शिल्पग्राम में तीन दिवसीय ऋतु वसंत 15 से शास्त्रीय नृत्यों का फ्यूज़न

शिल्पग्राम में तीन दिवसीय ऋतु वसंत 15 से शास्त्रीय नृत्यों का फ्यूज़न

उदयपुर, 14 मार्च। पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र की ओर से ग्रामीण शिल्प एवं लोक कला परिसर शिल्पग्राम में शास्त्रीय और आधुनिक कलाओं के समारोह ऋतु वंसत का आयोजन 15 माचग् से होगा। उदयपुर के कला रसिकों को अगले तीन दिन तक शास्त्रीय नृत्यों का फ्यूज़न, बांसुरी वादन और अचल स्वर पंचम जैसे विशेष आयोजन देखने को मिलेंगे।
केन्द्र के अतिरिक्त निदेशक सुधांशु सिह ने बताया कि शिल्पग्राम में बसंत के आगमन के बाद यह विशेष आयोजन पिछले कुछ सालों से किया जा रहा है। शिल्पग्राम में पलाश के वृक्ष पर खिले टेसू के फूलों के रंग और वासंती बयार के साथ आगामी तीन दिन कला के अनूठे रूप देखने को मिलेंगे। शिल्पग्राम के मुक्ताकाशी रंगमंच पर आयोजित इस उत्सव के पहले दिन शुक्रवार 15 मार्च को नई दिल्ली के अमेजिया दल द्वारा भारत के शास्त्रीय नृत्यों का समागम प्रमुख आकर्षण होगा जिसमें कथक की नजाकत, भरतनाट्यम की मुद्राएँ, ऑडिसी का लास्य देखने को मिलेगा।
उत्सव के दूसरे दिन 16 मार्च को फ्ल्यूट सिस्टर्स के नाम से विख्यात बांसुरी वादक बहने देबोप्रिया एवं सुचिस्मिता द्वारा अनूठे अंदाज में युगल बांसुरी वादन प्रस्तुत किया जायेगा।
तीन दिवसीय ऋतु वसंत के आखिरी दिन रविवार 17 मार्च को पुणे की नीश एन्टरटेनमेन्ट्स द्वारा अचल स्वर.....पंचम में पंचम दा के लोकप्रिय संगीत को एक अनूठे अंदाज में दर्शाया जायेगा। तीन दिवसीय इस आयोजनों में कला रसिकों के लिये प्रवेश निःशुल्क होगा।
  • Powered by / Sponsored by :