कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुनाव के लिए अधिसूचना जारी, राजस्थान में सियासी हलचल तेज, कौन होगा राजस्थान का मुख्यमंत्री ?

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुनाव के लिए अधिसूचना जारी, राजस्थान में सियासी हलचल तेज, कौन होगा राजस्थान का मुख्यमंत्री ?

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुनाव के लिए अधिसूचना जारी कर दी है। अधिसूचना के अनुसार, गुरुवार से नामांकन फॉर्म उपलब्ध होंगे, जबकि 24 सितंबर से 30 सितंबर के बीच नामांकन दाखिल किया जाएगा। नामांकन की जांच 1 अक्टूबर को होगी और उसी दिन वैध उम्मीदवार की सूची प्रकाशित की जाएगी। यदि 8 अक्टूबर तक कोई उम्मीदवार अपना नामांकन वापस ले सकता, 8 अक्टूवर के बाद एक अंतिम सूची जारी की जाएगी। यदि आवश्यक हो, तो 17 अक्टूबर को मतदान होगा और परिणाम 19 अक्टूबर को घोषित किया जाएगा। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सोनिया गांधी की मुलाकात के बात, सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार गहलोत का राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए नामांकन भरना फाइनल माना जा रहा है। गहलोत 26 या 27 को अध्यक्ष पद के लिए नामांकन भरेंगे। ऐसे में खबरें आ रही हैं कि पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी भी कांग्रेस के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं। सूत्रों के अनुसार शशि थरूर अध्यक्ष पद के लिए नामांकन नहीं भरने या नामांकन वापस लेने का फैसला ले सकते हैं।

अब तक मिडिया में खबरे आ रही थी कि शशि थरूर और अशोक गहलोत के बीच राष्ट्रीय अध्यक्ष संभावित मुकाबला होगा। बता दें कि अशोक गहलोत ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से दो घंटे तक मुलाकात की थी। जिसके बाद वह राहुल गांधी की 'भारत जोड़ो यात्रा' में शामिल होने के लिए केरल के लिए रवाना हो गए।
सवाल यह उठता है कि अशोक गहलोत 19 अक्टूबर के बाद अपना इस्तीफा देते है तो राजस्थान का नया मुख्यमंत्री कौन बनेगा? मुख्यमंत्री के लिए डॉ. सीपी जोशी सामने आ रहा है। मुख्यमंत्री के लिए अशोक गहलोत एक महीने पहले ही सोनिया गांधी को डॉ. सीपी जोशी के नाम की सिफारिश कर चुके। इस साथ ही उन्होंने नए मुख्यमंत्री का चयन विधायकों की राय से करने की सलाह दी थी। लेकिन सचिन पायलट की राजस्थान में लोकप्रियता, राजनैतिक पहुंच व राहुल गांधी से उनकी नजदीकीयां देखकर ऐसा नहीं लग रहा कि कांग्रेस आलाकमान शायद राजस्थान के मुख्यमंत्री के रूप में किसी और के चेहरे पर मोहर लगाएगा।

राहुल गांधी ने राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के उम्मीदवारों को लेकर कहा कि उदयपुर अधिवेशन में एक व्यक्ति-एक पद पर हमने जो फैसला किया था, वह कांग्रेस का एक कमिटमेंट है। हम उस कमिटमेंट पर कायम रहेंगे। आपकों बतादें कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सीएम पद दोनों पर एक साथ रहने के संकेत दिए थे।

विश्वसनीय सूत्रों के अनुसार 26 या 27 सितंबर को पर्चा भरने से पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का इस्तीफा नहीं होगा। मुख्यमंत्री रहते हुए ही गहलोत कांग्रेस अध्यक्ष का पर्चा भरेंगे। इसके बाद 19 अक्टूबर को कांग्रेस अध्यक्ष निर्वाचित होने के बाद इस बारे में अंतिम फैसला होगा। संभवतः इस बारे में विधायक दल की बैठक में फैसला होगा। विधायक दल की बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष और सीएम का 'डबल चार्ज' रखने के बारे में अंतिम फैसला किया जाएगा।
  • Powered by / Sponsored by :