चिकित्सा विभाग की मासिक समीक्षा बैठक सम्पन्न

चिकित्सा विभाग की मासिक समीक्षा बैठक सम्पन्न

उदयपुर, 23 अगस्त/चिकित्सा विभाग की मासिक समीक्षा बैठक शुक्रवार को दो सत्रों में आयोजित की हुई जिसमें प्रथम सत्र में खण्ड कोटड़ा, झाड़ोल, गोगुन्दा व सराड़ा एवं सायंकालीन सत्र में मावली, लसाड़िया, ऋषभदेव, सलुम्बर व शहरी क्षैत्र के चिकित्साधिकारियों ने भाग लिया। बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. दिनेश खराड़ी ने जिले के चिकित्सालयों के भवनों की स्थिति के बारे में जानकारी ली व जर्जर भवन व मरम्मत योग्य भवनों की लिस्ट तैयार की गइ्र्र। बैठक में जिला कलक्टर के कोटड़ा दौरे के दोरान पाई गयी खामियों पर चर्चा की गयी एवं उनके त्वरित सुधार के निर्देश दिए।
उप जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. राघवेन्द्र राय ने मौसमी बिमारियों पर चर्चा करते हुए मलेरिया के लिये ब्लड स्लाईड कम बनाये जाने पर इसे बढ़ाने को कहा। वहीं ठहरे हुए पानी में एमएलओ और डीडीटी का छिड़काव करवाने को कहा। बारिश के पानी से होने वाली बीमारियों पर जानकारी दी व पानी के सेम्पल जाॅच करवाने को कहा। कुष्ठ रोगियों की खोज के लिये सर्वे के लिये दिशा निर्देश दिये। गैर संचारित रोगों के बारे में डॉ. विकास मीणा ने जानकारी दी।
जिला प्रजनन व शिशु स्वास्थ्य प्रोग्राम के संबंध में डॉ. जी.एस.राव. ने समीक्षा करते हुए एएनसी रजिट्रेशन पूर्ण करने पर जोर दिया। मीजल्स -रूबेला टीकाकरण अभियान पर चर्चा करते हुए डॉ. अक्षय व्यास ने बताया कि जिले में अब तक 7 लाख 55 हजार बच्चों को एम.आर का टीका लगाया जा चुका हैं। कोटड़ा खण्ड में टीकाकरण कम होने पर जिले से टीम गठित कर प्रोग्राम पुर्ण करने के निर्देश दिये।
अतिः मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. रागिनी अग्रवाल ने परिवार कल्याण कार्यक्रम पर चर्चा की और नसबन्दी केस कम होने पर नाराजगी जताते हुए जीरो केस वाली एएनएन को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। पीपीआईयूसीडी व अन्तरा का काम अच्छा होने पर भी आनलाइन एन्ट्री समय पर नहीं होने से जिले का टारगेट कम आ रहा है इसके लिये सभी डाटा एन्ट्री ओपरेटर को पाबन्द कर कार्य शीघ्र कराने के निर्देश दिए। ईसीटीएस की एन्ट्री भी पूर्ण करने पर जोर दिया।
राज्य देश में और जिला प्रदेश में प्रथम
मुख्यमंत्री निःशुल्क दवा योजना पर चर्चा करते हुए डॉ. राजेश भराड़िया बताया कि राजस्थान राज्य पूरे भारत में इस योजना में प्रथम रहा है और उदयपुर राजस्थान राज्य में प्रथम है। आज जिले के सभी चिकित्सालयों में आवश्यक दवाईया पूर्ण रूप से सप्लाई की गयी है। सीएमएचओ डॉ. खराड़ी ने कहा कि स्वाईन फ्लु और सर्पदंश की दवा हर चिकित्सालयों में उपलब्ध होनी चाहिए। राजश्री एवं जननी सुरक्षा योजना पर चर्चा कर महिलाओं को इसका लाभ समय पर देने के आदेश जारी किये।बैठक में डॉ. देवेन्द्रसिंह राव ने टीबी पर चर्चा कर जिले की स्थिति के बारे में बताया। मिसाल रैकिंग में सभी संस्थानों को अपनी स्थिति से अवगत करया गया।
  • Powered by / Sponsored by :