शहीदों के अपमान के लिए माफी मांगें गहलोत : मुख्यमंत्री

शहीदों के अपमान के लिए माफी मांगें गहलोत : मुख्यमंत्री

बानसूर/कोटपूतली/नीम का थाना/जयपुर, 22 सितम्बर। मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने कहा कि 14 अगस्त को हमने सीमावर्ती जिलों में ‘शहादत को सलाम’ कार्यक्रम आयोजित किया। लेकिन हमारी सीमाओं की रक्षा के लिए अपने प्राण न्यौछावर करने वाले वीर शहीदों की याद में आयोजित इस कार्यक्रम को पूर्व मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने पैसे की बर्बादी बताया। ऐसा कहकर पूर्व मुख्यमंत्री ने हमारे शहीदों और हमारे जांबाज सैनिकों का अपमान किया है, जिनकी वजह से आज हम और हमारा देश सुरक्षित है। शहीदों के इस अपमान के लिए प्रदेश की जनता उन्हें माफ नहीं करेगी। उन्हें इसके लिए जनता से माफी मांगनी चाहिए।
श्रीमती राजे शनिवार को बानसूर में आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहीं थी। उन्होंने कहा कि इन लोगों के लिए देश हित से पहले खुद का हित है, लेकिन हम अपने शहीदों के लिए सब कुछ न्यौछावर करने के लिए तैयार हैं।
शहीद सैनिकों के आश्रितों को मिलेगी सरकारी नौकरी
मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने देश की रक्षा के लिए अपनी जान की बाजी लगा देने वाले शहीदों के परिवारों के लिए कई कल्याणकारी कदम उठाए हैं। 15 अगस्त 1947 के बाद शहीद हुए सैनिकों के आश्रितों को सरकारी नौकरी देने, मैडल धारकों की पुरस्कार राशि में बढ़ोतरी करने और पूर्व सैनिकों को राज्य सेवा में 5 प्रतिशत आरक्षण जैसे प्रावधान किए गए हैं।
एनडीए के लिए दिया जाएगा विशेष प्रशिक्षण
श्रीमती राजे ने कहा कि राष्ट्रीय रक्षा अकादमी में जाने के इच्छुक 11 वीं एवं 12 वीं कक्षा के बच्चों को विशेष प्रशिक्षण देने के लिए सीकर जिले में महाराव शेखाजी के नाम पर एक स्कूल शीघ्र स्थापित किया जाएगा। इसके लिए 21 करोड़ रूपए का बजट स्वीकृत करने के साथ भूमि आवंटन भी कर दिया गया है। इस आवासीय संस्थान में ब्रिगेडियर रैंक के सेवानिवृŸा आर्मी ऑफिसर डायरेक्टर हांगे।
शहीदों का सम्मान भत्ता दोगुना करने की घोषणा
मुख्यमंत्री ने शनिवार को नीम का थाना में शहीदों के परिवारों को मिलने वाले सम्मान भत्ते को दोगुना करने की घोषणा की। साथ ही शहीद के परिजनों के समस्याओं के निस्तारण के लिए प्रदेश के सभी थानों में शहीदों और सैनिकों की जानकारी संधारित करवाने की भी घोषणा की।
श्रीमती राजे ने कहा कि अब प्रदेश के हर थाने में उस क्षेत्र के शहीदों और सैनिकों की सूची होगी। सम्बंधित क्षेत्र के थानाधिकारियों की जिम्मेदारीपूर्वक समय-समय पर शहीदों और सैनिकों के परिवारों से मिलेंगे और उनकी समस्याओं के समाधान में मदद करेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि जो सैनिक हमारे सुरक्षित ‘कल’ के लिए अपना ‘आज’ न्यौछावर करने के लिए तत्पर रहते हैं, उनके योगदान और बलिदान की कोई तुलना नहीं की जा सकती।
मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए हमारी सरकार ने कड़े कदम उठाए हैं। छोटी बच्चियों से दुष्कर्म के मामलों में फांसी की सजा का प्रावधान किया गया है। प्रदेश की जनता की परेशानियों को समझते हुए हमारी सरकार ने कई फैसले लिए हैं। स्टेट हाईवे पर टोल टैक्स में प्राईवेट गाड़ियों को टोल फ्री किया गया है। पैट्रोल-डीजल पर 4 प्रतिशत वैट घटाकर करीब ढ़ाई रूपए प्रति लीटर कम किए हैं। इससे लोगों को काफी राहत मिली है। उन्होंने कहा कि बानसूर विधानसभा क्षेत्र में 50 गौरव पथ बनवाए जा रहे हैं और क्षेत्र में 46 स्कूलों को क्रमोन्नत किया गया है।
विकास पूरे प्रदेश को अग्रणी बनाने के लिए
श्रीमती राजे ने कोटपूतली में जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा है कि हम जाति, मजहब और पार्टी के आधार पर विकास कार्यों में भेदभाव नहीं करते बल्कि पूरे प्रदेश को अग्रणी बनाने के लिए काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पानी, बिजली, सड़क सहित हमारी सरकार के विकास कार्यों का फायदा पूरे प्रदेश के लोगों को मिल रहा है।
जयपुर जिले में 20 हजार करोड़ के विकास कार्य
मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने जयपुर जिले में 20 हजार करोड़ रुपए से अधिक के विकास कार्य करवाए हैं। इसी प्रकार, हमने कोटपूतली विधानसभा क्षेत्र में 620 करोड़ रूपए के विकास कार्य करवाए हैं। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने सड़कों के विकास पर सरकार ने विशेष ध्यान दिया है। करीब 314 करोड़ रूपए से 193 किमी लम्बी कोटपूतली-नीम का थाना-सीकर-कुचामन सड़क, 182 करोड़ रूपए से 62 किमी लम्बी किशनगढ़बास-खैरथल-बानसूर-कोटपूतली सड़कों का कार्य पूर्ण हो चुका है। इसी तरह करीब 52 करोड़ रूपए से विराटनगर- बड़नगर- पावटा- नारेड़ा- चिमनपुरा हरियाणा सीमा तक की सड़क और 25 करोड़ रूपए से ज्ञानपुरा से सीकर जिला सीमा तक की सड़क का चौड़ाईकरण व सुदृढ़ीकरण का कार्य करवाया गया है। उन्होंने कहा कि कोटपूतली विधानसभा क्षेत्र की 36 ग्राम पंचायतों में ग्रामीण गौरव पथ बनवाए जा चुके हैं और 43 स्कूल क्रमोन्नत किए गए हैं।
सीकर जिले में साढ़े 7 करोड़ के विकास कार्य
मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने सीकर जिले के विकास पर पिछले पौने पांच साल में सीकर जिले के विकास पर करीब साढ़े 7 हजार करोड़ रूपये के विकास कार्य करवाए जिनमें से करीब 800 करोड़ के विकास कार्य नीम का थाना विधानसभा क्षेत्र में हुए हैं।
विभिन्न सभाओं में केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री श्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री अरूण चतुर्वेदी, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री श्री बाबूलाल वर्मा, श्रम एवं नियोजन मंत्री डॉ. जसवन्त यादव, सामान्य प्रशासन विभाग के मंत्री श्री हेमसिंह भड़ाना, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्री बंधीधर खंडेला, सांसद श्री सुमेधानंद सरस्वती, सैनिक कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष श्री प्रेमसिंह बाजोर, पूर्व मंत्री श्री रोहिताश शर्मा, विधायक श्री विजय बंसल एवं अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।
  • Powered by / Sponsored by :