कलक्टर ने किया कोटड़ा क्षेत्र का दौरा

कलक्टर ने किया कोटड़ा क्षेत्र का दौरा

उदयपुर, 20 अगस्त/ जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी ने मंगलवार को कोटड़ा क्षेत्र का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने पंचायत समिति क्षेत्र में आयोजित हो रहे महात्मा गांधी ग्रामोत्थान शिविरों के साथ पंचायत समिति व एसडीओ कार्यालय, आवासीय विद्यालय, छात्रावास व चिकित्सालयों का निरीक्षण किया और यहां की गतिविधियों का जायजा लेकर महत्त्वपूर्ण दिशा-निर्देश प्रदान किए।
कलक्टर ने कोटड़ा क्षेत्र की 44 पंचायतों में 2 अक्टूबर तक आयोजित होने वाले महात्मा गांधी ग्रामोत्थान शिविरों के आयोजनों की श्रृंखला के तहत मंगलवार को कोटड़ा सेवा केन्द्र पर आयोजित शिविर का निरीक्षण किया और यहां संपादित हो रही गतिविधियों के बारे में जानकारी ली। उन्होंने शिविर में आम जनता के परिवादों को भी सुना और ग्रामीणों को इन शिविरों में पट्टों को जारी करने, भूमिहीन को भू-आवंटन व अन्य गतिविधियों का पूरा-पूरा लाभ उठाने की अपील की। उन्होंने इन शिविरों के माध्यम से ग्रामीण विकास गतिविधियों को संचालित करने और आम जनता से जुड़े कार्यों को क्रियान्वित करने के लिए अधिकारियों को निर्देश भी प्रदान किए।
जनसुनवाई की, अधिकारियों को दिए निर्देश:
कलक्टर ने शिविर निरीक्षण दौरान गा्रमीणों से संवाद किया और अधिकारियों को निर्देश दिए। पंचायत परिसीमन में प्राप्त 22 आपत्तियों पर टीम के माध्यम से जांच कराने व तीन दिन में रिपोर्ट करने को पाबंद किया। इसी प्रकार वनाधिकार के लंबित प्रकरणों को त्वरित गति से निस्तारित करने के लिए वन विभाग को निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने टीएडी द्वारा 12 सामुदायिक पट्टे नहीं भेजने पर भी नाराजगी जताई। कलक्टर ने प्राथमिक विद्यालयों में गुणवत्तायुक्त शिक्षण के लिए अभियान चलाने व बालिका शिक्षा पर ध्यान देने की आवश्यकता जताई। ग्रामीणों ने क्षेत्र में बिजली संबंधित समस्याएं बताई तो कलक्टर ने कहा कि बिजली समस्या के निराकरण के लिए जीएसएस बनाने का प्रस्ताव भेजा गया है और इस संबंध में सकारात्मक कार्यवाही जारी है। कलक्टर ने पट्टा आवेदन कम होने पर तहसीलदार व एसडीओ को निर्देश दिए कि अधिकाधिक लोगों को पट्टे आवंटित हो । इस मौके पर प्रधान मुरारीलाल बुमरिया, एसडीओ जितेन्द्र पण्ड्या, विकास अधिकारी धनपतसिंह, तहसीलदार भाणाराम मीणा, समाजसेवी कयूम खान और बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।
बैंक मैनेजर को फटकार:
शिविर में पहुंची महिलाओं से संवाद दौरान कलक्टर को एक महिला ने पालनहार योजना के तहत पेंशन राशि प्राप्त नहीं होने की जानकारी दी तो मौके पर कलक्टर ने संबंधित बैंक के मैनेजर को मौके पर बुलाया और जानकारी ली। ग्रामीणों ने बैंक मैनेजर द्वारा अभद्रता किए जाने की जानकारी दी तो कलक्टर ने मैनेजर का फटकार लगाई।
ढिलाई पर जताई नाराजगी:
कलक्टर ने शिविर स्थल पर मात्र दो आधार मशीनों से 13 आधार कार्ड तैयार किए जाने की जानकारी पर नाराजगी जताई व आधार मशीन संचालक को शिविर स्थल पर पर्याप्त मशीनें लाने के निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने ब्लॉक स्तर के अधिकारियों की बैठक ली और विभागीय योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन के निर्देश दिए।
छात्रावासों व अस्पतालों का किया निरीक्षण:
क्षेत्रीय भ्रमण दौरान कलक्टर आनंदी ने एकलव्य स्कूल छात्रावास कोटड़ा और जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग द्वारा संचालित मामेर के आश्रम छात्रावास का निरीक्षण किया और यहां की व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली। उन्होंने छात्रावासों में साफ-सफाई रखने और भोजन की गुणवत्ता का खयाल रखने के निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने विद्यार्थियों की कोचिंग व अन्य सुविधाओं के बारे में भी जानकारी ली।
छात्रावासों के निरीक्षण दौरान जहां-तहां गुटखा की पीक लगी गंदगी देकर हॉस्टल वार्डन को फटकारा। उन्होंने शौचालयों की भी नियमित सफाई के निर्देश दिए। मामेर पीएचसी व कोटड़ा सीएचसी के निरीक्षण दौरान कलक्टर ने चिकित्साधिकारियों व कार्मिकों को एक्टिव रहने और मिजल्स रूबेला टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने चुप्पी तोड़ो, खुलकर बोलो अभियान के तहत भी जनजागरूकता पैदा करने को पाबंद किया।
वेबसाईट का लोकार्पण:
विकास अधिकारी धनपतसिंह ने बताया कि ग्रामोत्थान शिविर के दौरान गतिमान प्रशासन बस के माध्यम से ग्रामीणजनों ने फोटोकॉपी और फोटोग्राफी सुविधा का लाभ उठाया और अपने कार्यों को संपन्न करवाया। इस दौरान पंचायत समिति कोटड़ा की वेबसाईट का भी शुभारंभ किया गया। इस वेबसाईट में विभिन्न लोककल्याणकारी योजनाओं के आवेदन फार्म, स्कील ट्रेनिंग रूरल ट्राईबल टूरिज्म, वनाधिकार पट्टे और अन्य जानकारियां उपलब्ध कराई गई है।
  • Powered by / Sponsored by :