केंद्र सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के तहत 20 अप्रेल से किसको मिलेगी छूट व किन-किन चीजों पर रहेगी पूर्ण पाबंदी

केंद्र सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के तहत 20 अप्रेल से किसको मिलेगी छूट व किन-किन चीजों पर रहेगी पूर्ण पाबंदी

जयपुर: आज से देशभर में लॉकडाउन 2.0 शुरू हो गया । लॉक डाउन 2.0 की घोषणा के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लिए गाइडलाइन जारी की है. जिसमें यह बताया गया है कि किन सेवाओं में छूट होगी और किन पर पाबन्दी होगी | गाइडलाइन में यह बात साफ कर दी गई है कि पाबंदियां तो अभी से लागू हैं और आगे भी लागू रहेंगी, पर कुछ सेवाओं में 20 अप्रैल से जो छूट मिलेगी लेकिन बेहद सख्त शर्तों के साथ. केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला के इस पत्र के बाद राजस्थान सीएस डीबी गुप्ता ने संबंधित विभागों और एजेंसियों को इसकी पालना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए.
नई गाइडलाइन के तहत:
लॉक डाउन 2 के तहत निम्न इंडस्ट्री और कारोबार में होगा काम शुरू : -
लॉक डाउन 2 के तहत रोजमर्रा की चीजों किराना राशन की दुकान, फल सब्जी की दुकान या ठेले, डेयरी बूथ, मुर्गी, मीट, मछली उद्योग शुरू होंगे !!
इलेक्ट्रीशियन, प्लंबर, मोटर मेकैनिक, आईटी रिपेयर, कारपेंटर उद्योग अपना काम शुरू कर सकते है !!
ई-कॉमर्स कंपनियों का काम !! आईटी हार्डवेयर की मैन्युफैक्चरिंग !!
सतत प्रक्रिया या प्रसंस्करण वाली उत्पादन इकाइयां राज्य सरकारों की मंजूरी के साथ शुरू रहेंगी. !! कोल्ड स्टोरेज और वेयरहाउसिंग सर्विस, प्राइवेट सिक्योरिटी और ऑफिस मैनेजमेंट सेवाएं !!
ग्रामीण इलाकों के फूड प्रोसेसिंग इंडस्ट्री व उद्योगों के काम, स्पेशल इकोनॉमिक जोन, एक्सपोर्ट ओरिएंटेड जोन, इंडस्ट्रियल टाउनशिप के उद्योग, सामान के उत्पादन में लगे कारखानों के उत्पादन काम !!
खाने पीने की चीजें, दवाइयां, मेडिकल उपकरणों की पैकेजिंग से जुड़ी इकाइयों में होगा काम शुरू !!
कोयला व खनिज उत्पादन और उनका परिवहन रहेगा जारी, मिनरल खनन के काम वाले विस्फोटकों की आपूर्ति जारी रहेगी. फर्टिलाइजर, पेस्टीसाइड बीजों का उत्पादन, पैकेजिंग रहेगी जारी !!
तेल एवं गैस का अन्वेषण कार्य, जूट इंडस्ट्री का काम, ग्रामीण इलाकों के ईंट भट्ठे !!
चाय प्लांटेशन सहित चाय उत्पादन 50% वर्कर्स के साथ रहेगा जारी !!
नरेगा के कार्यों को भी अनुमति देने के निर्देश, इसके तहत सिंचाई और जल संरक्षण को प्राथमिकता के निर्देश !!
ऐसे होटल, मोटल या गेस्टहाउस जहां लॉकडाउन की वजह से टूरिस्ट फंसे हों वे शुरू होंगे !!
रेस्टोरेंट बंद रहेंगे लेकिन हाईवे से सटे हुए ढाबे खोले जाएँगे व दवाइयों के उद्योग शुरू होंगे |
कृषि के काम में कोई पाबंदी नहीं... किसान खेत में फसल काट सकता है. किसान फसल (गेहूं चना, सरसों आदि) को बेचने के लिए मंडी जा सकते है. न्यूनतम समर्थन मूल्य पर मंडियां खुली रहेंगी. कटाई से जुड़े कृषि वाहन 1 राज्य से दूसरे राज्य में बिना किसी पाबंदी के वे आ-जा सकेंगे.
ये गतिविधियां राज्य/ UT की मंजूरी बाद शुरू होंगी हालांकि इससे पहले सोशल डिस्टेंसिंग के उपाय भी करने के निर्देश. सार्वजनिक स्थानों, कार्यस्थलों पर फेस कवर या मास्क पहनना अनिवार्य है. सार्वजनिक स्थानों पर थूकना दंडनीय होगा और इसके लिए भारी जुर्माना लगाना संभव.

लॉक डाउन 2 के तहत निम्न उद्योग व इंडस्ट्रीज व सामाजिक गतिविधियाँ रहेगी पूर्णतया बंद -
सभी एजुकेशन इंस्टिट्यूट, स्कूल, कॉलेज, सिनेमा हॉल, मॉल, शॉपिंग काम्प्लेक्स, जिम, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, स्वीमिंग पूल, एंटरटेनमेंट पार्क, खेल, थिएटर, शराब की दुकान, बार और ऑडिटोरियम, हवाईयात्रा, ट्रेन, मेट्रो, बस सभी 3 मई तक रहेंगे बंद.
एक राज्य से दूसरे राज्य व जिले से दूसरे जिले तक लोगों की आवाजाही पर रोक.
सभी तरह के सामाजिक, राजनितिक व धार्मिक गतिविधियाँ पर 3 मई तक प्रतिबंद.
नोट : - जहाँ पर कोरोना के हॉटस्पॉट क्षेत्र है वहां पर किसी को भी कोई रियायत नहीं है, यहां स्वास्थ्य मंत्रालय की गाइडलाइन का होगा पालन. यहां किसी को भी बाहर निकलने की इजाजत नहीं.
दरअसल केन्द्र ने यह गाइडलाइन जारी करते हुए कुछ जरूरी चीजों के अलावा अन्य बिंदुओं पर छूट के लिए राज्य सरकारों को जरूरत अनुसार निर्णय लेने के लिए कहा है. साथ ही सोशल डिस्टेंस और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की पूरी गाइडलाइन फॉलो करने के निर्देश दिए हैं. साथ ही सारी गाइडलाइन का सख्ती से पालन करने के लिए कहा है.
  • Powered by / Sponsored by :