जिला परिषद हेतु अधिकतम 3, पंचायत समिति सदस्य हेतु 2 वाहन की अनुमति

जिला परिषद हेतु अधिकतम 3, पंचायत समिति सदस्य हेतु 2 वाहन की अनुमति

धौलपुर, 12 अक्टूबर। जिले में जिला परिषद एवं पंचायत समिति सदस्य के चुनाव हेतु राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा अनुमत वाहनों एवं लाउडस्पीकर के संबंध में जारी अधिसूचना के संबंध में जिला निर्वाचन अधिकारी राकेश कुमार जायसवाल ने बताया कि जिला परिषद सदस्य के चुनाव में अभ्यर्थी द्वारा अधिकतम तीन वाहनों का उपयोग किया जा सकेगा तथा पंचायत समिति सदस्य के चुनाव में अभ्यर्थी द्वारा अधिकतम दो वाहनों का उपयोग किया जा सकेगा।
उन्होंने बताया कि वाहन का उपयोग करने से पूर्व अभ्यर्थी अथवा उसके निर्वाचन अभिकर्ता द्वारा वाहन संख्या, उसका प्रकार वाहन चालक के नाम एवं लिखित पते की सूचना मय दस्तावेज संबंधित रिटर्निंग अधिकारी को न्यूनतम 24 घंटे पूर्व देनी होगी। जिसके आधार पर निर्धारित प्रारूप में स्वीकृति जारी की जाएगी जिसे अभ्यर्थी द्वारा उपयोग किए जाने वाले वाहन पर प्रदर्शित किया जाएगा। उक्त प्रावधान अंतर्गत अभ्यर्थी या उसके निर्वाचन अभिकर्ता द्वारा चुनाव प्रचार एवं चुनाव संबंधी यात्रा में बस, ट्रक, मिनी बस, मेटाडोर एवं पशु चालित किसी भी प्रकार का वाहन यथा तांगा मोटर गाड़ी बैलगाड़ी का प्रयोग करना निषिद्ध रहेगा।
उन्होंने बताया कि जिला परिषद चुनाव हेतु अभ्यर्थियों को चुनाव में उपयोग किए जाने वाले वाहनों की अनुमति के संबंध में जिला कलेक्ट्रेट में पृथक से प्रकोष्ठ गठित किया गया है। गठित प्रकोष्ठ के प्रभारी बाल विकास परियोजना अधिकारी भूपेश गर्ग को नियुक्त किया गया है तथा सहायक प्रभारी व्याख्याता राजकीय माध्यमिक विद्यालय पुरैनी विपिन कुमार को नियुक्त गया है। इसी प्रकार पंचायत समिति सदस्यों के उपयोग किए जाने वाली वाहनों की अनुमति हेतु उपखंड स्तर पर प्रकोष्ठ गठित किए गए हैं ।
जिला परिषद चुनाव हेतु संबंधित अभ्यर्थी अथवा उसके निर्वाचन अभिकर्ता द्वारा वाहन संबंधी अनुमति हेतु कक्ष संख्या 51 में संपर्क किया जा सकता है।
चुनाव व्यय की सीमा निर्धारित-
जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया गया पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव हेतु धारा 22क के अंतर्गत उल्लिखित मदों के लिए जिला परिषद सदस्य हेतु अधिकतम खर्च सीमा 1 लाख 50 हजार रूपये तथा पंचायत समिति सदस्य के लिए 75 हजार रूपये रहेगी चुनाव खर्च का लेखा प्रारूप क में परिणामों की घोषणा के बाद निर्वाचन व्यय प्रकोष्ठ में प्रस्तुत करनी होगी।
उक्त अनुमति आचार संहिता की पालना किए जाने यातायात नियम सड़क सुरक्षा नियम मोटर वाहन अधिनियम राजस्थान पंचायती राज नियम तथा राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी निर्देश तथा कोरोना गाइडलाइन की पालना किए जाने के अधीन रहेगी।
लाउडस्पीकर के उपयोग संबंध में निर्देश-
पंचायती राज चुनाव में लाउडस्पीकर का प्रयोग के संबंध में जिला निर्वाचन अधिकारी राकेश कुमार जयसवाल ने बताया कि अभ्यर्थी द्वारा चुनाव प्रचार के लिए स्थापित चुनाव कार्यालय पर लाउडस्पीकर प्रयोग पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। मतदान समाप्ति से पूर्व 48 घंटे की अवधि में लाउडस्पीकर के उपयोग पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा साथ ही अस्पताल, स्कूल एवं धार्मिक स्थल से 100 मीटर की परिधि में लाउडस्पीकर के उपयोग पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। प्रातः 6 बजे से रात्रि 10 बजे तक लाउडस्पीकर के उपयोग हेतु उपखंड मजिस्ट्रेट अथवा जिला मजिस्ट्रेट की अनुमति प्राप्त करनी होगी। एजेंट नियुक्ति में कोविड गाइडलाइन की करनी होगी पालना-
चुनाव में कोरोना गाइड लाइन की पालना के संबंध में उन्होंने बताया कि अभ्यर्थी उसी व्यक्ति को एजेंट बना सकेंगे जिनके कोरोना की न्यूनतम एक डोज लग चुकी हो।
  • Powered by / Sponsored by :