प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के प्रचार एवं फसल बीमा को बढ़ावा देने के लिए तीन प्रचार रथों को हरी झण्डी दिखाकर किया रवाना

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के प्रचार एवं फसल बीमा को बढ़ावा देने के लिए तीन प्रचार रथों को हरी झण्डी दिखाकर किया रवाना

धौलपुर, 20 नवम्बर। जिले में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के प्रचार एवं फसल बीमा को बढ़ावा देने के लिए एग्रीकल्चर इंश्योरेन्स कम्पनी ऑफ इण्डिया को 3 वर्षो के लिए अधिसूचित कयिा गया है। जिसके द्वारा रबी सीजन 2020-21 में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए अध्यक्ष एवं जिला कलक्टर राकेश कुमार जायसवाल द्वारा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के प्रचार-प्रसार के लिए तीन प्रचार रथों को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। जिला कलक्टर ने बताया कि तीनों प्रचार रथ जिले की समस्त तहसील की ग्राम पंचायत एवं गांवों में जाकर प्रधानमंत्री फसल बीमा से सम्बन्धित प्रचार-प्रसार करेगें एवं जिले में अधिसूचित फसलों गेहॅू व सरसों के लिए बीमा कराने, बीमा से होने वाले फायदे, किसानों की फसल में होने वाले नुकसान, बीमा प्रिमियम राशि, बिमित राशि, ऋणी एवं गैर ऋणी किसानों द्वारा बीमा कराने, बीमा से होने वाले जोखिमों के प्रावधान एवं जोखिमों की भरपाई के विवरण के बारे में किसानों को जानकारी देकर प्रधानकंत्राी फसल बीाम के लिए जागरूक करेगें। उन्होंने बताया कि गैर ऋणी कृषक अपनी फसल का बीमा सीएससी सेन्टर, बैंक में जाकर आवश्यक दस्तावेज के साथ करवा सकते है एवं ऋणी कृषक बैंक में जाकर अपनी फसल का बीमा करवा सकते है।
ये रहेगी अधिसूचित फसलों की प्रिमियम एवं बीमित राशि-
उन्होंने बताया कि सरसों के लिए 81 हजार 623 रूपये प्रति हैक्टेयर बीमित राशि तथा 1 हजार 224 रूपये 35 पैसे प्रति हैक्टेयर कृषक प्रिमियम तथा गेहॅू के लिए 82 हजार 136 रूपये प्रति हैक्टेयर बीमित राशि तथा 1 हजार 232 रूपये 4 पैसे प्रति हैक्टेयर कृषक प्रिमियम की राशि रहेगी।
गैर ऋणी कृषकों के लिए आवश्यक दस्तावेज-
उन्होंने बताया कि बीमा के लिए गैर ऋणी कृषक आधार कार्ड की प्रति, जमीन बटाई का शपथ-पत्रा, नवीनतम जमाबन्दी की नकल, बुआई का प्रमाण-पत्रा तथा बैंक खाता पासबुक की प्रति इत्यादि दस्तावेज के साथ बीमा करवा सकते है।
ऋणी कृषकों को फसल बीमा से बाहर होने की अन्तिम तिथि 8 दिसम्बर 2020, ऋणी कृषकों द्वारा बीमित फसल में परिवर्तन की सूचना 13 दिसम्बर 2020, ऋणी एवं गैर ऋणी कृषकों हेतु बीमा कराने की अन्तिम तिथि 15 दिसम्बर 2020 रहेगी। योजना के बारे में अधिक जानकारी के लिए टोल फ्री नम्बर 1800116515, 18004196116 अथवा दूरभाष नम्बर 0141-4042995 पर सम्पर्क कर प्राप्त कर सकते है।
उन्होंने बताया कि व्यक्तिगत खेत आधार पर क्षतिपूर्ति के लिए किसानों को 72 घण्टों के अन्दर टोल फ्री नम्बर, दूरभाष नम्बर अथवा fasalbima@aicofindia.com पर या लिखित में अपने बैंक के माध्यम से, कृषि विभाग एवं बीमा प्रतिनिधि से क्षति की सूचना देते हुए समस्त जानकारी प्रदान कर अधिकतम 7 दिवस में दावा पंजीयन करवाना अनिवार्य है।
उन्होंने बताया कि किसान फसल बीमा से सम्बन्धित अधिक जानकारी के लिए समस्त तहसीलों में कार्यरत कृषि विभाग के सहायक कृषि अधिकारी, कृषि पर्यवेक्षक एवं बीमा कम्पनी के प्रतिनिधि से सम्पर्क कर जानकारी प्राप्त कर सकते है। इस अवसर पर उप निदेशक कृषि विस्तार डॉ. दयाशंकर शर्मा, सहायक कृषि अधिकारी राजेश मिश्रा, बीमा कम्पनी के प्रतिनिधि जिला प्रबन्धक सुमित पारीक, जिला समन्वयक सन्तोष शर्मा, तहसील प्रभारी प्रद्युमन सिंह सहित सम्बन्धित अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।
  • Powered by / Sponsored by :