सरकारी नर्स व दाई सहित तीन को किया गिरफ्तार

सरकारी नर्स व दाई सहित तीन को किया गिरफ्तार

जयपुर, 5 दिसम्बर। राजस्थान पीसीपीएनडीटी टीम ने मंगलवार को पंजाब में बड़ी इंटरस्टेट डिकाय कार्रवाई करते हुए भ्रूण लिंग जांच मामले में बडे रैकेट का पर्दाफाश करते हुये सरकारी नर्स व दाई सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। उल्लेखनीय है कि राज्य दल की यह अब तक की 45वीं इंटरस्टेट सहित कुल 140वीं डिकॉय कार्रवाई है।
अध्यक्ष राज्य समुचित प्राधिकारी पीसीपीएनडीटी एवं मिशन निदेशक एनएचएम श्री नवीन जैन ने बताया कि मुखबिर के जरिए टीम को सूचना मिली, जिसकी पुष्टि करने पर पता चला कि दलाल श्रीगंगानगर व पड़ोसी राज्यों में गर्भवती महिलाओं को ले जाकर भ्रूण लिंग जांच करवाते हैं। टीम ने लगातार निगरानी करते हुए मुखबिर के जरिए दलाल श्रीगंगानगर के श्यामनगर निवासी प्रमिलादेवी पत्नी राकेश कुमार जाट से संपर्क साधा। जिसने एक सप्ताह पूर्व गर्भवती व सहयोगी को जिला अस्पताल में बुलाया लेकिन आगे डॉक्टर से समय नहीं मिलने का कहकर मंगलवार अलसुबह का समय दिया और श्रीगंगानगर जिला मुख्यालय पर बुलाया। मंगलवार सुबह दलाल ने भ्रूण लिंग जांच करवाने की एवज में अस्सी हजार रुपए लिए। मंगलवार सुबह ही दूसरी दलाल श्रीगंगानगर के अरायण निवासी संध्या पत्नी गुरविंद्र जाति जट सिख पहुंची और दोनों ने पहले डिकॉय गर्भवती महिला को पहले जिला मुख्यालय पर घुमाया और फिर उसे ट्रेन से लेकर पंजाब के मलोट पहुंची।
श्री जैन ने बताया कि रेलवे स्टेशन पर तीसरी महिला दलाल पंजाब के ख्यूवाली निवासी अर्शदीप पत्नी कमलदीप, जाति जट सिख मिले। स्टेशन पर दलाल संध्या एवं अर्शदीप डिकाय गर्भवती महिला को निजी वाहन से फिरोजपुर जिले के मक्खू कस्बे की ढाणी में ले गए, जहां गर्भवती की अपंजीकृत मशीन से सोनोग्राफी कर भ्रूण लिंग के बारे में बताया। इसके बाद महिला दलाल गर्भवती महिला को लेकर वापिस मलोट पहुंची, जहां टीम ने तीनों महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद टीम ने गर्भवती महिला व पंजाब की महिला दलाल को लेकर पंजाब पुलिस के साथ मक्खू में बनी ढाणी में दबिश दी। यहां से अपंजीकृत मशीन सहित कथित चिकित्सक व दलाल अवनीत सिंह गायब मिले, जिनकी तलाश जारी है।
राजस्थान में सख्ती के चलते पंजाब पहुंच रहे दलाल
एमडी नवीन जैन ने बताया कि राजस्थान में हो रहे लगातार डिकॉय और जागरूकता कार्यक्रमों के चलते भ्रूण लिंग जांच पर रोक लगी है लेकिन दलाल अब भी सक्रिय हैं वे पड़ोसी राज्यों की ओर रुख कर रहे हैं। यही वजह है कि राजस्थान टीम लगातार इंटरस्टेट डिकाय कार्रवाई कर रही है।
  • Powered by / Sponsored by :