुकेश कुमार उ.नि. थाना सदर, श्री सुनिल कुमार स.उ.नि. थाना वैशाली नगर, श्री रामेश्वर लाल कानि. 6310, श्री प्रवीण कानि. 8947, श्री राजेन्द्र कानि. 6075, श्री बुद्धराम कानि., श्री सत्यवीर कानि., श्री मोहन सिंह कानि., श्री कृष्ण कानि., श्री अर्जुन कानि., श्री विजय कुमार कानि., श्री रणवीर हैड कानि. 2088, श्री मोहन कानि. 9626, श्री सागर कानि. 10358, श्री मुकेश कुमार कानि. 10961, श्री दीपचंद कानि. 11209, कार्यालय पुलिस उपायुक्त, जयपुर पश्चिम तकनीकी सहायता से श्री बहादुर सिंह हैड कानि. की एक टीम का गठन किया गया।
डकैती की योजना :-
इस डकैती की वारदात की मास्टर माईन्ड अनु उर्फ खिन्तु धामी है। अनु उर्फ खिन्तु धामी डॉक्टर इकबाल भारती के घर पर तीन बार पूर्व में काम कर चुकी थी। पहले वर्ष 2006 में लगभग डेढ वर्ष तक डॉक्टर इकबाल भारती के घर पर काम किया। फिर वर्ष 2009 में भी कुछ समय के लिए डॉक्टर इकबाल भारती के यहां नौकरी की। वर्ष 2021 में भी अनु उर्फ खिन्तु धामी दो महिने तक डॉक्टर इकबाल भारती के घर पर काम करके गयी थी। अनु उर्फ खिन्तु धामी को लगा कि इस परिवार में सभी लोग डॉक्टर हैं व अच्छा पैसा कमा रहे है, इसलिए उसने इस घर में वारदात करने की योजना बनाई।
रक्षाबंधन के दिन एक नेपाली परिवार के घर में पार्टी के दौरान काफी नेपाली लोग शामिल हुए, जिसमें सुरेश शाही भी मौजूद था। अन्नू उफ खिन्तु धामी से सुरेश की मुलाकात इसके साथ ढ़ाबा चलाने वाले कालू सिंह ने करवाई थी। अन्नू उफ खिन्तु धामी ने सुरेश को अपनी योजना से अवगत कराया। इस पर सुरेश ने दीपक से बात की जिसने अपने अन्य साथियों से वार्ता कर उनको इस योजना में शामिल कर पूरी प्लानिंग बनाई।
योजना के मुताबिक इनके 2 साथी दिल्ली से भी वारदात से 1 दिन पहले आ गये और जयपुर में रूक गये। वारदात के दिन खिरणी फाटक पर यह सभी लोग इक्कठे हुए वहां पर इन्होने शराब पी और आगे की योजना बनाई।

डकैती में काम में लिये गये हथियार की व्यवस्था
यह दायित्व दिल्ली से आने वाले दोनों व्यक्तियों को दिया गया, वे लोग 1 लोहे की रॉड जैसी नकब और 2 पेचकस खरीद कर लाये।

डकैती की घटना : -
डकैती में शामिल पांचो व्यक्ति अन्नू उर्फ खिन्तु धामी, सुरेश शाही, प्रकाश उर्फ पुष्पा एवं दिल्ली से आने वाले प्रेम सिंह उर्फ पीयूष तथा धीरेन्द्र खिरणी फाटक पर इक्कठा हुए। इन्होने वहां पर शराब पी और आगे की योजना बनाई और डॉक्टर इकबाल भारती के घर पर पहुंचे। चूंकि अन्नू उर्फ खिन्तु धामी इस परिवार से पहले से परिचित थी इसलिये वह सबसे पहले घर में गई और डॉक्टर इकबाल भारती को अपनी आंखे दिखाने की बात कही तभी पीछे से सुरेश शाही, प्रेम सिंह उर्फ पीयूष व धीरेन्द्र भी डॉक्टर इकबाल भारती के घर में आ गये। डकैतों के 2 साथी दीपक ठाकुर शाह