निजी अस्पतालों के सहयोग से मिलेगी कोविड-19 से लड़ने में राहत- मुख्यमंत्री

निजी अस्पतालों के सहयोग से मिलेगी कोविड-19 से लड़ने में राहत- मुख्यमंत्री

भीलवाड़ा, 20 नवम्बर/शुक्रवार को वीडियों कांफ्रेंस के जरिये मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने संभागीय आयुक्त, जिलों के कलक्टर व चिकित्सा एवं स्वास्थ्य से जुड़े सरकारी व निजी अस्पतालों के डॉक्टर व अन्य अधिकारियों के साथ बढ़ते हुए कोविड-19 संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए।
जिला कलेक्ट्रेट भीलवाड़ा में स्थित सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग के वीसी रूम से संभागीय आयुक्त डॉ. वीणा प्रधान, एडीसी, जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम. नकाते व एडीएम प्रशासन श्री राकेश कुमार, सीएमएचओ डॉ. मुश्ताक खान, पीएमओ डॉ. अरूण गौड़, डीओआईटी संयुक्त निदेशक श्री सत्यदेव व्यास सहित निजी चिकित्सालयों के डॉक्टर वीसी से जुड़े।
सीएम ने वीसी में कोविड-19 से निपटने के लिए निजी अस्पतालों के सहयोग को सराहा तथा उनके सहयोग की आवश्यकता को भी बताया।
वीसी में 60 या उससे अधिक बेड वालें अस्पतालों को निर्देशित किया गया कि वे 30 से 40 फीसदी बैड कोविड रोगी हेतु आरक्षित रखे। मुख्यमंत्री ने लोगो को लापरवाही न बरतते हुए कोरोना से बचाव के लिए दिए जा रहे आवश्यक निर्देशों की पालना करने को कहा। उन्होंने कहा कि महामारी जाति या धर्म देखकर नहीं आती है एपिडेमिक एक्ट की पालना सभी के लिए आवश्यक है।
किये जा रहे है नोडल अधिकारी नियुक्तः
कोरोनो के बढ़ते प्रभाव व आमजन को ऑक्सीजन बेड उपलब्ध कराये जाने, व हैल्प डेस्क के माध्यम से खाली बैड लोगो को प्राप्त हो सके इसके लिए मुख्यमंत्री द्वारा ली गई वीसी में बताया गया कि निजी अस्पतालों के लिए नोडल अधिकारी व प्रशासनिक अधिकारी नियुक्त किये जाएंगे जो कि निजी अस्पताल व सरकार व आमजन के मध्य कॉडिनेटर का कार्य करेंगे। जिस भी अस्पताल में बेड खाली है उसकी सूचना रोगी तक पहुंचे इसके लिए नोडल अधिकारी प्रभावी साबित होंगे।
जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम. नकाते ने कोविड रोगी को सामुदायिक भवन में बैड स्थापित करकोविड बेड की संख्या बढ़ाने को लेकर किये गये कार्य के बारे में अवगत कराया जिसमें निजी अस्पताल के सहयोग से आक्सीजन युक्त बेड की संख्या बढ़ाई गई है।
मुख्यमंत्री ने इस मॉडल के बारे में भी सोचा ।
  • Powered by / Sponsored by :