जिला कलक्टर ने विवाद एवं शिकायत निवारण तंत्र की बैठक में अधिकारियों को दिए निर्देश

जिला कलक्टर ने विवाद एवं शिकायत निवारण तंत्र की बैठक में अधिकारियों को दिए निर्देश

चूरू, 20 जुलाई। जिला कलक्टर साँवर मल वर्मा ने कहा है कि सभी विभागों के अधिकारी उद्यमियों की विभिन्न समस्याओं का त्वरित निस्तारण करें ताकि उद्यमी प्रोत्साहित हों और जिले के औद्योगिक विकास को गति मिले।
जिला कलक्टर मंगलवार को उद्यमियों से संबंधित विवाद एवं शिकायत निवारण तंत्र की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि औद्योगिक क्षेत्रों की समस्याओं का प्राथमिकता से निस्तारण होना चाहिए। इस दौरान उन्होने तारानगर एवं सादुलपुर औद्योगिक क्षेत्र में पेयजल व्यवस्था के लिए जलदाय अधिकारी को निर्देश दिए। रतनगढ़ में रेल्वे ट्रेक से प्रभावित भूखंडों से संबंधित प्रकरण में रीको प्रबंधक ने बताया कि रेल्वे लाइन शिफ्टिंग से प्रभावित सभी 12 आवंटियों को वैकल्पिक भूखंड का आवंटन किया जा चुका है। बैठक में बीदासर औद्योगिक क्षेत्र में 132 केवी हाईटेंशन लाइन से प्रभावित भूखंडों की जगह वैकल्पिक भूखंड आवंटन, रतनगढ़ एवं सरदारशहर में अग्निशमन केंद्र खोलने व दमकल की व्यवस्था, औद्योगिक क्षेत्र चूरू में विद्युत लाइनों के ढीले होने, बैंकों द्वारा उद्यमियों के प्रकरणों के त्वरित निस्तारण एवं औद्योगिक क्षेत्रों से संबंधित विभिन्न समस्याओं पर विचार-विमर्श कर निर्देश प्रदान किए गए।
जिला उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक योगेश कुमार शर्मा ने विभिन्न प्रकरणों के निस्तारण की प्रगति की जानकारी दी। इस दौरान राजस्थान निवेश प्रोत्साहन योजना पर भी विचार-विमर्श किया गया। बैठक में रीको के सुनील कुमार गुप्ता, पीएचईडी के रामनिवास, नायब तहसीलदार पृथ्वीसिंह, जीएसटी विभाग के शिवचंद, एलडीएम नरेश नागपाल, सहायक निदेशक (जनसंपर्क) कुमार अजय, डिस्कॉम के अनिल पूनिया, अजीत अग्रवाल, अंजनी कुमार, शंकरलाल, बनवारी लाल जांगिड़, कमिश्नर हेमंत तंवर, ओमप्रकाश शर्मा, सहदेव दान चारण सहित संबंधित अधिकारी, उद्यमी एवं सदस्यगण मौजूद थे।
  • Powered by / Sponsored by :