हरिवंश नारायण सिंह के दूसरी बार बने राज्यसभा के उप-सभापति, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दी बधाई

हरिवंश नारायण सिंह के दूसरी बार बने राज्यसभा के उप-सभापति, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दी बधाई

कोरोना महामारी के दौरान शुरू हुए मॉनसून सत्र में राज्यसभा के उपसभापति के पद पर एनडीए ने फिर से कब्जा कर लिया. जनता दल यूनाइटेड के नेता हरिवंश सिंह ने विपक्ष की ओर से आरजेडी उम्मीदवार और सांसद मनोज झा को हराकर राज्यसभा के उपसभापति चुन लिए गए हैं.
उपसभापति चुनाव की प्रक्रिया शुरू हुई तो जेपी नड्डा, नरेंद्र तोमर और नरेश गुजराल ने हरिवंश के समर्थन में प्रस्ताव रखा. जबकि कांग्रेस नेता आनंद शर्मा, गुलाम नबी आजाद त्रिची शिवा ने मनोज झा के समर्थन में प्रस्ताव रखा.
हरिवंश के फिर से उपसभापति के रूप में चुने जाने पर बधाई देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मैं हरिवंश को बधाई देना चाहता हूं. मैं श्रीमान हरिवंश जी को दूसरी बार इस सदन का उपसभापति चुने जाने पर पूरे सदन और सभी देशवासियों की तरफ से बहुत-बहुत बधाई देता हूं।
सामाजिक कार्यों और पत्रकारिता की दुनिया में हरिवंश जी ने जिस तरह अपनी ईमानदार पहचान बनाई है, उस वजह से मेरे मन में हमेशा उनके लिए बहुत सम्मानन रहा है। मैंने महसूस किया है हरिवंश जी के लिए जो सम्माहन और अपनापन मेरे मन में है, इन्हे करीब से जानने वाले लोगों के मन में है, वही अपनापन और सम्माअन आज सदन के हर सदस्या के मन में भी है। ये भाव, ये आत्मींयता हरिवंश जी की अपनी कमाई हुई पूंजी है। उनकी जो कार्यशैली है, जिस तरह सदन की कार्यवाही को वो चलाते हैं, उसे देखते हुए ये स्वाभाविक भी है। सदन में निष्पसक्ष रूप से आपकी भूमिका लोकतंत्र को मजबूत करती है।
राज्यसभा सांसद बनने से पहले हरिवंश पत्रकार है
राज्यसभा सांसद बनने से पहले हरिवंश नारायण सिंह की पहचान एक पत्रकार के तौर पर रही है. हरिवंश का जन्म जयप्रकाश नारायण के गांव सिताब दियारा में हुआ. वह शुरू से ही समाजवादी विचारधारा के रूप में जाने जाते थे. वाराणसी से शिक्षा हासिल करने के दौरान ही हरिवंश सिंह जेपी आंदोलन से जुड़ गए थे.
बाद में वे एक पत्रकार बने उन्होंने लगभग चार दशक तक पत्रकारिता की. उन्होंने देश के कई प्रमुख अखबारों के लिए काम किया और 1989 में प्रभात खबर शुरू किया. 2014 में जेडीयू ने उन्हें राज्यसभा भेजा और 2018 में राज्यसभा के उपसभापति चुने गए, लेकिन इस साल उनका कार्यकाल पूरा हो जाने के चलते अब दोबारा से उसी पद के लिए मैदान में उतरे और जीत हासिल की.
  • Powered by / Sponsored by :