कानि0 भर्ती परीक्षा में झांसा देने वाली गैंग का मुख्य सरगना गिरफ्तार

कानि0 भर्ती परीक्षा में झांसा देने वाली गैंग का मुख्य सरगना गिरफ्तार

जयपुर, 20 जुलाई। राजस्थान पुलिस में कॅान्स्टेबल भर्ती परीक्षा में झांसा देकर अभ्यर्थियों को ठगने वाली गैंग के मुख्य सरगना भरतपुर जिले के डीग थाना के बरौली चौथ के रहने वाले सूरजपाल पुत्र नन्दकिशोर जाट हाल निवासी बी-98 आनन्द लोक थाना हाईवे मथुरा उ0प्र0 को गिरफ्तार किया गया है।
जिला पुलिस अधीक्षक भरतपुर श्री अनिल कुमार टांक ने बताया कि कॉन्स्टेबल भर्ती निष्पक्ष परीक्षा हेतु निर्देशानुसार एक विशेष टीम का गठन किया गया। इस टीम में अति0 पुलिस अधीक्षक डीग श्री महेश मीना, सहायक पुलिस अधीक्षक श्री धर्मेन्द्रसिंह आईपीएस, वृताधिकारी वृत डीग श्री अनिल कुमार मीना के निकट सुपरवीजन एवं थानाधिकारी थाना डीग श्री सत्यप्रकाश पु0नि0, थानाधिकारी थाना उद्योगनगर श्री रामनाथसिंह पु0नि0, भरतपुर की एसओजी टीम, साईबर एक्सपर्ट कानि0 श्री पदमसिंह, थाना डीग के हैड कानि0 श्री नवलकिशोर, श्रीचन्द, कानि0 श्री समन्दरसिंह, श्री लाखनसिंह, श्री मुरारी व कम्प्यूटर एक्सपर्ट श्री पवन शर्मा को शामिल किया गया।
श्री टांक ने बताया कि श्री रवि कुमार ने एक रिपोर्ट पुलिस थाना डीग में दर्ज कराई कि मथुरा निवासी अतुल जाट ने पुलिस कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा में चयन करवाने के झांसे में लेकर एडवांस के तौर पर 2 लाख रूपये व मूल कागजात ले लिये है। इस संदर्भ में पुलिस थाना डीग पर धोखाधडी का मु0न0 411/18 धारा 420, 406 आई0पी0सी0 में पंजीबद्ध किया गया था। सूचनाओं के संकलन एवं तकनीकि साधनों से भर्ती परीक्षा में धांधली करने वाले अपराधियों का चिन्हीकरण किया गया।
अपराधियों की तलाश के दौरान ऐसे व्यक्तियों को चिन्हित किया गया जो परीक्षा में धांधली कराने आदि का झांसा देकर रूपये एवं दस्तावेज ऐेंठ लेते थे। टीम द्वारा कार्यवाही करते हुये आरोपी सूरजपाल को गिरफतार किया गया है। जिसने प्रारम्भिक पूछताछ में अब तक 5 दर्जन से अधिक लोगों को विभिन्न विभागों में नौकरी लगाने के नाम पर करोडों रूपयों की धोखाधडी कर रूपये हडप लिये हैं।
आरोपी सूरजपाल राजकीय प्राईमरी विद्यालय पीरौडियां टप्पल जिला अलीगढ उ0प्र0 में अध्यापक के पद पर कार्यरत है। वर्ष 2005-06 से इसने अतुल जाट निवासी घांघौली थाना टप्पल अलीगढ के साथ मिलकर नेवी तथा पुलिस की प्रतियोगी परीक्षाओं में भर्ती कराने के नाम पर सि़द्धार्थ शिक्षण संस्थान मथुरा में खोल रखी है। प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले अभ्यार्थियों से सम्पर्क कर जेल पुलिस, रेल्वे, राजस्थान पुलिस, उत्तरप्रदेश पुलिस आदि में नौकरी लगाने का झांसा देकर उनसे मोटी रकम व मूल दस्तावेज अपने पास रख लेते है। आरोपी से अभी गहनतापूर्वक पूछताछ जारी है।
  • Powered by / Sponsored by :