जिला परिषद की साधारण सभा की बैठक सम्पन्न

जिला परिषद की साधारण सभा की बैठक सम्पन्न

उदयपुर, 19 अगस्त/जिला परिषद की साधारण सभा की बैठक सोमवार को जिला प्रमुख शांतिलाल मेघवाल की अध्यक्षता में जिला परिषद सभागार में सम्पन्न हुई। बैठक में उदयपुर सांसद अर्जुनलाल मीणा, उदयपुर ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा, मावली विधायक धर्मनारायण जोशी, झाड़ोल विधायक हीरालाल दरांगी, उप जिला प्रमुख सुंदरलाल भाणावत, भंवर सिंह पंवार, समस्त प्रधान, जिला परिषद सदस्य, जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कमर चौधरी सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं विभागीय अधिकारी मौजूद थे।
बैठक में जनप्रतिनिधियों द्वारा अपने-अपने क्षेत्र की समस्याओं एवं शिकायतों पर प्रकाश डाला गया जिस पर कलक्टर ने संबंधित अधिकारियों को मौके पर जाकर वस्तु स्थिति की जांच करने एवं समय-समय कार्यों की प्रगति के संबंध में रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधि विभागीय कार्यों में लापरवाही के मामलों में तथ्यात्मक जानकारी दें ताकि कार्यविशेष की जांच करवाते हुए कार्यवाही की जा सके। उन्होंने कहा कि जनकल्याण के कार्यों को लापरवाही एवं कोताही करने वाले किसी भी जिम्मेदार व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएंगा।
आरंभ में पूर्व में हुई बैठक की पालना रिपोर्ट पर समीक्षा की गई। बैठक में निर्देशों की पालना में समीक्षा के दौरान कुछ विभागों द्वारा कार्यवाही में ढिलाई बरतने पर नाराजगी जाहिर की गई और कार्यों को शीघ्र सम्पादित कर उसकी रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। पंचायतीराज एवं ग्रामीण विकास के मुद्दों पर चर्चा करते हुए जनप्रतिनिधियों ने नरेगा, केटल शेड निर्माण, पीएम आवास, राजकीय निर्माण कार्यों में अनियमितता एवं घटिया सामग्री का उपयोग, जेटीए की शिथिलता, ग्रामीण गौरव पथ, सांसद-विधायक मद एवं डीएमएफटी के तहत होने वाले निर्माण कार्य, स्थाई अथवा वनाधिकार पट्टे, ग्रेवल सड़क निर्माण आदि के संबंध में आ रही समस्याओं से सदन को अवगत कराया। इस पर जिला कलक्टर ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि इन कार्यों को तय समयावधि में पूर्ण पारदर्शिता एवं गुणवत्ता से सम्पादित करें और इसके लिए संबंधित ठेकेदार को भी पाबंद करे। सांसद मीणा ने ऋषभदेव-खेरवाड़ा में राजकीय निर्माण कार्यों में मिल रही शिकायतों की जांच करने एवं दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही करने को कहा।
जनप्रतिनिधियों से जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी से कहा कि जिन विकास कार्यों की प्रशासनिक एवं तकनीकी स्वीकृति जारी हो चुकी है उनकी वित्तीय स्वीकृति शीघ्र जारी करावें। इस पर सीईओ ने शीघ्र कार्यवाही का आश्वासन दिया। जनप्रतिनिधियों ने तीन साल से अधिक समय से जमे जेटीए को हटाने की भी मांग की।
शिक्षा विभाग के अधिकारियों से चर्चा करते हुए जनप्रतिनिधियों ने अपने क्षेत्र के वि़द्यालयों में विद्यार्थियों के लिए पर्याप्त बैठक व्यवस्था, कक्षा-कक्षों का निर्माण, विभिन्न छात्रवृत्ति योजना, विद्यालय में बाउण्ड्रीवाल, शिक्षकों की स्थिति, विद्यालय तक सड़क निर्माण आदि की आवश्यकता बताई। निरीक्षण दौरान गिर्वा सीबीईओ कार्यालय के कार्मिकों के अनुपस्थित रहने के प्रकरण में सीडीईओ को सख्त कार्यवाही के निर्देश दिए।
जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण के दौरान निर्माण मार्ग पर आने वाले आवास, दुकान, कृषि भूमि आदि के उचित मुआवजे के लिए जनप्रतिनिधियों ने सदन को अवगत कराया। इस संबंध में कलक्टर ने राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों को इस दिशा में उचित कार्यवाही करने के निर्देश दिए। वहीं निर्माण मार्ग के समीप विद्यालय अथवा सार्वजनिक स्थलों पर विकास कार्य करवाने एवं उचित रखरखाव के निर्देश भी कलक्टर ने दिए।
अजमेर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड की समीक्षा के दौरान जनप्रतिनिधियों ने दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना एवं सौभाग्य योजना के कार्यों के संपादन में ढिलाई होने एवं संबंधित ठेकेदार द्वारा राशि वसूलने की बात कही। वहीं विभिन्न क्षेत्रों में विद्युत खम्भे सहीं नही लगना, तारों का लटकना, ट्रांसफार्मर पुराने होने एवं क्षेत्र में हाल में हुई विद्युत दुर्घटना के संबंध में भी सदन को अवगत कराया। इस पर कलक्टर ने विभागीय अधिकारियों को इसकी तुरंत जांच करने एवं आवश्यकतानुसार ट्रासफाॅर्मर बदलने, विद्युत तारों को व्यस्थित करने आदि निर्देश दिए वहीं राशि वसूलने वाले ठेकेदार अथवा कार्मिक के विरुद्ध कार्यवाही करने को भी निर्देशित किया।
बैठक में जनप्रतिनिधियों ने जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग से चर्चा के दौरान विभिन्न क्षेत्रों में पेयजल की अपर्याप्त आपूर्ति, निर्धारित स्थानों पर हैण्डपम्प न लगना, पाइपलाइन का पुराना होना आदि की शिकायत सदन में रखी। सार्वजनिक निर्माण विभाग द्वारा सड़क, पुलिया, भवन आदि निर्माण कार्यों में ढिलाई बरतने एवं कार्यों में अधिक समय लगने की शिकायत भी सदन में रखी गई। जिस पर कलक्टर ने संबंधित अधिकारी को कार्यों को शीघ्र सम्पादित करने एवं निर्माण कार्यों में गुणवत्ता बनाए रखने के निर्देश दिए। इसी प्रकार मावली क्षेत्र की सड़कों की जांच एक माह में करा कर रिपोर्ट करने के निर्देश दिए गए।
वहीं क्षेत्र में राशन डीलर्स द्वारा समय पर राशन नहीं देने, मनमानी करने, राशन की दुकान निर्धारित स्थान से अधिक दूर होने, नेटवर्क की समस्या के कारण पोस मशीन नहीं चलने, राशन डीलर द्वारा भ्रष्टाचार करने आदि रसद विभाग से जुड़ी समस्याएं जनप्रतिनिधियों ने सदन में रखी। इस संबंध में कलक्टर ने डीएसओ को वस्तु स्थिति की जांच कर अवगत कराने एवं दोषी के विरूद्व नियमानुसार कार्यवाही करने के निर्देश दिए।
चिकित्सा विभाग को मौसमी बिमारियों यथा स्वाइन फ्लू के प्रभावी रोकथाम एवं बचाव हेतु विशेष टीम का गठन करने तथा पर्याप्त मात्रा में दवाईयों के उपलब्धता के निर्देश अधिकारियों ने दिए। साथ ही चिकित्सा विभाग की योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन के पात्र जनों को समय पर इनका लाभ देने की बात कही।
बीसी को मेंटेंन करना होगा रजिस्टर:
जिले के विभिन्न क्षेत्रों में बैंक बीसी द्वारा विभिन्न योजनाओं का लाभ आमजन तक समय पर नहीं पहुंचाने की शिकायत पर कलक्टर ने संबंधित अधिकारी को निर्देश दिए कि वे बीसी को पाबंद करें एवं लापरवाही बरतने वाले बीसी के विरुद्ध कार्यवाही करें। इसके साथ ही जनप्रतिनिधियों ने बीसी को रजिस्टर मेंटेन करने का सुझाव भी सदन में दिया जिस पर कलक्टर ने बीसी को रजिस्टर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। कलक्टर ने ई-मित्र के संबंध में आ रही शिकायतों पर भी त्वरित कार्यवाही करने के निर्देश दिए।
बहकावे में न आएं
