राज्यमंत्री डा. सुभाष गर्ग तकनीकि एवं सस्कृत शिक्षा ने किया वृक्षारोपण एवं संगोष्टि में किया संबोधित

राज्यमंत्री डा. सुभाष गर्ग तकनीकि एवं सस्कृत शिक्षा ने किया वृक्षारोपण एवं संगोष्टि में किया संबोधित

कोटा दिनांक 19.08.2019राजीव गांधी स्टडी सर्किल कोटा ईकाई एवं राजस्थान तकनीकि विश्वविधालय की एनएसएस ईकाई द्वारा आज वृक्षारोपण एवं राजीव गांधी का तकनीकि क्षैत्र में योगदान विषय पर संगोष्टि आयोजित की गई। अधिक जानकारी देते हुए राजीव गांधी स्टडी सर्किल के जिला समन्वयक डा. अनुज विलियमस् ने बताया कि वृक्षारोपण कार्यक्रम यूआईटी ऑडीटोरियम प्रांगण एवं राजस्थान तकनीकि विश्वविधालय प्रांगण में मुख्य अतिथि राज्यमंत्री डा. सुभाष गर्ग तकनीकि एवं सस्कृत शिक्षा के द्वारा किया गया। वृक्षारोपण के अवसर पर डा. सुभाष गर्ग ने कहा कि इच वन प्लांट वन का नारा देते हुए विधार्थियों केा पर्यावरण के प्रति कुछ समय निकालने के लिए आग्रह किया । वृक्षारोपण कार्यक्रम में राजस्थान तकनीकि विश्वविधालय के कुलपति प्रो. आर ए गुप्ता, रजिस्टार सुनीता डागा, राष्टीय सेवा योजना के कार्यक्रम अधिकारी श्री ए के शर्मा, परीक्षा नियंत्रक ए के द्विवेदी एवं राष्टीय सेवा योजना के चारों ईकाइयों के स्वयं सेवक उपस्थित रहे। इसके पश्चात् सर्किट हाउस कोटा में एक संगोष्टि का आयोजन किया गया। जिसका विषय राजीव गांधी का तकनीकि क्षैत्र में योगदान था। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता राज्यमंत्री डा. सुभाष गर्ग तकनीकि एवं सस्कृत शिक्षा ने अपने उदबोधन में कहा कि स्वर्गीय राजीव गांधीजी की सोच तीन दशक पूर्व भारत को इक्कीसवीं सदी में ले जाने की थी। उन्होने पंचायती राज संस्थाओं को संविधान में सशोधन के द्वारा वैधानिक दर्जा प्रदान करवाया एवं राजीव गांधी ने आधुनिक तकनीकि भारत की नीवं रखी एवं भारत को तकनीकि क्षैत्र में आगे लाने के लिए नई नीतियां बनाई जिनमें दूरसंचार एवं कम्प्यूटर अहम है। कार्यक्रम में कोटा विश्वविधालय के प्रो. हुकुम चन्द जैन ने कहा कि राजीव गांधी ने युवा वर्ग को एक नई पहचान दी एवं उन्होने कहा कि राजीव गांधी जी के तकनीकी क्षैत्र में बनाई गई नीतियों को हम लोग पूरी तरह से मूल्यांकन नही कर पाये है। इस अवसर पर डा. अनुज विलियमस ने कहा कि हम सब को राजीवजी द्वारा बनाई गई नीतियों को आगे लाने की आवश्यकता है एवं वर्तमान में उन नीतियों पर विचार करने की आवश्यकता है। इस अवसर पर एडिशनल डायरेक्टर के एम गवेन्द्रा, डा. के एम हिरोनी, डा. ए ए हन्फी, रूक्टा से रधुराज परिहार एवं मल्लूराम, डा. उम्मेद सिंह, आर के उपाध्याय एवं सभी महाविधालयों के व्याख्याता, प्राचार्यगण उपस्थित रहे एवं सभी के द्वारा मंत्री महोदय का स्वागत एवं सम्मान किया गया । धन्यवाद ज्ञापन डा. अनुज विलियमस् द्वारा किया गया। संचालन एडिशनल डायरेक्टर के एम गवेन्द्रा द्वारा किया गया।
  • Powered by / Sponsored by :