सरकार निभा रही है अपनी जिम्मेदारी, अब आमजन की है बारी

सरकार निभा रही है अपनी जिम्मेदारी, अब आमजन की है बारी

भीलवाड़ा, 15 सितम्बर/ मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को विडियो कांफ्रेंस के माध्यम से आमजन से कोरोना जागरूकता संवाद किया। विशेष बात यह रही कि इस दौरान अंतर्राष्ट्रीय स्तर के विशेषज्ञ डॉक्टर्स ने अपने विचार साझा करते हुए कोरोना की जंग में सामाजिक जागरूकता की आवश्यकता जताई। प्रदेश के पंचायत मुख्यालयों से जनप्रतिनिधि व बुद्धिजीवी इस आयोजन में शामिल हुए। आयोजन का सीधा प्रसारण फेसबुक व यू-ट्यूब पर भी किया गया जहां से हजारों लोगों ने कार्यक्रम में अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई। भीलवाड़ा की सभी ग्राम पंचायतें कार्यक्रम से जुड़ी और जिला मुख्यालय पर जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम नकाते, एडीएम शहर श्री एन के राजोरा, एसडीएम रिया केजरीवाल, मेडीकल कॉलेज प्रिसिंपल डॉ शलभ शर्मा, सीएमएचओ डॉ. मुश्ताक खान सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि निरोगी राजस्थान अभियान को लेकर राज्य सरकार ने काफी तैयारियां कर ली थीं। उस तैयारी का फायदा कोरोना महामारी से लड़ने में मिला। राज्य सरकार ने बेहतर प्रबंध करते हुए राज्य में चिकित्सा सेवाएँ सुदृढ़ की वहीं लाॅकडाउन में किसी को भूखा नहीं सोने दिया।
कार्यक्रम में विशेष आमंत्रित मेदांता अस्पताल के डॉ. नरेश त्रोहान ने कहा कि सरकार अपनी जिम्मेदारी निभा रही है। अब आमजन को भी अपनी जिम्मेदारी समझनी चाहिए। कोरोना को लेकर भ्रांतियां दूर करने की आवश्यकता है। संक्रमितों के ठीक होने के बावजूद दूसरे अंगों पर दुष्प्रभाव भी पड़े हैं। ऐसे में इस बीमारी से डरने और सावधान रहने की जरूरत है। नारायणा हृदयालय के डॉ. देवी शेट्टी ने कहा कि कोविड-19 से निबटने के लिए अभी कोई भी कारगार तरीका नहीं है। सरकारों के प्रयास सराहनीय रहे हैं किंतु आमजन के जागरूक नहीं होने से खतरा बढ़ गया है। समय पर जांच अति आवश्यक बताते हुए उन्होने कहा कि देरी से पता चलने पर मृत्यु की संभावना बढ़ जाती है। दिल्ली से डॉ. एस के सरीन ने कहा कि समाज व सरकार मिलकर ही महामारी से पार पा सकती है। उन्होने सरकार को एंटीबाडी सर्वे करवाने, नो मास्क- नो एंट्री का नियम पालन करने, जनप्रतनिधियों के माध्यम से व्यापक प्रचार-प्रसार करने की आवश्यकता पर जोर दिया। कार्यक्रम को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने भी संबोधित किया। राज्य के मुख्य सचिव ने जानकारी दी कि आठ हजार से अधिक पंचायतों से करीब एक लाख पिचह्तर हजार लोग सीधे इस कार्यक्रम से जुड़े। इसके अलावा हजारों लोगों से टीवी पर लाइव देखा ।
  • Powered by / Sponsored by :