आरबीआई ने रिवर्स रेपो रेट में 0.25 प्रतिशत की कटौती की

आरबीआई ने रिवर्स रेपो रेट में 0.25 प्रतिशत की कटौती की

नई दिल्लीः कोरोनो वायरस महामारी की वजह से देश में जो आर्थिक स्थितियों पर बनी है उसे लेकर आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए कुछ घोषणाएं की. आरबीआई ने रिवर्स रेपो रेट में 0.25 प्रतिशत की कटौती की है और इसे 4 प्रतिशत से घटाकर 3.75 प्रतिशत पर कर दिया गया है. बैंक ज्यादा कर्ज दें इसलिए रिवर्स रेपो रेट में कटौती की गई है.
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मीडिया को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए RBI ने 50 हजार करोड़ की मदद दी. नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलमेंट को 25 हजार करोड़, स्मॉल इंडस्ट्री डेवलमेंट बैंक ऑफ इंडिया को 15 हजार करोड़ रुपये और नेशनल हाउंसिंग बैंक को 10 हजार करोड़ की राहत मिलेगी.
आरबीआई गर्वनर ने कहा कि हमारे देश की स्थिति ओर देशों से ठीक है. कि देश में बैंकों के पास पर्याप्त पैसा है. ATM सुचारू रूप से चल रहे हैं. देश में लॉकडाउन की स्थिति के दौरान 1.20 लाख करोड़ रुपए की करेंसी जारी की है. मंदी के बीच भारत की विकास दर 1.9 प्रतिशत रहने का अनुमान है. हालांकि उन्होंने कहा कि जी-20 देशों में भारत की स्थिति फिर भी बेहतर है. देश में विदेशी मुद्रा का पर्याप्त भंडार है.
कोरोना से पूरी शक्ति से लड़ रहा है देश:
गर्वनर शक्तिकांत दास ने कहा कि कोरोना महामारी से लड़ने के लिए देश पूरी शक्ति से लड़ रहा है. आवश्यक सेवाओं के लिए जो डॉक्टर, नर्स, मैडिकल स्टाफ पुलिसकर्मी, बैंककर्मी और अन्य सभी जो काम कर रहे हैं, राष्ट्र उनके प्रति कृतज्ञ है.
  • Powered by / Sponsored by :