कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव को लेकर अशोक गहलोत को राहुल गाँधी का संकेत, एक व्यक्ति एक पद का नियम होगा लागू . . .

कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव को लेकर अशोक गहलोत को राहुल गाँधी का संकेत, एक व्यक्ति एक पद का नियम होगा लागू . . .

भारत जोड़ो यात्रा के बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रेस वार्ता कर कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव को लेकर कहा कि राहुल ने कहा कि, केरल की तरह भारत जोड़ो यात्रा बाकी राज्यों में भी सफल रहेगी. मैंने पहले ही अपना रुख साफ कर दिया है। मैं राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ने नही जा रहा हूँ। बता दें कि 2019 में लोकसभा चुनाव में बुरी तरह से हार के बाद राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। जब राहुल से पूछा गया कि वो कांग्रेस अध्यक्ष के उम्मीदवारों के लिए क्या सुझाव देंगे? इस पर उन्होंने कहा, उनके लिए मैं कहना चाहूंगा कि कांग्रेस अध्यक्ष सिर्फ एक संगठनात्मक पद नहीं है, यह एक विचारधारा है। जो कोई भी कांग्रेस अध्यक्ष बनते हैं, उन्हें याद रखना चाहिए कि वे एक ऐतिहासिक स्थान ले रहे हैं। उनके पास भारत की एक विचारधार हो। उन्होंने कहा कि होने वाले कांग्रेस अध्यक्ष को विचारों के एक समूह, एक विश्वास प्रणाली और भारत के एक दृष्टिकोण का प्रतिनिधित्व करना होगा। राहुल गांधी ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि उदयपुर चिंतन शिविर के संकल्प के मुताबिक "एक व्यक्ति एक पद" का पालन किया जाएगा। अर्थात् राहुल गांधी ने साफ संकेत दे दिए है कि अगर अशोक गहलोत कांग्रेस अध्यक्ष बनते हैं तो उन्हें राजस्थान में मुख्यमंत्री पद छोड़ना होगा।
इसके साथ ही राहुल गाँधी ने कहा कि देश में नफरत, हिंसा और अहंकार आज स्पष्ट रूप से दिखाई दे रहा है। इस देश में नम्रता, करुणा और अहिंसा की परंपरा है - यह सच्चे भारत का प्रतिनिधित्व करता है। राहुल गाँधी ने कहा कि बीजेपी-आरएसएस द्वारा नफरत फैलाने, कुछ चुने हुए लोगों द्वारा सारी संपत्ति का कब्जा, बेरोजगारी के खिलाफ भारत जोड़ो यात्रा निकाल रहे हैं। उन्होंने कहा कि आवश्यक वस्तुओं की कीमतें आसमान छू रही हैं। इन सबसे देश का युवा काफी परेशान है। भारत की जनता यह समझने लगी है।
राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव को लेकर कहा कि, 2024 से ज्यादा जरूरी सवाल है कि जिस तरह लोगों को बांटा जा रहा है उसे रोका जाए। मैं कहीं आइसक्रीम भी खा लूं तो आप 2024 से जोड़ देंगे। जरूरी है कि विपक्ष संवाद करे और एक साथ आए।
सवाल यह उठता है कि अशोक गहलोत 19 अक्टूबर के बाद अपना इस्तीफा देते है तो राजस्थान का नया मुख्यमंत्री कौन बनेगा? मुख्यमंत्री के लिए डॉ. सीपी जोशी सामने आ रहा है। मुख्यमंत्री के लिए अशोक गहलोत एक महीने पहले ही सोनिया गांधी को डॉ. सीपी जोशी के नाम की सिफारिश कर चुके। इस साथ ही उन्होंने नए मुख्यमंत्री का चयन विधायकों की राय से करने की सलाह दी थी। लेकिन सचिन पायलट की राजस्थान में लोकप्रियता, राजनैतिक पहुंच व राहुल गांधी से उनकी नजदीकीयां देखकर ऐसा नहीं लग रहा कि कांग्रेस आलाकमान शायद राजस्थान के मुख्यमंत्री के रूप में किसी और के चेहरे पर मोहर लगाएगा।
  • Powered by / Sponsored by :