संयुक्त सचिव राजेश यादव ने जिले में चल रहे जल संरक्षण के सम्बंध में ली समीक्षा बैठक

संयुक्त सचिव राजेश यादव ने जिले में चल रहे जल संरक्षण के सम्बंध में ली समीक्षा बैठक

धौलपुर, 4 अगस्त। संयुक्त सचिव भारत सरकार एवं केन्द्रीय जिला प्रभारी राजेश यादव ने धौलपुर ज़िले में अपने भ्रमण के पहले दिन जल शक्ति मंत्रालय के अंर्तगत चल रहे कैच द रेन अभियान के तहत जिलेभर में जल संरक्षण योजना के सम्बंध में अधिकारियों के साथ समीक्षात्मक चर्चा की। कैच द रेन अभियान के अंतर्गत वर्षा जल का संचयन रेन वाटर हार्वेस्टिंग ए परंपरागत जल स्रोतों का जीर्णाद्धार, अमृत सरोवर, वृक्षारोपण सहित अन्य कार्य व्यापक पैमाने पर किए जा रहे है। बैठक के दौरान संयुक्त सचिव ने अमृत सरोवर के निर्माण सम्बंधी जानकारी लेकर सरोवरों के आस पास फलदार वृक्ष लगाने के निर्देश दिए। जिससे की आमजन के साथ साथ पशु पक्षियों को भी उनका लाभ मिल सके एवं पाल की कटाव रोकने में भी मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि अमृत सरोवर के तहत कराये गये तालाब एवं पोखरों की पालों पर पत्थर की पिचींग करना सुनिश्चित करें एवं बनाये गये तालाब एवं पोखरों में हमेशा पानी रहना आवश्यक है एवं कृषि कार्य हेतु सिचाई के लिए पानी लेने वालों पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि वाटर रिसोर्स के तहत अन्य विभागों द्वारा कराये गये एनिकट, पोखर, चैक डैम के कार्यों को विभागीय कार्य योजना में लेते हुए कार्यों की जिओ टैग एवं फोटो ड्राफ्ट होने के साथ ही वाटर शैड की प्रगति में दर्ज किया जाना सुनिश्चित करें। ग्रामीण विकास के कार्यों के लिए एरिया वाईज सैटेलाइट से कार्य लेकर प्लान तैयार किया जाना सुनिश्चित करें। पंचायती राज द्वारा किये गये कार्यो का उपयोगिता प्रमाण पत्रा पोर्टल पर अपलोड किया जाये। उन्होंने उप वन संरक्षक को निर्देश देते हुए कहा कि वाटर शैड के तहत लालपुर, शामौर, सदापुर एवं अन्य स्थानों पर कराये गये निर्माण कार्यो की पालो पर प्लान्टेशन कराया जाये। प्लानटेशन कराने के लिए गांव वालों की मदद लेकर बरगद, नीम, आम, जामुन, पीपल इत्यादि के फलदार पौधो का रोपण किया जाये। जिससे पशु पक्षियों एवं जंगली जानवरों को लाभ मिल सके। जिला कलक्टर अनिल कुमार अग्रवाल ने जिले में कराये गये निर्माण कार्यों की जानकारी देते हुए कहा कि सभी अधिकारी दिये गये दिशा निर्देशों की पालना आवश्यक रूप से सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि सभी विभागीय अधिकारी कटीले वृक्षों के स्थान पर फलदार पौधे लगाये जाने के प्रयास करें। बैठक में मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद चेतन चौहान, अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी शीषराम यादव सहित सम्बंधित अधिकारी मौजूद रहे।
  • Powered by / Sponsored by :