और प्रकाश उर्फ पुष्पा बाहर निगरानी हेतु दूर खड़े हो गये। उसी समय घर में प्रवेश कर चुके एक महिला व तीन अन्य ने अचानक से डॉक्टर इकबाल भारती को कब्जे में लेने का प्रयास किया। डॉक्टर इकबाल भारती के विरोध करने पर उनके साथ मारपीट कर बाथरूम में बंद कर दिया और उपर के तल पर चले गये जहां पर नौकरानी मीना परिहार किचन में काम कर रही थी जिसको साथ लेकर यह डॉक्टर इकबाल भारती के बेडरूम में पहुंचे और अल्मारी खोलकर उसमें से सोने चांदी के आभूषण आदि निकाल कर अपनी जेबों में डालकर वहां से भाग निकले। नौकरानी मीना परिहार ने नीचे आकर बाथरूम का दरवाजा खोला फिर पड़ौसियों की सहायता से डॉक्टर इकबाल भारती को ईलाज हेतु भिजवाया गया।
मौके की कार्यवाही : -
श्री आलोक कुमार सहायक पुलिस आयुक्त, वैशाली नगर के नेतृत्व में श्री हीरालाल सैनी पु.नि. थानाधिकारी वैशाली नगर, श्री रामकिशन विश्नोई पु.नि. थानाधिकारी चित्रकूट ने घटनास्थल का निरीक्षण एफएसएल टीम, एफपीबी टीम से घटनास्थल का निरीक्षण करवाया। घटना के सन्दर्भ में मुल्जिमानों के हुलिये की जानकारी एकत्रित करना तथा घटना के बाद जयपुर शहर से बाहर जाने वाले टोल नाकों वाहनों की चैकिंग संदिग्ध वाहनों का पता करना तथा सीसीटीवी फुटेज देखने की कार्यवाही की गई। मुल्जिमानों के हुलिये को सम्बन्धित टीमों के साथ शेयर करना आदि कार्य किये।
पुलिस एक्शन : -
इस गंभीर डकैती की वारदात में यह पता चल गया था कि डकैती करने वाले नेपाली लोग हैं और उनका तरीका वारदात घटना के तुरन्त बाद नेपाल भागना है। चूंकि डकैतों द्वारा कोई स्वयं का अपना व किराये का वाहन साथ नहीं होना जानकारी में आने पर इनके बस और ट्रेन से भागने की पूर्ण संभावनाओं को देखते हुए जयपुर शहर के सभी बस स्टेण्डों व रेल्वे स्टेशनों के थाना प्रभारियों को निर्देशित किया गया कि उनके यहां से इन डकैतों के मूवमेंट पर नजर रखे और जानकारी प्राप्त करें।
जयपुर शहर के मुख्य बस स्टेण्ड सिंधी कैम्प पर थानाधिकारी श्रीमती गुंजन सोनी ने स्वयं श्री बुद्धराम कानि0 के साथ उपस्थित रहकर जानकारी ली तो लगभग 03.00 पीएम पर एक बस का जयपुर से आगरा होते हुए गौरी फंटा नेपाल बॉर्डर की ओर जाना पता चला। चूंकि घटना का समय 02.15 पी. एम. के लगभग का था इसलिये इस बस से भागना सर्वाधिक सम्भावित पाये जाने पर थानाधिकारी श्रीमती गुंजन सोनी ने इस बस के चालक परिचालक के नम्बर प्राप्त कर उनको सूचित किया एवं स्वयं इस बस के पीछे भरतपुर रवाना हुई। बस को आगे रूकवाने एवं चैक करने के लिए जिला भरतपुर पुलिस से समन्वय कर थानाधिकारी थाना सेवर श्री अरूण पु.नि. को भी अवगत करवाया गया, जिन्होने हाईवे पर चैकिंग प्रारम्भ की।
