राजस्थान स्टेट माइन्स एण्ड मिनरल्स लिमिटेड की समीक्षा बैठक

राजस्थान स्टेट माइन्स एण्ड मिनरल्स लिमिटेड की समीक्षा बैठक

जयपुर, 20 जुलाई। मुख्य सचिव श्री निरंजन आर्य की अध्यक्षता में मंगलवार को राजस्थान स्टेट माइन्स एण्ड मिनरल्स लिमिटेड की समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक में मुख्य सचिव ने निर्देश दिये कि खनिजों का उत्पादन गुणवत्ता के साथ किया जाये तथा जो निम्न श्रेणी के मिनरल्स निकलते है उनके मूल्यवर्धन, नवाचार तकनीक का प्रयोग कर राजस्व अर्जित किया जाए।

मुख्य सचिव ने कहा कि विपणन के लिए प्रतिस्पर्धी परिस्थितियों को देखते हुए नवीन तकनीक यथा ई-ऑक्शन के माध्यम से रॉक फॉस्फेट एवं अन्य खनिजों का विपणन बढाए जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि खनिजों के भंडार को नवीन तकनीक से सर्वेक्षण कर उत्पादन को बढाया जाए। राजस्थान स्टेट माईन्स एण्ड मिनरल्स लिमिटेड वर्तमान में रॉक फॉस्फेट की घरेलू मांग का मात्र 17 प्रतिशत आपूर्ति कर पा रहा है जिसे दीर्घकालीन लक्ष्य लेकर 50 प्रतिशत तक किया जाए। इससे विदेशी मुद्रा के साथ राजस्व में बढ़ोतरी होगी।

मुख्य सचिव द्वारा यह भी निर्देश दिये गये कि पोटाश खनिज के सर्वेक्षण एवं खनन पर भी विशेष ध्यान दिया जाए। अगर खनिजों का दोहन एवं विपणन अधिक मात्रा में होगा तो राज्य के विकास में सहयोग के साथ-साथ विभिन्न क्षेत्रों में स्थानीय निवासियों को रोजगार के अवसर भी प्राप्त होगें।

बैठक में राजस्थान स्टेट माइन्स एण्ड मिनरल्स लिमिटेड के प्रबंध निदेशक श्री ओमप्रकाश कसेरा द्वारा विश्वास दिलाया गया कि कम्पनी के समस्त अधिकारी एवं कामगार दिये गये निर्देशों की पालना करेंगे।

इस अवसर पर बैठक में राजस्थान स्टेट माइन्स एण्ड मिनरल्स लिमिटेड के कार्यकारी निदेशक श्री बी.एम. असावा, वित्तीय सलाहकार श्री टी.आर. अग्रवाल एवं कम्पनी के समस्त एस.बी.यू.एण्ड पी.सी. के अधिकारी उपस्थित थे।
  • Powered by / Sponsored by :