अभी जेल में रहेंगे अरविंद केजरीवाल, ईडी की याचिका पर हाईकोर्ट ने सुरक्षित रखा फैसला

अभी जेल में रहेंगे अरविंद केजरीवाल, ईडी की याचिका पर हाईकोर्ट ने सुरक्षित रखा फैसला

दिल्ली शराब घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की जमानत के फैसले को ईडी ने दिल्ली हाई कोर्ट में चुनौती दी है। राउज एवेन्यू कोर्ट के आदेश को चुनौती देने वाली ईडी की याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई हुई। न्यायमूर्ति सुधीर कुमार जैन की पीठ ईडी की ओर से पेश हुए अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल एसवी राजू की दलीलें सुनीं। ईडी की तरफ से पेश वकील ने कहा कि निचली अदालत में हमें इस मामले पर बहस करने के लिए पर्याप्त समय नहीं दिया गया। इसके बाद केजरीवाल वकीलों कोर्ट के सामने अपनी दलीलें पेश की। केजरीवाल की ओर से अभिषेक मनु सिंघवी ने दलील दी है कि ईडी राजनैतिक द्वेष और पक्षपात की भावना से काम कर रही है। सिर्फ इसलिए कि कोर्ट ने उनकी हरेक बात को सही मानने से इंकार कर दिया, जज पर ऐसा आरोप लगाना गलत है। दोनों के दलीले सुनने के बाद हाईकोर्ट ने कहा इस पर हम दो तीन दिन में फैसला सुनाएंगे। तब तक के लिए केजरीवाल की जमानत पर रोक लग गई है। केजरीवाल अभी जेल में ही रहेंगे। ट्रायल कोर्ट की ओर से दी गई जमानत को हाईकोर्ट ने 24 घंटे के अंदर ही खारिज कर दिया।
ईडी की ओर से कहा गया कि
राउज एवेन्यू कोर्ट के आदेश को चुनौती देने वाली ईडी की याचिका पर सुनवाई के दौरान ईडी के वकील ने कहा कि हमें सुनवाई का उचित अवसर नहीं दिया गया। उन्होंने कहा कि हमने केजरीवाल के खिलाफ सारे सबूत दिए है। विजिटर्स रजिस्टर से इनकी पुष्टि होती है। मनी लांड्रिंग के आरोप में अगर कोर्ट को किसी आरोपी को जमानत देनी होती है तो उसे इस बात के लिए आश्वस्त होना पड़ता है कि आरोपी ने वो अपराध नहीं किया है। लेकिन इस मामले में निचली अदालत के जज ने अपने फैसले में कहीं भी यह नहीं कहा है कि केजरीवाल के खिलाफ दोष नही बनता। ऐसे में PMLA के सेक्शन 45 की कसौटी पर इस केस को परखे बग़ैर, ये केजरीवाल के पक्ष में दिया एकतरफा फैसला है। अपराध से अर्जित आय में से 55 करोड़ का न मिलना केजरीवाल की ज़मानत का आधार नहीं हो सकता।
बता दें कि सीएम केजरीवाल को ईडी ने शराब घोटाला मामले में मनी लॉन्ड्रिंग का आरोपी बनाया था। गुरुवार को ट्रायल कोर्ट में वैकेशन जज न्याय बिंदु ने दोनों पक्षों की दलील सुनते हुए सीएम केजरीवाल को जमानत दी थी और यह भी कहा था कि वह 1 लाख के मुचलके पर जमानत पर रिहा हो सकते हैं।
  • Powered by / Sponsored by :