सभापति ने भामाशाहों से की अपील, मेरा वार्ड मेरा कर्तव्य के रूप में करे जनसेवा

सभापति ने भामाशाहों से की अपील, मेरा वार्ड मेरा कर्तव्य के रूप में करे जनसेवा

चूरू, 16 अप्रेल। कोरोना महामारी के संकट और देश भर में जारी लॉक डाउन के चलते असहाय पीडित और कमजोर वर्ग के लोगों के सामने खडे हुए रोटी-रोजी के संकट को मध्यनजर रखते हुए नगरपरिषद सभापति पायल सैनी ने जरूरतमंदों की सेवा में एक कदम और आगे बढाते हुए स्वयं सेवी संस्थाओं एवं भामाशाहों से पुरजोर शब्दों में अपील करते हुए आग्रह किया है कि वे जरूरतमंद और पीडित मानवता की सेवा में आगे आकर जरूरतमंदों की मदद करे ताकि कोई भी व्यक्ति भूखा नही सोये ।
सभापति ने कहा कि हालांकि बहुत से भामाशाह इस जन सेवा के कार्य में तन-मन-धन से जुटे हुए हैं लेकिन उनके द्वारा वितरित की जा रही राहत सामग्री वे अपने स्तर पर कर रहे हैं जबकि मेरा भामाशाहों से आग्रह है कि वे जगह-जगह राहत सामग्री भिजवाने की बजाय नगरपरिषद क्षेत्र के किसी भी एक वार्ड को गोद लेकर उस वार्ड में अपनी सेवाएं दें ताकि जिला प्रशासन और नगरपरिषद तथा अन्य सहयोगी भामाशाह यह सुनिश्चित कर लें कि उक्त वार्ड की जिम्मेवारी भामाशाह द्वारा ले ली गई है। उन्होंने भामाशाहों से अपील की है कि वे नगरपरिषद क्षेत्र के किसी भी कमजोर वार्ड को गोद लेकर उसकी सूचना जिला प्रशासन और नगरपरिषद को दें ताकि उस वार्ड की जिम्मेवारी उन्ही भामाशाह को सौंप दी जाए । उन्होंने कहा कि हालांकि राज्य सरकार, प्रशासन और नगरपरिषद स्वंयसेवी संस्थाओं एवं भामाशाहों के सहयोग से लॉकडाउन घोषित होने के तत्काल बाद से ही जरूरतमंदों की सेवा में जुटे हुए हैं और उन्हें खाद्य सामग्री एवं भोजन के पैकेट पहुंचाये जा रहे हैं, लेकिन बिना भामाशाहों के सहयोग के लम्बे समय तक यह सेवा जारी रखना संभव नही है। ऎसे में भामाशाह शहर के वार्डों को गोद लेकर पीडित मानवता की सेवा में आगे आते हुए जरूरतमंदों तक खाद्य सामग्री और भोजन के पैकेट भिजवाकर संकट के इस समय में सरकार, प्रशासन और नगरपरिषद के सहयोगी बनें।
  • Powered by / Sponsored by :