सातवीं आर्थिक गणना जिला स्तरीय समन्वय समिति का हुआ आयोजन

सातवीं आर्थिक गणना जिला स्तरीय समन्वय समिति का हुआ आयोजन

धौलपुर, 15 सितम्बर। 7 वी आर्थिक गणना 2019 जिला स्तरीय समन्वय समिति की बैठक जिला कलक्टर राकेश कुमार जायसवाल की अध्यक्षता में जिला कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित की गई। उन्होनें बताया कि यह एक महत्वपूर्ण राष्ट्रीय कार्यक्रम है जिससे देश की योजना तैयार होती है। 7 वीं आर्थिक गणना 2019 के सीएससी के प्रगणक ई-मित्रों व प्रथम स्तरीय सुपरवाईजर द्वारा किये गये सर्वे कार्य की प्रगति एवं 6 वीं आर्थिक गणना 2013 में किये गये सर्वे के अनुसार उधमों की संख्या में अन्तराल कम है। उन्होनें बताया कि सातवीं आर्थिक गणना 2019 मे उधमों की संख्या में काफी बढोतरी होनी चाहिए इस सबंध में सांख्यिकी, जिला उधोग केन्द्र, एन.एस.एस.ओ विभाग के द्वितीय स्तरीय पर्यवेक्षकों को निर्देश दिये। उन्होनें द्वितीय स्तर के सत्यापन के दौरान प्रोससिंग चेकिंग एवं क्वालटी चेकिंग गुणवत्ता पूर्ण हो जिससे सीएससी प्रगणक एवं सुपरवाईजर द्वारा किये गये सर्वे कार्य में उधमों की वास्तविक स्थिति का आंकलन हो सके। 7वीं आर्थिक गणना 2019 के सबंध में सहायक निदेशक आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग बाबूलाल मीना द्वारा सर्वे के दौरान उधमों के डाटा की प्रगति को जिला कलक्टर के समक्ष प्रस्तुत किया। राज्य सरकार के निर्देशानुसार आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग के ब्लॉक सांख्यिकी अधिकारियों द्वारा एक ग्रामीण एवं एक शहरी क्षेत्रा के ब्लाॅक का सर्वे कार्य कराया गया जिसमें ई मित्रों द्वारा किये गये सर्वे में उधमों की संख्या में भिन्नता पाई गयी। इस सबंध में सी.एस.सी के जिला समन्वयक व जिला प्रबन्धकों को निर्देश दिये गये कि जिले अन्तर्गत ई-मित्रों को सही जानकारी देकर जिले में सर्वे से छूटे उधमों की गणना की जाने के निर्देश दिए। समिति की बैठक में जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ0 गोपाल प्रसाद गोयल, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी सियाराम मीणा, उपनिदेशक कृषि विस्तार दयाशंकर शर्मा, एडीपीसी समसा मुकेश गर्ग, अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी रमेश चन्द भानू, वीरी सिंह सहित सम्बंधित विभागीय अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।
  • Powered by / Sponsored by :