जिले की सार्वजनिक वितरण प्रणाली के कार्य को सराहा, अधिकारियों के साथ की समीक्षा

जिले की सार्वजनिक वितरण प्रणाली के कार्य को सराहा, अधिकारियों के साथ की समीक्षा

उदयपुर, 04 जनवरी/ भारत सरकार के खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग के संयुक्त सचिव एस. जगन्नाथन ने कहा कि जिले की सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत उपभोक्ता हित में किये जा रहे कार्यं सराहनीय है। शुक्रवार को कानुपर क्षेत्र में उचित मूल्य दुकानों, अन्नपूर्णा भण्डार आदि का निरीक्षण करने के पश्चात उन्होंने विभागीय समीक्षा बैठक में उन्होंने यह बात कही। बैठक में खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामलात विभाग की शासन सचिव मुग्धा सिन्हा, सभागीय आयुक्त भवानी सिंह देथा, जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी, जिला रसद अधिकारी गीतेश श्री मालवीय सहित अन्य संबंधित विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।
बैठक के दौरान श्री जगन्नाथन ने कहा कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली में कम्प्यूटर एवं नवीनतम तकनीकी के उपयोग में राजस्थान ने उल्लेखनीय प्रदर्शन किया है। उदयपुर जिले की विपरीत भौगोलिक परिस्थितियों में भी पोस मशीनों द्वारा सुचारू राशन वितरण इसका पुख्ता प्रमाण है।
राजस्थान की केन्द्र सरकार से अपेक्षाएं
खाद्य सचिव श्रीमती सिन्हा ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली को लेकर प्रदेश की केन्द्र से अपेक्षाओं के बारे में श्री जगन्नाथन को अवगत कराया। श्रीमती सिन्हा ने कहा कि अन्त्योदय परिवारों को प्रति परिवार की बजाय राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना की तरह प्रति इकाई गेहूं वितरण किया जाए। प्रदेश में पॉस मशीने तीन साल पुरानी हो चुकी है जिनको अपग्रेड करने हेतु केन्द्र सरकार की ओर से बजट दिया जाए। उन्होंने कहा कि प्रदेश को सन 2011 के जनगणना के आधार पर राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के तहत गेहूं आवंटित किया जा रहा है जो कि अपर्याप्त है। अतः प्रतिवर्ष लगभग 2.2 प्रतिशत की बढ़ोतरी के आधार पर आवंटन की सीमा बढ़ाई जाए। राशन डीलरों के बढ़े हुए कमीशन में केन्द्र सरकार की भागीदारी संबंधी लम्बित कार्यवाही शीघ्र पूरी की जाए। वर्तमान में परिवहन की दर 65 रुपये प्रति किमी है जिसे 100 रुपये तक बढ़ाने की कार्यवाही की जाए। वित्तीय वर्ष 2019-20 का प्रदेश को गेहूं आवंटन के कोटे का 75 प्रतिशत हिस्सा 1 अप्रेल तक अग्रिम उपलब्ध कराया जाए।
पोस से राशन वितरण प्रणाली का किया निरीक्षण
संयुक्त सचिव श्री जगन्नाथन ने कानपुर में उचित मूल्य दुकान एवं क्रय-विक्रय सहकारी समिति का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने पोस मशीन से खाद्यान्न वितरण के कार्य का अवलोकन किया एवं इस संबंध में वहां उपस्थित लाभार्थियों, राशन डीलर एवं रसद विभाग के अधिकारियों से चर्चा की। उन्होंने अन्नपूर्णा भण्डार एवं एफसीआई के गेहूं गोदाम का निरीक्षण भी किया। एफसीआई गोदान पर उन्होंने ऑनलाइन एवं ऑफलाइन गेहूं आवंटन की प्रक्रिया का अवलोकन भी किया।
  • Powered by / Sponsored by :