पब्लिक ऐड्रेस सिस्टम के जरिए की अपील

पब्लिक ऐड्रेस सिस्टम के जरिए की अपील

बीकानेर, 16 अप्रैल। जिला मजिस्ट्रेट कुमार पाल गौतम ने कहा कि केवल पुलिस और गश्ती दलों को देखकर ही लोग घरों में ना रहे बल्कि इस बीमारी से लड़ने के लिए अपनी नैतिक जिम्मेदारी समझते हुए कर्फ्यू और लाकडाउन के नियमों का पालन किया जाए। गौतम ने गुरुवार को कर्फ्यू प्रभावित और लॉक डाउन क्षेत्र का निरीक्षण करते हुए पब्लिक ऐड्रेस सिस्टम के जरिए आमजन को समझाइश करते हुए घरों में रहने की अपील की। उन्होंने कहा कि आपके और आपके परिवार के सुरक्षा के लिए जरूरी है कि आप नियमों की खुद से अनुपालना करें , डरे नहीं बल्कि एक जिम्मेदार नागरिक के तौर पर घरों में रहें और दूसरों को भी घरों में रहने के लिए कहें। गौतम ने गुरुवार देर शाम सुभाष मार्ग से होते हुए मोहल्ला व्यापारीयान, कसाई बारी, पारीक चौक के पास रानी सर बास से फड बाजार होते हुए, रोशनी घर चौराहा सहित विभिन्न क्षेत्रों का दौरा किया।
कलेक्टर एसपी आते हैं?
जिला कलेक्टर ने निरीक्षण के दौरान क्षेत्र में पैदल घूम कर गलियों में कर्फ्यू की स्थिति का जायजा लिया और घरों के आगे बैठे लोगों से बातचीत की। मास्क पहने होने के चलते जिला कलेक्टर को आम लोग आसानी से नहीं पहचान सके । इसी का फायदा उठाते जिला कलेक्टर ने घरों के दरवाजों पर बैठे लोगों से पूछा कि कर्फ्यू लगा है आपके क्षेत्र में? कलक्टर, एस पी राऊंड पर आते हैं? इस पर लोगों का जवाब था हां जी। जिला मजिस्ट्रेट ने लोगों से पूछा कोई समस्या तो नहीं आ रही है।
जिला मजिस्ट्रेट ने पुलिस के अधिकारियों से की बातचीत
दी पुलिस स्थापना दिवस की बधाई
जिला कलेक्टर ने निरीक्षण के दौरान ड्यूटी पर तैनात पुलिस के अधिकारियों, जवानों से बातचीत की और वस्तु स्थिति के बारे में जानकारी ली। पुलिस के जवानों को पुलिस स्थापना दिवस की शुभकामनाएं दी । गौतम ने कहा कि जवान पूरी निष्ठा और ईमानदारी से अपने कर्तव्य का निर्वहन करते हुए लोगों को इस संकट से बचा रहे हैं इसके लिए वे बधाई के पात्र हैं।
कृषि विश्वविद्यालय के क्वॉरेंटाइन सेंटर का किया निरीक्षण, दिए निर्देश
जिला कलेक्टर ने कृषि विश्वविद्यालय क परिसर में बनाए गए क्वॉरेंटाइन सेंटर का निरीक्षण किया और उपस्थित अधिकारियों को व्यवस्थाओं में गुणात्मक सुधार करने के निर्देश दिए । जिला कलेक्टर ने कहा कि यहां पर ठहराए गए लोगों की नियमित रूप से जांच जाए और कोरोना से जुड़े हल्के से लक्षण पाए जाने की स्थिति में तुरंत प्रभाव से सैंपलिंग के लिए भेजें। गौतम ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि एक कमरे में एक ही व्यक्ति रहे ।
  • Powered by / Sponsored by :