आयुष राज्य मंत्री और चिकित्सा मंत्री ने किया केन्द्रीय होम्योपैथी अनुसंधान संस्थान का उद्घाटन

आयुष राज्य मंत्री और चिकित्सा मंत्री ने किया केन्द्रीय होम्योपैथी अनुसंधान संस्थान का उद्घाटन

जयपुर, 7 फरवरी। केन्द्रीय आयुष राज्य मंत्री श्री श्रीपाद नायक और चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने गुरूवार को प्रतापनगर स्थित केन्द्रीय होम्योपैथी अनुसंधान संस्थान का उद्घाटन किया।
मुख्य अतिथि केन्द्रीय आयुष राज्य मंत्री श्री श्रीपाद नायक ने कहा कि यह संस्थान राजस्थान में होम्यौपथिक अनुसंधान के एक विशिष्ट केंद्र के रूप में काम करेगा । उन्होंने कहा कि भारत में होम्योपैथी एक सुरक्षित, प्रमाणित, प्रसिद्ध और व्यापक स्तर पर स्वीकार्य चिकित्सा प्रणाली है। उन्होंने कहा कि भारत में होम्योपैथिक शिक्षा के क्षेत्र में राजस्थान देश के अग्रिम राज्यों में शामिल है । होम्योपैथी में स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम शुरू करने वाला जयपुर देश का पहला शहर है । उन्होंने बताया कि जयपुर स्थित क्षेत्रीय होम्योपैथी अनुसंधान संस्थान को केन्द्रीय होम्योपैथी अनुसंधान संस्थान में परिवर्तित कर इसमें आज से ओपीडी सुविधाएं शुरू होंगी। इसके साथ ही यहां जांच सुविधाएं भी विकसित की जाएंगी।
समारोह की अध्यक्षता करते हुए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्रीडॉ. रघु शर्मा ने कहा कि होम्योपैथी कारगर एवं प्राचीन चिकित्सा पद्धति है। उन्होंने होम्योपैथी विशेषज्ञों से आह्वान किया कि वे गंभीर और मौसमी बीमारियों से निपटने के लिए केन्द्र में इस तरह की दवाईयों का अनुसंधान करें। उन्होंने बताया कि स्वाइन फ्लू की रोकथाम के लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा जनजागरूकता, सार्वजनिक स्थानों और घर-घर जाकर स्क्रीनिंग करने के साथ ही की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की जा रही है।
डॉ.शर्मा ने कहा कि विश्वास व्यक्त किया होम्योपैथी अनुसंधान संस्थान में प्रारम्भ किए गये बाह्म रोगी विभाग से निश्चित तौर पर रोगियों के ईलाज में सुगमता होगी। उन्हांने कहा कि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग प्रदेश के नागरिकों को स्वस्थ्य रखने के लिए कृतसंकल्पित है। उन्होंने राज्य की विषम भौगोलिक परिस्थितिओं को देखते हुए केन्द्रीय आयुष राज्य मंत्री से प्रदेश में अधिक संख्या में वैलनेस सेन्टर खोलने का आग्रह किया। इस अवसर पर सांसद डॉ.मनोज राजौरिया ने भी अपने विचार व्यक्त किये।
कार्यक्रम में केन्द्रीय होम्योपैथी अनुसंधान परिषद के महानिदेशक डॉ.राजकुमार मनचंदा, परियोजना अधिकारी डॉ.गिरेंद्र पाल सहित अन्य अधिकारीगण एवं आमजन उपस्थित थे।
  • Powered by / Sponsored by :