राजस्थान के करौली जिले में जमीन विवाद को लेकर एक पुजारी को जलाकर मार दिया

राजस्थान के करौली जिले में जमीन विवाद को लेकर एक पुजारी को जलाकर मार दिया

राजस्थान के करौली जिले के बुकना गांव में जमीन विवाद को लेकर एक पुजारी को जलाकर मार डाला गया है. जलकर जख्मी होने की हालत में पुजारी को अस्पताल ले जाया गया जहाँ इलाज के दौरान पुजारी ने दम तोड़ दिया है. आरोप है कि दबंगों ने जमीन पर कब्जा करने के मामले में पुजारी को जलाकर मार डाला.

परिवारवाले ने एमएसएस अस्पताल जयपुर के बाहर धरने पर बैठ गये है. राजधानी जयपुर सहित करौली जिले में पुजारियों और ब्राह्मण समाज द्वारा घटना का जबरदस्त विरोध किया जा रहा है.
इस दौरान पुलिस अफसर और परिवार के बीच बातचीत चल रही है. सपोटरा एसएचओ को सस्पेंड करने का निर्णय लिया जा सकता है. साथ ही शव को सुरक्षा में करौली पहुंचाया जायेगा. मामले की जांच के लिए उच्च अधिकारी करौली जा सकते हैं.
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि सपोटरा, करौली में बाबूलाल वैष्णव जी की हत्या अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण एवं निंदनीय है,सभ्य समाज में ऐसे कृत्य का कोई स्थान नहीं है. प्रदेश सरकार इस दुखद समय में शोकाकुल परिजनों के साथ है. घटना के प्रमुख आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है एवं कार्रवाई जारी है. दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा.
इस मामले में केंद्रीय जल संसाधन मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने ट्वीट कर कहा, 'करौली में एक मंदिर के पुजारी को जिंदा जला देना राजस्थान की दुर्दशा का हाल बता रहा है. करौली में एक मंदिर के पुजारी को जिंदा जला देना राजस्थान की दुर्दशा का हाल बता रहा है।
अशोक जी राजस्थान को बंगाल बनाना चाहते हो या राज्य जिहादियों को सौंप दिया है! या इसका भी ठीकरा अपने राजकुमार की तरह मोदी जी या योगी जी पर फोड़ोगे ? षडयंत्रों से समय मिले तो काम भी कर लें !
ब्राह्मण समाज, पुजारी संघ, ब्राह्मण समाज, बजरंग दल, भाजपा कार्यकर्ताओं ने पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन देकर आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार कर उन्हें कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की मांग की है. इसके साथ ही पीड़ित परिवार को 50 लाख रुपये का मुआवजा और एक सरकारी नौकरी देने की मांग की गई है. आंदोलन की चेतावनी दी गई है.
करौली के एसपी मृदुल कच्छवा ने कहा कि मरने से पहले मंदिर के पुजारी बाबूलाल ने अस्पताल में पुलिस को एक बयान दिया कि आरोपी कैलाश मीणा और उनके बेटों सहित कुछ प्रभावशाली लोगों ने उनकी जमीन को अतिक्रमण करने की कोशिश की और विवाद के दौरान आरोपियों ने उस बाड़ को आग लगा दी, जिसमें पुजारी गंभीर रूप से जल गए थे।
इधर घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक मृदुल कच्छावा ने 6 स्पेशल टीम गठित कर घटना के मुख्य आरोपी कैलाश मीणा को गिरफ्तार कर लिया, वहीं अन्य आरोपियों की तलाश जारी है.
  • Powered by / Sponsored by :