वीसी में सीएस ने कहा, ‘प्रशासन शहरों के संग अभियान’ से पूर्व सिवायचक भूमि को हस्तान्तरित करें

वीसी में सीएस ने कहा, ‘प्रशासन शहरों के संग अभियान’ से पूर्व सिवायचक भूमि को हस्तान्तरित करें

चूरू, 20 जुलाई। मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने कहा है कि सभी कलेक्टर्स 5 हजार डेयरी बूथ आवंटन के कार्य को प्राथमिकता से करें तथा आवंटन के लिए पुलिस, ट्रैफिक अथवा नगरपालिका से एनओसी लेकर शीघ्र कार्य पूरा करना सुनिश्चित करें। आर्य मंगलवार को शासन सचिवालय से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी संभागीय आयुक्त तथा कलेक्टर्स के साथ गोपालन, जनजाति, नगरीय विकास, प्रशासनिक सुधार विभाग तथा कला एवं संस्कृति विभाग के विभिन्न मुद्दों की समीक्षा बैठक कर रहे थे। इस दौरान चूरू जिला मुख्यालय स्थित राजीव गांधी सेवा केंद्र में जिला कलक्टर सांवर मल वर्मा, एडीएम पीआर मीना, उप वन संरक्षक राकेश दुलार, सहायक निदेशक (जनसंपर्क) कुमार अजय, नगर परिषद आयुक्त हेमंत तंवर सहित संबंधित अधिकारीगण मौजूद थे।
आर्य ने कहा कि 2 अक्टूबर ‘प्रशासन शहरों के संग अभियान’ से पूर्व सिवायचक भूमि को संबंधित निकाय को हस्तान्तरित करें। इस कार्य को लगातार मॉनीटरिंग करते रहें। उन्होंने आरटीआई ऑनलाइन पोर्टल पर रजिस्टर होने का प्रमाण पत्र भिजवाने के लिए भी निर्देशित किया।

5 हजार डेयरी बूथ का आवंटन
आर्य ने कहा कि राज्य में 5 हजार बूथ आंवटन एक बजट घोषणा है तथा मुख्यमंत्री के निर्देशों की पालना करते हुए सभी कलेक्टर्स को यह कार्य उच्च प्राथमिकता देकर करना है। उन्होंने कहा इस कार्य की वे लगातार मॉनीटरिंग करते रहें तथा इसमें कोई भी तकनीकी समस्या आ रही है तो गोपालन विभाग से तालमेल कर कार्य पूरा करें।

कलाकारों का डेटाबेस तैयार करें
आर्य ने कहा कि राज्य के कलाकारों को मंचीय प्लेटफॉर्म देना तथा उन्हें राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय प्रस्तुतिकरण में तैयार करने के लिए राज्य सरकार कलाकारों का डाटाबेस तैयार कर रही है। उन्होंने कहा कि हर जिले में कलाकारों में क्षमताएं हैं तथा हर क्षेत्र की अपनी परम्परा है। सभी विधाओं को देखें तथा उस आधार पर कलाकारों का डेटाबेस तैयार कर कला एवं संस्कृति विभाग को भेजें। उन्होंने निर्देशित किया कि इस संबंध में वे जिलों में नोडल ऑफिसर बनायें तथा प्रचार-प्रसार भी करवायें। बैठक में प्रमुख शासन सचिव प्रशासनिक सुधार अश्विनी भगत, प्रमुख शासन सचिव जनजाति विकास शिखर अग्रवाल, प्रमुख शासन सचिव नगरीय विकास कुंजीलाल मीणा, सचिव गोपालन आरुषि मलिक तथा कला एवं संस्कृति द्वारा प्रस्तुतिकरण के माध्यम से अपने विभाग के विभिन्न मुद्दों को रखा। बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सचिव वन श्रेया गुहा, सचिव स्थानीय निकाय भवानी सिंह देथा आदि ने भी सुझाव दिए।
  • Powered by / Sponsored by :