चाइल्डलाइन द्वारा रेस्क्यू अभियान के तहत भिक्षावृत्ति करने वाले 6 बालको को अपने संरक्षण में लिया

चाइल्डलाइन द्वारा रेस्क्यू अभियान के तहत भिक्षावृत्ति करने वाले 6 बालको को अपने संरक्षण में लिया

चाइल्डलाइन एवं रेलवे सुरक्षा बल ने रेलवे स्टेशन एवं सर्कुलेटिंग एरिया में रेस्क्यू अभियान चलाकर भिक्षावृत्ति करने वाले 6 बालको को अपने संरक्षण में ले लिया। चाइल्डलाइन द्वारा सभी बच्चो को बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश किया। समितिके अध्यक्ष राकेश सोनी के आदेश से सभी बालको को मर्सी आश्रय गृह में अस्थायी तौर पर प्रवेश दिलाया गया है। चाइल्डलाइन में परामर्श के दौरान जानकारी मिली हे कि 5 बालक गंगापुर सिटी के रहने वाले हैं जबकि एक बालक महावीर जी का रहने वाला है। चाइल्डलाइन टीम द्वारा बालको से परामर्श कर उनकी दिन चर्या एवं परिजनो के बारे में समुचितजानकारी जुटाई जा रही है। बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष राकेश सोनी ने बताया कि नवीन शिक्षण सत्र का आरम्भ हो चुका है ऐसे में जो बच्चे शिक्षा से वंचित हैं उनको शिक्षा से जोडना पहली प्राथमिकता है। इसके लिए चाइल्डलाइन टीम को कचरा बिनने वाले, भिक्षावृत्ति करने वाले, एवं लावारिस घूमने वाले बच्चो को रेस्क्यू करने के निर्देश दिये गये है आज रेस्क्यू किये गये बालको में से कोई भी बालक वर्तमान में स्कूल नही जाता है। चाइल्डलाइन टीम बालको के घर एवं स्थान की विजिट कर उनको स्कूल में पुन:प्रवेश दिलाने के प्रयास करेगी ताकि बच्चो को भिक्षावृत्ति से छुटकारा मिल सके और शिक्षण प्रशिक्षण प्राप्त कर सके। रेस्क्यू अभियान में रेलवे सुरक्षा बल के सबइंस्पेक्टर बीरबल, राकेश कुमार गौतम, मनोज कुमार पाल वही चाइल्डलाइन की टीम में कोर्डीनेटर मुकेश वर्मा, सर्वेश सिहं, कपिल स्वर्णकार, लवली जैन, जितेश शर्मा एवं सांवरिया मीणा शामिल रहे।
  • Powered by / Sponsored by :