27 की उम्र में जेपी के साथ लोकतंत्र रक्षा की लड़ाई लड़ी, 72 की उम्र में भी लोकतंत्र रक्षा के लिये लड रहा हूं— श्री तिवाड़ी

27 की उम्र में जेपी के साथ लोकतंत्र रक्षा की लड़ाई लड़ी, 72 की उम्र में भी लोकतंत्र रक्षा के लिये लड रहा हूं— श्री तिवाड़ी

जयपुर। भारत वाहिनी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांगानेर से वाहिनी के प्रत्याशी श्री घनश्याम तिवाड़ी ने कहा कि विधानसभा में पूंछ हिलाने वाला नहीं बल्कि मूंछ हिलाने वाला चाहिए और सब जानते हैं कि वो घनश्याम तिवाड़ी है। श्री तिवाड़ी ने कहा कि दोनों बड़ी पार्टीयों में न विचार जीवित है न कोई सिद्धांत ही बचा है।
श्री घनश्याम तिवाड़ी ने कहा कि जब कर्नाटक में कुमारस्वामी अपनी सरकार बना सकता है तो राजस्थान में घनश्याम तिवाड़ी क्यों नहीं बना सकता। उन्होंने कहा कि जितनी बार भाजपा सीएम के चेहरे के रूप में वसुंधरा राजे को आगे करती रहेगी उतनी बार भाजपा को नुकसान होता रहेगा। वहीं कांग्रेस अपनी आंतरिक लडाई में व्यस्त है। इसीलिये इस बार भारत वाहिनी पार्टी की सरकार बनेगी, जिसमें सांगानेर की जनता का अहम योगदान रहेगा।
सांगानेर से वाहिनी के प्रत्याशी श्री तिवाड़ी ने कहा कि मैंने 27 साल की उम्र में जेपी के साथ मिलकर लोकतंत्र की रक्षा की लड़ाई में भाग लिया और जीता। वहीं आज 72 की उम्र में भी लोकतंत्र की लड़ाई लड़ रहा हूं और सांगानेर की जनता के प्यार की बदौलत जीत दर्ज करूंगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार ने लोकतंत्र को लूटतंत्र में तब्दील कर दिया है।
श्री तिवाड़ी ने कहा कि हमने कुछ सिद्धांतों को लेकर भारत वाहिनी पार्टी का गठन किया है। उन्होंने कहा कि बाकी पार्टीयों ने घोषणा पत्र जारी किये मगर हमने दृष्टि—पत्र जारी किया है। उन्होंने कहा कि यदि भारत वाहिनी पार्टी की सरकार बनती है तो वाहिनी की प्राथमिकता प्रदेश में उत्पन्न हो रहे जल संकट का स्थाई समाधान करने का होगा। श्री तिवाड़ी ने कहा कि हम ब्राह्मणी नदी को बीसलपुर से जोड़ने का काम करेंगे। हम बिजली की स्वतंत्रता, रोजगार की समस्या का निराकरण, कर्जमुक्त किसान, आर्थिक न्याय, सामाजिक समरसता और शिक्षा पर विशेष ध्यान देंगे।
श्री तिवाड़ी ने कहा कि पहले गृहणीयों के पास घर के हर कोने में कुछ मात्रा में पैसा छुपा कर रखा करती थी मगर जबसे नोटबंदी लागू हुई है तबसे उनकी यह व्यवस्था पूरी तरह धराशायी हो गई है। उन्होंने कहा कि यह एक व्यवस्था हुआ करती थी जो कि घर की ईज्जत बचाने के लिये महिलायें बचत किया करती थी मगर उसे अब नोटबंदी की मार लगी है। उन्होंने कहा कि व्यवसायी वर्ग को भाजपा से भूलकर भी हाथ नहीं मिलाना है अन्यथा जितना नुकसान नोटबंदी और जीएसटी से हुआ है उससे कहीं ज्यादा नुकसान आगे होने की संभावनाएं बन रही है।
श्री घनश्याम तिवाड़ी ने कहा कि जब जयपुर शहर में मंदिर टूटे थे तब राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने कहा कि सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरकर धरना और प्रदर्शन करना है। तब भाजपा का एकमात्र विधायक भरी बरसात में सांगासेतू पुलिया पर संघ के स्वयंसेवकों के साथ धरने पर बैठे थे। उन्होंने कहा कि जयपुर की धरती पर सबसे बड़ा पाप हुआ हिंगौनिया गोशाला में हजारों की संख्या में गौ माता का काल का ग्रास बनना और दुसरा बड़ा पाप यह हुआ कि शहर के सैंकड़ों मंदिरों को तोड़ा गया। श्री तिवाड़ी ने कहा कि क्या इस सरकार को अपने बुरे कर्मों की सजा इन चुनावों में जरूर मिलेगी।
श्री तिवाड़ी ने कहा कि मेरी लड़ाई व्यक्तिगत लड़ाई नहीं है बल्कि यह तो सांगानेर की जनता के स्वाभीमान की लड़ाई है। उन्होंने सांगानेर की जनता से अपील करते हुए कहा कि विधानसभा में जनता और सभी वर्गों की आवाज गुंजाने के लिये बांसुरी के चिन्ह का बटन दबाकर सांगानेर से घनश्याम तिवाड़ी को विधानसभा में भेजने का काम करें।
वे सांगानेर के फंवारा सर्किल, सिटी बस स्टैंड पर आयोजित चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। इस रैली के बाद श्री तिवाड़ी विद्याधर नगर से वाहिनी के प्रत्याशी श्री पवन गोयल की चुनावी सभा में मुख्या अतिथि के तौर पर पहुंचे।
  • Powered by / Sponsored by :