व्यक्तित्व उन्नयन कार्यशाला में बालिकाओं ने सींखे सकारात्मकता के गुर

व्यक्तित्व उन्नयन कार्यशाला में बालिकाओं ने सींखे सकारात्मकता के गुर

अंतर्राष्ट्रीय फ्री बीइंग मी व्यक्तित्व उन्नयन कार्यक्रम के अंतर्गत बुधवार को बालचंद पाड़ा में गाइड बालिकाओं की सशक्तिकरण कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में गाइड बालिकाओं को जिला समन्वयक सर्वेश तिवारी के निदेशन में सकारात्मक चिंतन व व्यक्तित्व विकास की प्रविधियों का प्रायोगिक अभ्यास करवाया गया। इस अवसर पर गाइड्स का दीक्षा संस्कार भी आयोजित किया गया।
समन्वयक सर्वेश तिवारी ने बताया कि बालिकाओं को मानसिक स्वास्थ्य के प्रति सजग करने, तनाव प्रबंधन व सकारात्मक चिंतन के गुर सिखाने के उद्देश्य से कार्यशाला का आयोजन किया गया । आयोजन के अंतर्गत संभागियों ने समूह का महत्व, वन विद्या, खोज चिन्ह, स्काउट पद्धति, खेल विधि, टोली पद्धति व समय प्रबंधन का ज्ञान प्राप्त किया। कार्यक्रम का प्रारम्भ प्रार्थना, ध्वजारोहण उत्प्रेरणा सत्र के साथ हुआ। स्थानीय संघ उप प्रधान रेखा शर्मा ने बालिकाओं को सशक्तिकरण में आत्मविश्वास का महत्व बताया। तिवारी ने समूह क्रियाकलापों व फ्री बीइंग मी संकल्प के साथ स्वयं को पहचाने, स्वयं को स्वीकारें- सहज रहें गतिविधि द्वारा सकारात्मक चिंतन व व्यक्तित्व विकास का प्रशिक्षण प्रदान किया और संभागियों को सम्बोन्धित करते हुए कहा कि संभागी स्वयं की अंतर्निहित शक्तियों को आत्मसात करें तथा सदैव रचनात्मक व सृजनात्मक गतिविधियों से जुडकर स्वयं का विकास करें। गाइड कैप्टेन अर्पिता शर्मा ने गाइडिंग से व्यक्तित्व विकास की जानकारी देंते हुए गाइड बालिकाओं को दीक्षा प्रदान की।
इस अवसर पर यूनिट की गाइड कैप्टेन अर्पिता शर्मा, सीनियर लीडर निहारिका, रोवरमेट आतिश वर्मा प्रशिक्षिका शर्मिला मेघवंशी, सुमन कल्याण, दीपा सैनी सहित लिटिल एंजिल व रघुनाथ एकेडमी यूनिट के स्काउट्स व गाइड्स व संस्था के सदस्यो ने सहभागिता की।
  • Powered by / Sponsored by :