समरसता की मिसाल हम सब को देनी होगी - हनुमान सिंह

समरसता की मिसाल हम सब को देनी होगी - हनुमान सिंह

भीलवाड़ा 18 अप्रैल। श्री केशव स्मृति सेवा प्रन्यास की ओर से रविवार को भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जयन्ती पर संगोष्ठी का आयोजन हुआ। कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्रीय कार्यकारिणी सदस्य हनुमान सिंह ने कहा कि सभी हिन्दू सहोदर भाई है, कोई भी हिन्दू अलग नहीं। संगत-पंगत राष्ट्र सर्वोपरि है। समरसता की मिसाल हम सब को देनी होगी। भीम ञसे बाबा साहेब तक की कठिन यात्रा अम्बेडकर जी ने तयकी थी। उन्होंने कहा कि अम्बेडकर ऐसी विभूति थी जिन्होंने मान सम्मान होने के बावजूद नौकरी के दौरान कठिनाईयां सही। कॉलेज में बड़ी तकलीफों से अध्ययन कर आगे बढ़े। राष्ट्र में समरसता बढ़ाने को अपना दायित्व माना।
संगोष्ठी में मुख्य रुपसे ओमप्रकाश चावला, द्वारका प्रसाद कोली, रामपाल गोरण, बंशीलाल बैरवा, प्रकाश मेघवंशी, सोहन लाल मोची, शिव मोरवा आदि ने भाग लिया। इस मौके पर खटीक समाज द्वारा चांदमल सोमानी, डॉ. शंकरलाल माली, हीरालाल टेलर, हनुमान सिंह, दीपक प्रचारक, कैलाश खोईवाल का शाल ओढ़ाकर सम्मान किया।
कार्यक्रम के प्रारम्भ में मां भारती एवं डॉ. अम्बेडकर की तस्वीर पर तिलक लगाकर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन किया गया। सभी को प्रन्यास की गतिविधियों के पत्रक दिये गये। अतिथियों का दुपट्टा पहना, तिलक लगाकर अभिनंदन किया गया। कार्यक्रम में रविन्द्र मानसिंह का, राजेन्द्र गौड़, गोविन्दप्रसाद सोडाणी, ललित चीपड़, विनोद गोखरु का सहयोग रहा। संचालन दीपक सेन ने किया। प्रन्यास के अध्यक्ष हीरालाल टेलर ने सभी का आभार जताया।
  • Powered by / Sponsored by :