अमेरिका फिर से विश्व स्वास्थ्य संगठन में शामिल होगा - नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन

अमेरिका फिर से विश्व स्वास्थ्य संगठन में शामिल होगा - नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन

वॉशिंगटन : अमेरिका के राष्ट्रपति के तौर पर चुने जाने के बाद जो बाइडेन इस बात पर चर्चा हो रही थी कि चीन को लेकर वह क्या रुख अपनाएंगे। अब बाइडेन ने स्पष्टतौर पर कहा है कि वह यह सुनिश्चित करेंगे कि चीन नियम-कायदे के आधार पर काम करे । बाइडेन ने चुनाव प्रचार के दौरान कहा था कि चीन जिस प्रकार से काम कर रहा है, इसके लिए वह उसे दंडित करना चाहते हैं। बाइडेन की इस टिप्पणी के बारे में उनसे पूछे जाने पर वह प्रतिक्रिया दे रहे थे ।
नवनिर्वाचित राष्ट्रपति गवर्नरों के द्विदलीय समूहों के साथ विलमिंगटन स्थित अपने आवास पर बैठक कर रहे थे। बाइडेन से यह पूछा गया था कि क्या दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था पर आर्थिक प्रतिबंध लगाया जाएगा या फिर वहां से आयात और निर्यात होने वाली चीजों पर टैक्स बढ़ाया जाएगा। बाइडन ने कहा, 'चीन को सजा देना यह मामला नहीं है बल्कि यह सुनिश्चित करने का है कि उसे नियम-कायदों के अनुसार काम करना होगा ।

WHO में शामिल होगा अमेरिका
वहीं, बाइडेन ने कहा किया है कि अमेरिका फिर से विश्व स्वास्थ्य संगठन में शामिल होगा। उन इस साल अप्रैल में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने विश्व स्वास्थ्य संगठन से अमेरिका के हटने की घोषणा की थी। उन्होंने कहा कि यह भी एक कारण है कि उनका प्रशासन विश्व स्वास्थ्य संगठन में दोबारा शामिल होने जा रहा है। बाइडन ने कहा कि WHO को कुछ सुधार की आवश्यकता है |

यही नहीं, बाइडेन ने पेरिस जलवायु समझौते में भी फिर से शामिल होने की जरूरत बताई है। उन्होंने कहा, 'हमें यह सुनश्चित करना है कि शेष विश्व और हम एक साथ आएं और तय करें कि कुछ निश्चित नियम हैं जिन्हें चीन को समझना है।
  • Powered by / Sponsored by :