वरदान बने क्यूरेनटाईन शिविर, प्रवासी श्रमिकों ने शिविरों में तैयार किए कपड़े के मास्क

वरदान बने क्यूरेनटाईन शिविर, प्रवासी श्रमिकों ने शिविरों में तैयार किए कपड़े के मास्क

उदयपुर, 16 अप्रेल/वैश्विक महामारी घोषित हो चुके कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए जिले में विभिन्न सरकारी और निजी संस्थाओं में स्थापित किए गए क्यूरेनटाईन शिविर वरदान साबित हो रहे हैं। जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी के निर्देशानुसार इन शिविरों में जहां योग की कक्षाएं लगाई जा रही है वहीं एक अनूठा नवाचार करते हुए इन शिविरों में अब सिलाई मशीनों की व्यवस्था करते हुए कुशल श्रमिकों से मास्क तैयार करवाएं जा रहे हैं ।
प्राप्त जानकारी अनुसार वल्लभनगर उपखण्ड क्षेत्र स्थित सिंघानिया विश्वविद्यालय के भवन में स्थापित किए गए क्यूरेनटाईन शिविर में गुरुवार को शिविर प्रभारी व उपखण्ड अधिकारी शैलेश सुराणा द्वारा नवाचार किया गया और यहां पर क्यूरेनटाईन के लिए भर्ती किए गए प्रवासी श्रमिकों से जब उनके पेशे के बारे में जानकारी ली गई तो करीब 30 से 40 श्रमिकों ने टेलरिंग व्यवसाय से जुड़ा होने की जानकारी दी । इसके बाद इन लोगों को चिह्नीत करते हुए उनके लिए पांच सिलाई मशीनों और सूती कपड़े की व्यवस्था की गई । अब इनमें से 12 श्रमिकों द्वारा गुरुवार से मास्क बनाने का कार्य प्रारंभ किया गया है और बड़ी संख्या में मास्क सिलकर तैयार किए गए हैं । उन्होंने बताया कि इसी प्रकार अन्य श्रमिकों को भी उनकी रूचि के अनुसार कार्यों में संलग्न करने के प्रयास किए जा रहे हैं ताकि वे लोग सृजनात्मक गतिविधियों से जुड़े रहें ।
  • Powered by / Sponsored by :