आईआईएमयू इनक्यूबेशन सेंटर ने लॉन्च किया अपने प्री-इनक्यूबेशन प्रोग्राम का दूसरा एडिशन

आईआईएमयू इनक्यूबेशन सेंटर ने लॉन्च किया अपने प्री-इनक्यूबेशन प्रोग्राम का दूसरा एडिशन

उदयपुर, 02 अगस्त, 2021- इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, उदयपुर के इन्क्यूबेशन सेंटर ने प्रोडक्ट संबंधी नए विचारों के साथ प्रारंभिक चरण के उपक्रमों, छात्रों और कामकाजी पेशेवरों के लिए प्री-इनक्यूबेशन प्रोग्राम के अपने दूसरे समूह के लिए पंजीकरण शुरू कर दिया है। यह कार्यक्रम 30 पात्र प्रतिभागियों के लिए खुला है और 1 सितंबर, 2021 से नवंबर 2021 तक चलेगा।

कोविड-19 महामारी के दौर में उद्यमिता के माहौल में अच्छा-खासा सुधार आया है और इस तरह लोगां के रुझान में वृद्धि हुई है। एक बेहतर ईकोसिस्टम के कारण नए अवसर लगातार सामने आ रहे हैं। इस तरह के उछाल में, बाजार में सफल प्रोडक्ट बनने के लिए नए विचारों को आगे बढ़ाने के लिहाज से प्री-इनक्यूबेशन प्रोग्राम शुरू किया गया है। इस प्रोग्राम में लाइव क्यूरेटेड वर्कशॉप और स्ट्रक्चर्ड मॉड्यूल्स के साथ इनक्यूबेशन टीम की ओर से सपोर्ट उपलब्ध कराया जाएगा और प्रोग्राम के अंत में लर्निंग कम्युनिटी को सम्मान पत्र भी प्रदान किया जाएगा।

प्री-इनक्यूबेशन प्रोग्राम के दूसरे एडिशन को लॉन्च करते हुए आईआईएमयूआईसी के सीईओ श्री कन्नन सुंदरराजन ने कहा, प्री-इनक्यूबेशन प्रोग्राम के हमारे पहले एडिशन की सफलता के साथ, आईआईएमयूआईसी सबसे गतिशील और तेज प्री इनक्यूबेशन प्रोग्राम के दूसरे संस्करण के साथ वापस आ गया है। हमारा इरादा बड़ी उम्मीदें रखने वाले इनोवेटिव उद्यमियों को सपोर्ट प्रदान करना है, ताकि वे अपने आइडियाज को एक बेहतर और सफल प्रोडक्ट में बदलने में कामयाब हो सकें। 10-सप्ताह के अनुशासित-आधारित उद्यमिता कार्यक्रम को 8 व्यावसायिक मॉड्यूलों में विभाजित किया गया है, जो प्रतिभागियों को कम समय में व्यावसायिक विचार से एक कार्यात्मक प्रोटोटाइप में जाने में मदद करेगा।

मॉड्यूल प्रतिभागियों को लक्षित ग्राहकों और उनकी समस्याओं को समझने, प्रोटोटाइप डिजाइन करने और व्यवसाय मॉडल को परिभाषित करने, मूल्य निर्धारण को समझने और वित्तीय योजना बनाने और बाजार में निवेश खोजने और उत्पाद लॉन्च करने पर सीखने में मदद करेंगे।
पात्रता
1. आइडिया के को-फाउंडर या अर्ली-स्टेज वेंचर
2. स्टार्टअप से संबंधित योजनाओं या प्रोडक्ट वाले छात्र और कामकाजी पेशेवर

About IIM Udaipur: -

IIM Udaipur is well on its way to becoming a globally recognized B-School. It has broken new ground by focusing on world-class research and transforming students into tomorrows managers and leaders. The Institute arrived on the global education stage by securing accreditation from the AACSB (Association to Advance Collegiate Schools of Business) in merely eight years of its establishment. With this accreditation, IIM Udaipur is counted in the same league of global institutes such as Harvard Business School, Wharton School at the University of Pennsylvania, and the MIT Sloan School. IIMU has been listed on the Financial Times (FT) Global MIM Ranking 2020 as well as the QS Global MIM Ranking 2020, only the 4th IIM, along with IIMs Ahmedabad, Calcutta, and Bangalore, to be in the FT Global MIM Ranking and only the 7th IIM in the QS 2021 Global MIM RankingsIn both Rankings, IIM Udaipur is the youngest B-School in the world! IIMU is also currently ranked 4th in India, after ISB, IIM Ahmd and IIM Bgl, for research in management according to the methodology used by UT Dallas, which tracks publications in the leading global journals.
  • Powered by / Sponsored by :