आरयूआईडीपी परियोजना कार्यो की दी जानकारी

आरयूआईडीपी परियोजना कार्यो की दी जानकारी

चूरू, 04 अगस्त। राजस्थान नगरीय आधारभूत विकास परियोजना के तहत सरदारशहर के गिनाणी बास में जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन गुरुवार को किया गया।
इस दौरान कैप अधिकारी श्रीकांत शर्मा ने आरयूआईडीपी परियोजना के तहत किये जाने वाले पेयजल आपूर्ति एवं सीवरेज कार्य जल की बचत में महिलाओं की भूमिका एवं परियोजना कार्यो में सहयोग आदि विषयों पर चर्चा करते हुए परियोजना के तहत चल रहे सीवरेज और पानी प्रोजेक्ट के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि आप इसमें सहयोग करें और अपने परिवार वालों से भी सहयोग के बारे में कहें।
कार्यक्रम में पानी के सरंक्षण पर समुदाय की भूमिका पर बोलते हुए शर्मा ने बताया कि जल ही जीवन है। जल के बिना जीवन की कल्पना मुश्किल है, जीवन के सभी कार्यो का निष्पादन करने के लिए जल की आवश्यकता होती है। जल संसाधन पानी के वह स्रोत हैं जिनका बुद्धिमतापूर्ण उपयोग जरूरी हैं। फर्श को पाइप से धोने की बजाय पौंछे से साफ करें। सेविंग करते वक्त नल को खुला ना छोड़ें। मग में पानी लेकर दाढ़ी करें। इस प्रकार की छोटी-छोटी आदतों से बहुत सारा पीने वाला पानी बचाया जा सकता है, जो आज की बचत और कल का भविष्य है। इसमें बच्चे अपना अहम रोल निभा सकते हैं। इसलिए अब समय आ गया है जब समुदाय को आगे आकर पानी को बचाने के उपाय करने होंगे।
एसओटी मेम्बर भोमसिंह, सुनैना, पूजा ने भी सीवरेज प्रणाली की जानकारी देते हुए बताया कि आपके घर के टॉयलेट , रसोई व बाथरूम को सीवरेज लाइन से आने वाले समय में जोड़ा जायेगा। उन्होंने सीवरेज कार्य से होने वाले फायदों के बारे में अवगत कराते हुए बताया कि हमारा शहर साफ-सुथरा एवं साफ बनेगा, जिससे पर्यावरण सही रहेगा तथा मच्छर-मक्खियां भी कम होंगे। गंदगी से फैलने वाली बीमारियों से छुटकारा मिलेगा जिससे कि जल संरक्षण के प्रति महिलाओं की सहभागिता सुनिश्चित की जा सके।
  • Powered by / Sponsored by :