निर्धारित शुल्क से ज्यादा राशि लेने पर ई-मित्र के खिलाफ होगी कार्यवाही

निर्धारित शुल्क से ज्यादा राशि लेने पर ई-मित्र के खिलाफ होगी कार्यवाही

भीलवाडा, 9 अगस्त/ किसी भी सेवा प्रदाता (ई-मित्र केन्द्र) द्वारा, श्रम विभाग की निर्माण श्रमिकों के लिए चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं के ऑन लाईन आवेदन करने की एवज में राज्य सरकार द्वारा निर्धारित राशि से अधिक राशि ली जाती है तो उसके खिलाफ कार्यवाही अमल में लाई जायेगी।
उप श्रम आयुक्त सकेत मोदी ने पंजीकृत निर्माण श्रमिकों से कहा है कि यदि किसी भी ई-मित्र द्वारा उन्हें सेवा प्रदान करने की एवज में निर्धारित राशि से अधिक राशि ली जाये तो इसकी शिकायत जिला प्रशासन, सूचना प्रौद्योगिकी विभाग, पुलिस थाने,, भ्रष्टाचार निरोध विभाग अथवा श्रम विभाग में कर सकते हैं।
कुशल, अर्द्धकुशल या अकुशल श्रमिक के रुप में पंजीकृत निर्माण श्रमिक राज्य सरकार की शुभशक्ति, आवास निर्माण, छात्रावृत्ति, मृत्यु उपरान्त सहायता तथा टूलकिट आदि योजनाओं के लिये ई-मित्रा के माध्यम से ऑनलाईन आवेदन कर सकते हैं। आवेदन के साथ आवश्यक दस्तावेज भी स्केन करके भिजवाये जायें।
यदि कोई असामाजिक तत्व, स्वयं घोषित एजेन्ट या ई-मित्रा संचालक श्रम विभाग के नाम से राशि की मांग करता है तो तुरन्त श्रम विभाग कार्यालय के दूरभाष नं. 01482-243334 पर करें। उन्होंने श्रमिकों के पंजीयनों का सत्यापन करने वाले ठेकेदारों/नियोजकों से भी कहा है कि जिन श्रमिकों ने उनके अधीन निर्माण कार्य किया हो, उन्हीं श्रमिकों को नियोजक प्रमाण पत्रा जारी करें। ऐसे प्रमाण पत्रा फर्जी अथवा मिथ्या पाये जाने पर उनके विरुद्ध कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जायेगी।
  • Powered by / Sponsored by :