जयपुर पश्चिम पुलिस द्वारा जिला भरतपुर पुलिस की सहायता से इस बस को रूकवाया गया एवं श्रीमती गुंजन सोनी थानाधिकारी थाना सिंधीकैम्प जयपुर की टीम द्वारा बस में शामिल लोगो से पूछताछ की गई तो बस में डकैतीं की वारदात करने वाली मास्टर माईन्ड अनु उर्फ खिन्तु धामी मौजूद मिली, जिसको राउण्डअप किया गया।
मुल्जिमों की तलाश हेतु रवाना हुए श्री रविन्द्र प्रताप सिंह थानाधिकारी भांकरोटा द्वारा भी पुलिस थाना सेवर पहॅुच कर मुल्जिमा अनु उर्फ खिन्तु धामी से पूछताछ शुरू की गई। इसी दौरान
थाना सेवर के पास जयपुर से भरतपुर की और एक टैक्सी कार आई व रूकी जिसमें से दो व्यक्ति टैक्सी से उतर कर सड़क के किनारे खेतों की तरफ भागे, जिनका पीछा किया तो वो खेतों में झाड़ियों में छुप गये।
जयपुर पुलिस द्वारा जिला भरतपुर पुलिस की सहायता से संयुक्त रूप से आस पास के क्षेत्रों में सघन तलाशी अभियान चलाया जाकर इन दोनो डकैतों को राउण्ड किया, जिन्होने पूछताछ पर अपने नाम सुरेश शाही पुत्र श्री दीप जाति शाही उम्र 28 वर्ष निवासी भजनी, पुलिस थाना भजनी, रोड़ नम्बर 8 जिला कैलाली, नेपाल एवं प्रकाश उर्फ पुष्पा पुत्र श्री बलाशाह जाति शाह उम्र 28 साल निवासी टीकापुर, पुलिस थाना टीकापुर, जिला कैलाली, नेपाल होना बताया।
उपरोक्त मुल्जिमान अन्नू उर्फ खिन्तु धामी, श्री सुरेश शाही व प्रकाश उर्फ पुष्पा को बाद पूछताछ धारा 454, 342, 307, 395, 397, 120बी आई पी सी में गिरफ्तार किया गया है।

गिरफ्तार मुल्जिमों से पूछताछ में इनके अन्य साथियों का दिल्ली व अन्यत्र स्थानों पर जाने का पता लगने पर श्री गुरभूपेन्द्र सिंह पु.नि. के नेतृत्व में एक टीम जिसमें श्री रामेश्वर लाल कानि. 6310, श्री प्रवीण कानि. 8947, श्री राजेन्द्र कानि. 6075 शामिल है। श्री राजेश उ.नि. के नेतृत्व में जिसमें श्री रणवीर हैड कानि. 2088, श्री मोहन कानि. 9626, श्री सागर कानि. 10358 शामिल है। श्री मुकेश कुमार उ.नि. के नेतृत्व में श्री सुनिल कुमार स.उ.नि. थाना वैशाली नगर, श्री मुकेश कुमार कानि. 10961, श्री दीपचंद कानि. 11209 शामिल है, को डकैतों की तलाश हेतु रवाना किया गया है। वारदात में शामिल अन्य मुल्जिमानों व इनके सहयोगियों की तलाश की जा रही है।
गिरफ्तारशुदा अभियुक्तों का विवरण
1. अनु उर्फ खिन्तु धामी पुत्री श्री चकूट बहादुर जाति धामी उम्र 30 वर्ष निवासी धनसिंहपुर, पुलिस थाना खखरोल भंसार जिला खखरोल कैलाली नेपाल
2. सुरेश शाही पुत्र श्री दीप जाति शाही उम्र 28 वर्ष निवासी भजनी, पुलिस थाना भजनी, रोड़ नम्बर 8 जिला कैलाली, नेपाल।
3. प्रकाश उर्फ पुष्पा पुत्र श्री बलाशाह जाति शाह उम्र 28 साल निवासी टीकापुर, पुलिस थाना टीकापुर, जिला कैलाली, नेपाल।
विशेष भूमिका : मुल्जिमानों की गिरफ्तारी में कानि0 श्री बुद्धराम 6222 पुलिस थाना सिंधीकैंप की विशेष भूमिका रही।
  • Powered by / Sponsored by :