जनसंख्या नियंत्रण पखवाड़ा 11 से 24 जुलाई तक लगेंगे नियत सेवा दिवस

जनसंख्या नियंत्रण पखवाड़ा 11 से 24 जुलाई तक लगेंगे नियत सेवा दिवस

भीलवाडा, 10 जुलाई/मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जे.सी. जीनगर ने बताया कि चिकित्सा विभाग की ओर 11 जुलाई विश्व जनसंख्या दिवस के रूप में मनाते हुए परिवार कल्याण से संबंधित विभिन्न जागरूकता गतिविधियों के आयोजन के साथ हीं चिकित्सा संस्थानों पर नियत सेवा दिवस (एफडीएस) लगाये जायेगें। इस दौरान महिला एवं पुरुषों की नसबंदी की जाएगी। इस अवसर पर चिकित्सा विभाग की ओर से जिले व ब्लॉक स्तर के समस्त चिकित्सा सस्थानों में 11 से 24 जुलाई, 2019 की अवधि में योग्य दम्पतियों में सीमित परिवार व बच्चों में अन्तराल रखने के प्रति जनजागृति पैदा करने के लिए परिवार नियोजन से निभाऐं जिम्मेदारी, माँ और बच्चे के स्वास्थ्य की पूरी तैयारी ’थीम पर आधारित‘ जनसंख्या स्थिरता पखवाडे (परिवार विकास मेला) का आयोजन किया जायेगा।
अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (प.क.) डॉ. मुस्ताक खान ने बताया कि विश्व जनसंख्या दिवस 11 जुलाई के मौके पर प्रातः 8:15 बजे मुखर्जी पार्क से जनसमुदाय में जागरूकता लाने हेतु जागरूकता रैली का आयोजन किया जायेगा। पखवाडे के दौरान लगाये जाने वाले नियत सेवा दिवस शिविरों के सफल व गुणवत्तापूर्ण आयोजन के लिए विभाग ने अधिकारियों-कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई है एवं पाबंद किया है कि किसी भी तरह की लापरवाही पर संबंधित के खिलाफ कार्रवाई होगी। शिविरों की गुणवता जांचने के लिए गुणवता आश्वासन इकाई की जिला स्तरीय टीमें शिविरों का निरीक्षण करेंगी। उन्होंने बताया कि पखवाडे के दौरान स्थानीय जनप्रतिनिधियों की भागीदारी सुनिश्चित कर जिला एवं ब्लाॅक स्तर पर परिवार विकास मेलों का आयोजन किया जायेगा। द्वितीय चरण में गुरूवार को चिकित्सा संस्थानों पर मनाऐं जाने वाले जनसंख्या स्थिरता पखवाडे के दौरान महात्मा गांधी जिला चिकित्सालय में परिवार कल्याण सेवाओं संबंधी आईईसी प्रदर्शनी की स्टॉल लगाकर परिवार नियोजन के महत्व को समझाया जायेगा साथ हीं परिवार कल्याण सेवाओं का वितरण भी किया जायेगा। उन्होंने बताया कि प्रथम चरण में 27 जून से 10 जुलाई तक जिले में परिवार कल्याण हेतु मोबिलाईजेशन पखवाडा (दम्पति सम्पर्क पखवाडा) मनाया गया इसके तहत गांव-गांव व ढाणी-ढाणी जाकर स्वास्थ्यकार्मिकों व आशाओं ने योग्य दम्पतियों को परिवार कल्याण के संदेश को प्रसारित कर परिवार कल्याण के महत्व को बताया।
  • Powered by / Sponsored by :