कलक्टर ने छात्रावास अधीक्षकों से किया संवाद, बेहतर व्यवस्थाओं के लिए दिए निर्देश

कलक्टर ने छात्रावास अधीक्षकों से किया संवाद, बेहतर व्यवस्थाओं के लिए दिए निर्देश

उदयपुर, 12 अगस्त/जिले में जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग व सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा संचालित किए जा रहे छात्रावासों की व्यवस्थाओं में सुधार के उद्देश्य से सोमवार को जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी ने समस्त आश्रम छात्रावासों अधीक्षकों की बैठक ली और इनसे संवाद करते हुए बेहतर व्यवस्थाओं के लिए निर्देश प्रदान किए।
कलक्टर ने छात्रावास अधीक्षकों को विद्यार्थियों को छात्रावास में सरकार द्वारा मुहैया करवाई जाने वाली समस्त व्यवस्थाएं उपलब्ध कराने और पढ़ाई के लिए उचित वातावरण तैयार करने के लिए पुरजोर प्रयास करने को कहा।
अव्यवस्थाओं पर जताई नाराजगी:
बैठक में कलक्टर श्रीमती आनंदी ने गत दिनों किये गये निरीक्षण के दौरान सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के जवास छात्रावास तथा जनजाति विभाग के बम्बोरा व भरड़िया छात्रावास में मिली अव्यवस्थाओं पर नाराजगी जताई और इन्हें सुधारने के लिए संबंधित विभागीय अधिकारियों व छात्रावास अधीक्षकों को पाबंद किया। कलक्टर ने कूण छात्रावास में निरीक्षण दौरान पाई गई बेहतर व्यवस्थाओं की सराहना की और अन्य अधीक्षकों को इसे अनुकरणीय बताते हुए अन्य अधीक्षकों को भी छात्रावासों का संचालन उसी के अनुरूप करने के लिए प्रेरित किया।
साफ-सफाई का ध्यान रखने के निर्देश:
बैठक में कलक्टर ने सभी छात्रावासों में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए। उन्होंने रसोई, डाईनिंग हॉल, कमरों एवं शौचालयों की नियमित साफ-सफाई करवाने तथा गद्दे, चद्दर, तकिये आदि को साफ-सुथरा रखने को निर्देशित किया। उन्होंने विद्यार्थियों के स्वास्थ्य को देखते हुए भोजन की गुणवत्ता पर भी विशेष ध्यान देने हेतु निर्देश दिये।
...ताकि विद्यार्थी छात्रावास में रहने की जिद करे:
कलक्टर ने कहा कि सभी छात्रावासों में विद्यार्थियों के सर्वागींण विकास के लिए गतिविधियों की दिनचर्या निर्धारित की जाये ताकि विद्यार्थी घर जाने की बजाय छात्रावास में ही रहने की जिद करे, तभी वार्डन की मौजूदगी की सार्थकता रहेगी । उन्होंने अधीक्षकों को दानदाताओं के सहयोग से छात्रावासों में आवश्यक आधारभूत सुविधाओं को बढ़ाने के लिए कहा गया । साथ ही सभी अधीक्षकों को छात्रावास में शत प्रतिशत ठहराव निश्चित करने के लिए पाबन्द किया। इस दौरान छात्रावासों के मरम्मत कार्यों एवं विद्यार्थियों के लिए कोचिंग कक्षाओं पर भी ध्यान देने की आवश्यकता जताई गई।
इन विषयों पर भी हुई चर्चा:
बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) नरेश बुनकर ने छात्रावासों में नामांकन, प्रवेश, विद्यार्थियों के ठहराव, बायोमेट्रिक उपस्थिति एवं कलेक्ट एप, परीक्षा परिणाम, कोचिंग एवं विद्यार्थियों को दी जाने वाली सामग्री की समीक्षा की । बैठक में जनजाति विभाग के अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी प्रदीप पानेरी और समस्त छात्रावास अधीक्षक उपस्थित रहे।
  • Powered by / Sponsored by :