कलक्टर ने बताया कि हाल ही जिले की ऋषभदेव व खेरवाड़ा पंचायत समिति क्षेत्र में नरेगा केटलशेड निर्माण के दौरान अनियमितता की शिकायत पर प्रशासन ने कड़ा रूख अपनाते हुए कठोर कार्यवाही प्रारंभ कर दी है। शिकायतों की जांच में समय लगता है परंतु किसी को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने क्षेत्रवासियों से इस संबंध में फैलाई जा रही भ्रांतियों से दूर रहने एवं किसी भी प्रकार के बहकावे में न आने का आह्वान किया है।
अधिकारी शिकायतों की प्रतीक्षा न करें
कलक्टर ने बैठक के दौरान सभी विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे अपने विभागों से संबंधित कार्यों एवं संचालित योजनाओं की सतत मॉनिटरिंग करे एवं समय-समय पर इनकी प्रगति रिपोर्ट प्राप्त करें। अधिकारी शिकायत प्राप्त होने की प्रतीक्षा न करे। बल्कि फील्ड विजिट करते हुए कार्यों का निरीक्षण करें एवं उनकी गुणवत्ता एवं समयबद्धता का पूरा ध्यान रखें।
शिकायत की वस्तुस्थिति से अवगत कराएं
कलक्टर ने बैठक में मौजूद सभी जनप्रतिनिधियों से आह्वान किया कि उनके क्षेत्र विशेष में किसी भी प्रकार की शिकायत अथवा समस्या है तो उस स्थान अथवा संबंधित व्यक्ति के संबंध में उन्हें व्यक्तिगत रूप से अवगत कराएं। उनकी प्रत्येक समस्या अथवा शिकायत का त्वरित निस्तारण किया जाएगा और दोषी अधिकारी, कार्मिक अथवा ठेकेदार के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी।
बिजली कनेक्शन के लिए कोई राशि न दें:
बैठक के दौरान कलक्टर ने जनप्रतिनिधियों को स्पष्ट किया कि दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना में बिजली कनेक्शन के लिए किसी भी उपभोक्ता को किसी ठेकेदार या अन्य कार्मिक को किसी प्रकार की राशि देने की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने यह भी बताया कि ट्रांसफार्मर परिवहन के लिए भी किसी प्रकार की राशि नहीं देनी होती है। उन्होंने आह्वान किया कि जनसामान्य में इस बारे में जानकारी दें एवं आमजन को जागरूक करें तथा कोई राशि की मांग करता है तो उसकी शिकायत करें।
छात्रवृत्ति से वंचितों को अवसर:
बैठक में विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति नहीं मिलने के प्रकरण में कलक्टर ने स्पष्ट किया कि विद्यार्थियों के स्तर पर ऑनलाईन आवेदन में कमियों के कारण कुछ छात्रवृत्तियां बकाया हैं। ऐसे में वंचित छात्र संबंधित विद्यालय/महाविद्यालय से संपर्क कर कमियों को दुरस्त करावें ताकि छात्रवृत्ति उनके खातों में जमा हो सके।
ग्रामोत्थान शिविर में होंगे विभिन्न विकास कार्य
जिला परिषद सीईओ चौधरी ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार आगामी दिनों में प्रत्येक ग्राम पंचायत मुख्यालय पर ग्रामोत्थान शिविर आयोजित होगा। इस शिविर में विशेष रूप से पट्टा संबंधी, चारागाह विकास, माॅडल तालाब, विद्यालय में खेल का मैदान, श्मशान/कब्रिस्तान निर्माण सहित अन्य जनराहत के कार्य प्राथमिकता से किए जाएंगे।
सांसद, विधायक व कलक्टर का किया अभिनंदन:
बैठक दौरान नवनिर्वाचित सांसद अर्जुनलाल मीणा, मावली विधायक धर्मनारायण जोशी का स्वागत किया गया वहीं जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी को राज्य स्तरीय सम्मान प्राप्त होने पर अभिनंदन किया गया।
दिवंगत प्रधान मीणा को किया याद
बैठक शुरू होने से पूर्व पूरे सदन ने हाल ही दिवंगत हुए सलुम्बर प्रधान स्व. फूलचन्द मीणा की स्मृति में दो मिनट का मौन रखा और उन्हें श्रृद्धांजलि अर्पित की।
  • Powered by / Sponsored by :