क्यूआर कोड स्कैन करते ही मिलेगी चिरंजीवी योजना से जुड़े अस्पतालों की जानकारी

क्यूआर कोड स्कैन करते ही मिलेगी चिरंजीवी योजना से जुड़े अस्पतालों की जानकारी

चूरू, 21 सितंबर। चिकित्सा विभाग की महत्ती व आमजन से जुड़ी मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना से जिलेवासियों को जोड़ने के लिए चिकित्सा विभाग की ओर से लगातार मुहिम चलाकार कार्य किया जा रहा है। इसी के तहत दो अक्टूबर को गांधी जयंती पर होने वाली ग्राम सभा व वार्ड सभाओं में आमजन को विभागीय योजना की जानकारी दी जाएगी। वहीं जिले के व्यापक स्तर पर प्रचार प्रसार किया जाएगा।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मनोज शर्मा ने बताया कि ग्रामसभा और वार्ड सभा को लेकर चिकित्सा विभाग की ओर से विशेष प्रकार के पम्पलेट मुद्रित करवाए जा रहे हैं, जिन पर मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की सम्पूर्ण जानकारी के साथ क्यूआर कोड भी अंकित होगा, जिसको स्कैन कर आमजन चिरंजीवी योजना से जुड़े जिले व प्रदेश के सभी अस्पतालों के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। इसके लिए चिकित्सा विभाग की ओर से स्वास्थ्य कर्मियों को अपडेट किया गया। ताकि वे ग्राम सभा व वार्ड सभाओं में जाकर लोगों को योजना में राज्य सरकार की ओर से किए गए नए प्रावधानों की जानकारी दी सकेंगे।
इस योजना के तहत राज्य सरकार की ओर से 10 लाख रूपए तक के कैशलेस उपचार की सुविधा दी जा रही है। योजना के तहत राष्टीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम व सामाजिक आर्थिक जनगणना 2011 के पात्र परिवारों, लघु व सीमांत किसानों, संविदा कर्मियों और कोविड 19 के तहत अनुग्रह राशि प्राप्त करने वाले निराश्रित व असहाय परिवारों की प्रीमियम राशि राज्य सरकार द्वारा वहन की जा रही है। इसके अलावा प्रदेश के वे अन्य परिवार जिनको वर्तमान में केंद्र व राज्य सरकार मेडिक्लेम, मेडिकल अटेन्डेंस नियमों के तहत लाभ नहीं रहा है वे 850 रूपए का भुगतान कर इस योजना से जुड़ सकते हैं। अर्थात राज्य का कोई भी नागरिक योजना से जुड़ सकता है। एनएफएस एवं एसईसीसी के पूर्व से लाभान्वित परिवारों को योजना में पंजीयन करवाने की आवश्यकता नहीं है।
ई मित्र संचालकों को नहीं देना पड़ेगा कोई शुल्क
उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ देवकरण गुरावा ने बताया कि योजना के तहत ई मित्र केंद्र जाकर अपना निशुल्क चिरंजीवी रजिस्टेशन करवाया जा सकता है। रजिस्टेशन के लिए जन आधार कार्ड, जन आधार कार्ड के नंबर या पंजीयन रशीद में से किसी एक का होना आवश्यक है। पंजीकरण के लिए आवेदन शुल्क, प्रीमियम जमा शुल्क एवं प्री प्रिन्टेड कागज पर पॉलिसी दस्तावेज के प्रिन्ट का शुल्क राज्य सरकार द्वारा वहन किया जा रहा है। पंजीकरण के लिए लाभार्थी को ई मित्र केंद्र पर किसी प्रकार के शुल्क का भुगतान नहीं करना है।
  • Powered by / Sponsored by :